MCD द्वारा पैसों की बर्बादी, जहां जरूरत नहीं वहां बन रही हैं नालियां
राज्य

MCD द्वारा पैसों की बर्बादी, जहां जरूरत नहीं वहां बन रही हैं नालियां

|
July 19, 2019

दिल्ली के सिद्धार्थ एक्सटेंशन में डीडीए कॉलोनी की नालियों को बेवजह तोड़कर दोबारा बनाया जा रहा है। जिसकी वजह से लोग परेशान हैं। जनता के पैसों की बर्बादी का आलम ये है कि जहां जरूरत नहीं वहां नालियां बनाई जा रही हैं।



जैसा की डीडीए द्वारा बनाये गई सिद्धार्थ एक्सटेंशन की कॉलोनियों में इन दिनों जोर शोर से नालियों को बनाने का काम चल रहा है। वहां की कालौनी वालों का कहना है कि हम सभी कालौनी वाले इनसे बहुत परेशान हैं क्योंकि ये सब सही नालियों को खामाखा तोड़कर फिर उन्हें बनाने का काम कर रहे हैं। वहां के लोंगो ने आरोप लगाया कि एमसीडी चुनाव से पहले बिना वजह वहां की सारी नालियों को तोड़ दिया। फिर उसके डेढ़ दो महीने बाद कार्य जैसे तैसे शुरू हुआ तो उसमें भी एक रसूकदार परिवार के कहने पर नालियों का रुख मोड़ दिया गया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक वहां के लोग इसलिए नाराज हैं क्योंकि नालियों को बनाने के लिए सभी घरों के बाहर बने रैंप तोड़े जा रहे हैं। ऐसे ंमें लोगों ने नालीयों के ऊपर अतिक्रमण कर रैंप बना दिये गये हैं। डीडीए कालौनी के लोग नाराज इसलिए हैं। क्योंकि वहां एक ऐसा घर है जिनपर कानून लागू नहीं होता। कालौनी के लोगों का कहना है कि यहां एक सिविल इंजीनियर साहब का मकान है। जिनके एमसीडी में रसूक के चलते उनके घर के रैंप को कोई नुकसान न पहुंचे इसलिए उनके घर से 4 फीट दुर से घुमाकर निकाला गया है। जिससे कालोनी के लोंगो ने कहा कि नाली के बहाव के चलते पानी वहां रुक सकता है। और बरसात में हम सबको दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।


If you like the story and if you wish more such stories, support our effort Make a donation.




Loading...

If you believe investigative journalism is essential to making democracy functional and accountable support us. »