दुनिया रोहिंग्या मामले पर बोली आंग सान सू, हम अंतरराष्ट्रीय समुदाय की आलोचनाओं से डरने वाले नहीं

रोहिंग्या मामले पर बोली आंग सान सू, हम अंतरराष्ट्रीय समुदाय की आलोचनाओं से डरने वाले नहीं

म्यांमार की स्टेट काउंसलर आंग सान सू की ने रोहिंग्या मामले पर दुनिया भर में हो रही आलोचनाओं का कड़ा जवाब देते हुए कहा कि रोहिंग्या आतंकी हमलों में शामिल है 


By Cobrapost.com - September 19, 2017

क्या आपको ये रिपोर्ट पसंद आई? हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें.

म्यांमार की स्टेट काउंसलर आंग सान सू की ने रोहिंग्या मामले पर दुनिया भर में हो रही आलोचनाओं का कड़ा जवाब देते हुए कहा कि रोहिंग्या आतंकी हमलों में शामिल है और उन्होंने म्यांमार में हमले भी कराए है। सू की ने कहा कि म्यामांर ने रोहिंग्या लोगों को संरक्षण दिया लेकिन नतीजा क्या निकला। हम आलोचनाओं से डरने वाले नहीं। सू की ने कहा कि जो लोग म्यांमार में वापस आना चाहते है, हम उनके लिए रिफ्यूजी वेरिफिकेशन की प्रक्रिया शुरू करेंगे।

रखाइन इलाके में सिर्फ मुसलमान नहीं रहते वहां बौद्धों पर हमले कराए गए। सूकी ने कहा कि हमारे सुरक्षाबल हर हालात और आतंकी खतरे से निपटने में सक्षम है। सू की ने कहा कि रोहिंग्या ने म्यांमार में हमले कराए है। जो लोग पलायन कर रहे है हम उनसे बात करना चाहते है। उन्होंने कहा कि म्यामांर की सामाजिक स्थिति काफी जटिल है। हम जल्द ही हर तरह की समस्या का सामना करेंगे। सरकार शांति की ओर बढ़ने के लिए हरसंभव कदम उठा रही है।

आंग सान सू की बोलीं कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय की आलोचनाओं से हम डरने वाले नहीं। मैं याद दिलाना चाहूंगी कि हमारी सरकार सिर्फ 18 महीने से सत्ता में है। हम शांति की कोशिशें कर रहे है। हम मानवाधिकार उल्लंघन की निंदा करते है। रखाइन स्टेट में शांति स्थापना के लिए हम हरसंभव कदम उठाएंगे। लेकिन आतंक की गतिविधियों से हम सख्ती के साथ निपटेंगे।

 सू की ने कहा कि हमने रखाइन स्टेट में शांति स्थापित करने के लिए एक केंद्रीय कमेटी बनाई है। इस कमीशन की अगुवाई करने के लिए हमने डॉ. कोफी अन्नान को आमंत्रित किया है। हम इस क्षेत्र में शांति और विकास के लिए काम करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि रोहिंग्या के मुद्दे पर हमारे ऊपर कई तरह के आरोप लगाए गए है, हम सभी आरोपों को सुनेंगे। सू की ने कहा कि जो भी दोषी होगा उसे सजा जरूर दी जाएगी।


क्या आपको ये रिपोर्ट पसंद आई? हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें.

Tag : aung san suu,rohingya,myanmar,state counceler,,

Loading...

चर्चित खबरें

एक्सक्लूसिव