Wednesday 20th of November 2019
कोबरापोस्ट का खुलासा:  ऑपरेशन कराओके
एक्सक्लूसिव

कोबरापोस्ट का खुलासा: ऑपरेशन कराओके

असित दीक्षित और उमेश पाटिल |
February 19, 2019

कोबरापोस्ट की खोजी पड़ताल में बॉलीवुड मनोरंजन जगत की तीन दर्जन नामचीन हस्तियों को बेनकाब किया है। पैसों के लिए राजनीतिक दलों का सोश्ल मीडिया पर प्रचार करने के लिए ये हस्तियाँ रजामंदी थी। देश के नामी गिरामी गायक, कमेडियन और अभिनेता इन हस्तियों में शामिल है।



नई दिल्ली (19 फ़रवरी 2019): जरा सोचिए, आप किसी बॉलीवुड स्टार के ज़बरदस्त फैन हैं। फेसबुक, ट्विटर और इन्स्टाग्राम के जरिये उससे जुड़कर आप यह जानना चाहते हैं वो स्टार क्या कह रहा है, किसी मुद्दे पर उसकी क्या राय है।

अब सोचिए, आपका वो चहेता स्टार गुपचुप पैसे लेकर किसी पार्टी के अजेंडे को आगे बढ़ा रहा हो तो क्या हो। ऑपरेशन कराओके आज आपको यही दिखाने जा रहा है किस तरह मनोरंजन जगत के नामी-गिरामी सेलिब्रिटीज पैसे लेकर किसी भी राजनीतिक दल का प्रचार सोशल मीडिया पर कर सकते हैं।

पैसे के लिए सोश्ल मीडिया पर किसी भी पार्टी का प्रचार करने के लिए तैयार जरा इन सेलिब्रिटीज के नामों पर गौर तो कीजिये। ये हैं प्लेबैक सिंगर अभिजीत भट्टाचार्य, कैलाश खेर, मीका सिंह, बाबा सहगल, अभिनेता जैकी श्रॉफ, शक्ति कपूर, विवेक ओबेरॉय, सोनू सूद, अमीषा पटेल, महिमा चौधरी, श्रेयस तलपड़े, पुनीत इस्सर, सुरेंद्र पाल, पंकज धीर और उनके पुत्र निकितिन धीर, टिस्का चोपड़ा, दीपशिखा नागपाल, अखिलेन्द्र मिश्रा, रोहित रॉय, राहुल भट, सलीम ज़ैदी, राखी सावंत, अमन वर्मा, हितेन तेजवानी और उनकी पत्नी गौरी प्रधान, एवलीन शर्मा, मिनिषा लाम्बा, कोइना मित्रा, पूनम पांडेय, सनी लेओने, कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव, सुनील पाल, राजपाल यादव, उपासना सिंह, कृष्णा अभिषेक, विजय ईश्वरलाल पवार यानि वीआईपी, कोरियोग्राफर गणेश आचार्य और डांसर-एक्टर संभावना सेठ।

कोबरापोस्ट के रिपोर्टर असित दीक्षित और उमेश पाटिल ने एक छद्म पीआर एजेंसी के प्रतिनिधि बनकर इन सेलिब्रिटीज से मुलाक़ात की। इस मुलाक़ात में कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने  अपना अजेंडा बताया: आपको अपने फेसबुक, ट्विटर और इन्स्टाग्राम अकाउंट के जरिये एक राजनीतिक पार्टी को प्रोमोट करना है ताकि आने वाले 2019 के चुनावों से पहले पार्टी के लिए माकूल माहौल तैयार हो सके। हम आपको हर महीने अलग-अलग मुद्दों पर कंटैंट यानि सामाग्री देंगे, जिसे आप अपने शब्दों और शैली में लिखकर अपने फेसबुक, ट्विटर और इन्स्टाग्राम अकाउंट से पोस्ट करेंगे। आपके और हमारे बीच आठ-नौ महीने का एक दिखावटी करार होगा। यही नहीं जब पार्टी किसी मुद्दे पर घिर जाए तो आपको ऐसे मौकों पर पार्टी का बचाव भी करना होगा। इस स्टोरी में कई महीने का समय लगा है इस कारण वीडियो प्रॉडक्शन में सेलेब्रिटीज की सोश्ल मीडिया में लोकप्रियता के आंकड़े पुराने है। लेकिन वैबसाइट पर प्रिंट स्टोरी में हमने 11 फ़रवरी 2019 तक के अपडेट आंकड़े दिए है।     

आप यही सोच रहे होंगे कि ऐसा सुनकर इन नामी-गिरामी कलाकारों ने हमें बाहर का रास्ता दिखा दिया होगा। आप ही की तरह हमें भी उतनी ही हैरानी हुई जब इन सेलिब्रिटीज ने हमारी सारी शर्तें मान ली। चाहे वो भारतीय जनता पार्टी हो, काँग्रेस हो या आम आदमी पार्टी हो, इन्हें किसी भी पार्टी के लिए सोश्ल मीडिया पर प्रॉक्सि-प्रमोशन यानि छद्म-प्रचार करने से कोई गुरेज नहीं था, बशर्ते उन्हें मनमाफ़िक पैसा मिल जाये। सो किसी ने एक महीने में एक मैसेज के लिए दो लाख तो किसी ने ढाई करोड़ रुपये मांगे, यानि आठ महीने के कांट्रैक्ट के लिए 20 करोड़ रुपये। एक-दो कलाकारों को छोड़ सभी सेलिब्रिटीज को अपनी फीस का एक बड़ा हिस्सा कैश में लेने से कोई गुरेज नहीं था। दूसरे शब्दों में उन्हें काले धन से कोई आपत्ति नहीं थी। हैरत की बात ये है कि इनमें से कुछ कलाकारों ने नोटबन्दी की जमकर तारीफ की थी जिसका उद्देश्य काले धन पर लगाम लगाना था।

कुछ कलाकरों को अपने सोश्ल मीडिया अकाउंट से कॉंग्रेस के नेता राहुल गांधी की खिल्ली उड़ाने से भी कोई ऐतराज नहीं था। कोबरापोस्ट ने इन celebrities को ईमेल के जरिए कुछ प्रश्न भी भेजे थे ताकि हम उनका पक्ष जान सके। नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करके आप इनका जवाब पढ़ सकते है। जैसे जैसे हमें अन्य celebrities से उनके जवाब मिल जाएंगे हम उन्हें भी यहाँ पोस्ट कर देंगे। 

Reply of Bollywood Celebrities     

इस तहक़ीक़ात के दौरान कोबरापोस्ट की टीम ने दर्जनों सेलिब्रिटीज से मुलाक़ात की। हम उन तक कुछ दलालों के जरिये पहुंचे जिन्हें मनोरंजन उद्योग की ज़ुबान में कोऑर्डिनेटर कहा जाता है। कुछ मामलों में हमें इन कलाकारों ने भी मदद की। जैसे महाभारत में गुरु द्रोण का किरदार निभाने वाले सुरेन्द्र पाल ने हमें दुर्योधन पुनीत इस्सर से मिलवाया, पंकज धीर ने अपने पुत्र को हमारे इस सोश्ल मीडिया कैम्पेन से जुडने को कहा, तो वहीं हितेन तेजवानी ने अपनी पत्नी गौरी प्रधान से हमारी मुलाक़ात कारवाई।

मगर इस सबके बीच चंद ऐसे लोग भी थे जिन्होने हमारे अजेंडे पर काम करने से इन्कार कर दिया। ये कलाकार हैं विद्या बालन, अरशद वारसी, रज़ा मुराद और सौम्या टंडन।   

आप देख रहें हैं कोबरापोस्ट का खुलासा ऑपरेशन कराओके।

अभिजीत भट्टाचार्य, बॉलीवुड गायक 

अपनी तहकीकात के दौरान हमारे reporters की मुलाकात हुई मशहूर bollywood singer अभिजीत भट्टाचार्य से। अभिजीत अपने बयानों को लेकर अक्सर विवादों में घिरे रहते हैं। ये इनके बड़बोलेपन का ही असर है कि इनका official twitter account तक बंद कर दिया गया। हालांकि जब हमारे रिपोर्टर ने इन्हें बताया कि वो digital promotion के लिए इनके पास आए हैं तो इन्होंने बताया कि वो एक और twitter account पर active हैं लेकिन उस पर इनके ज्यादा followers नहीं हैं। अभिजीत के फ़ेसबुक पर लगभग 21.27 लाख followers और इंस्टाग्राम पर लगभग 30000 followers है। 

कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने अभिजीत को बताया कि वो बीजेपी की तरफ से digital promotion का काम कर रहे हैं और वो चाहते हैं कि आप उनकी मदद करें। ये सुनते ही अभिजीत झट से अपने social media account के जरिए बीजेपी की नीतियों का बखान करने के लिए तैयार हो गए। यहां तक कि अभिजीत ने हमारे रिपोर्टर्स को इस बारे में कई ideas भी दिए। अभिजीत ने कहा, “अभी जैसे ये तीन तलाक़ वाला है न तीन तलाक वाला तो उसको पॉज़िटिव करना है कि मुस्लिम मर्द तो मर्द ही होते है उनका काम ही है मुस्लिम मर्द की तरह इन औरतों को... औरतों को इज्जत दीजिए वो आपकी माँ है वो आपकी बहन है वो आपकी बेटी है वो आपकी सास है तो मोदी जी ने औरतों पर ज्यादा ध्यान दिया है”।   

इस काम को वो कैसे करेंगे ये बताते हुए अभिजीत कहते है, “हूं natural लगे ने कहीं खड़े traffic में गाड़ी के अंदर बैठ के बोल दिया चाय पे रहे हैं coffee shop पे बोल दिया तो वो...हाँ नैचुरल”।       

बातों ही बातों में अभिजीत ने रिपोर्टर को ये भी बताया कि कैसे वो सोशल मीडिया के जरिए इस काम को अंजाम देंगे ताकि audience को लगे कि ये अभिजीत के अपने views हैं।  अभिजीत न सिर्फ बीजेपी के पक्ष में अपने सोश्ल मीडिया अकाउंट से प्रचार करने के लिए तैयार थे बल्कि बीजेपी विरोधियों के खिलाफ भी आग उगलने को पूरी तरह तैयार दिखे। अभिजीत बोले “ हाँ हाँ बीप बजा के... हाँ बिल्कुल करूंगा और कोई है ही नहीं करने वाला मैं ही करूंगा”।  

अभिजीत अपने सोशल मीडिया अकाउंट से बीजेपी के पक्ष में tweets और messages करने को तैयार थे लेकिन कुछ शर्तों के साथ। आगे अभिजीत हमारे रिपोर्टर से कहते हैं कि “मैं किसके साथ काम करू debate में मैं कभी नहीं जाता मैं ऐसा create करूंगा लोग उसपे debate करेंगे”

हालांकि अभिजीत political figure नहीं है, लेकिन एक singer होने के बावजूद उन्हें देश की राजनीति में खासी दिलचस्पी है, मुद्दा चाहे रोहिंग्या मुस्लिम का हो या फिर GST का अभिजीत हर मुद्दे को बीजेपी सरकार के पक्ष में घुमाने को तैयार दिखे।

जो शर्तें कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने अभिजीत के सामने रखी थीं उनसे भी कहीं ज्यादा आगे बढ़कर अभिजीत काम करने को तैयार थे। लेकिन वो खुद भी जानते थे कि उनका बड़बोलापन उन पर भारी पड़ सकता है, इसलिए उन्होंने कहा कि “हां लेकिन कुछ वो होगा तो party के लोग साथ में खड़े है न”।  

सब कुछ तय हो जाने के बाद रिपोर्टर ने पैसे और mode of payment को लेकर अभिजीत के मैनेजर नितिन से बातचीत की। नितिन ने कहा कि फीस 10 लाख रुपए प्रति पोस्ट होनी चाहिए और महीने में कम से कम 6 पोस्ट यानि कम से कम 60 लाख रुपए महीना। इस तरह डील 60 लाख रुपए महिना पर तय हो गई। हमारे रिपोर्टर ने कहा कि इस तय फीस में से सिर्फ 6 लाख रुपए ही व्हाइट में मिलेंगे बाकी सब कैश में एडवांस मिलेगा हर महीने। इसके लिए नितिन तैयार हो गए।

अभिजीत भट्टाचार्य से बातचीत के दौरान ये साफ हो गया कि वो राजनीति में काफी दिलचस्पी लेते हैं। पहले भी वो अपनी बयानबाजी को लेकर चर्चाओं में रह चुके हैं और अगर इसी बयानबाजी के लिए कोई उन्हें मोटी रकम दे तो वो जानबूझ कर किसी भी हद तक जाने को तैयार हैं।

जैकी श्रॉफ, बॉलीवुड एक्टर 

अपनी तहक़ीक़ात का दायरा बढ़ाते हुए हमारे reporters मुंबई में एक्टर जैकी श्रॉफ से मिलते हैं। जैकी ने सारी बातें जानने के बाद इस काम को करने में अपनी सहमति जताई और कहा, “समझ गया मैं आपकी बात... तो उनकी बातें, इंस्टाग्राम पे बात, Youtube पे... जैकी की बातों को सुनकर साफ लग रहा था कि उन्हें ऐसा करने से कोई परहेज नहीं है। जैकी श्राफ के फैन फालोविंग सोश्ल मीडिया पर काफी अच्छी है जहां ट्वीटर मे उन्हे 2.25 लाख से अधिक लोग फालों करते हैं वहीं फेसबूक मे उन्हे लगभग 3 लाख 50 हज़ार लोग फालों करते हैं बात इंस्टाग्राम की करे तो उसमे भी करीब 3.27 लाख लोग जैकी को फालों करते हैं। 

हमारे रिपोर्टर ने कहा कि ये काम बड़ी गोपनियता से करना है तो जैकी बोले, “वो गेम होता है अपना अपना यार... अपने को क्या है अपना काम है हम अच्छी बातें हम फैला रहे है साथ में धन भी दे रहे है तो ऊपर वाले से फ़क़ीर क्या मांगता है”।     

कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने आगे जब जैकी से पूछा की उन्हें सब क्लियर है तो जैकी ने कहा, “I understand whole thing, वो मेरे भेजे में बैठ गया है और मुझे ये फिकर नहीं है कि चौदह जन और है तो अगर ये नहीं तो तू सही तू नहीं तो कोई और सही खेल रहे है... कोई ना कोई तो खेल रहा है उस बात को”।   

जैकी से मिलने के बाद हमारे रिपोर्टर उनके सहयोगी शेट्टी के साथ बाहर आए और फिर शेट्टी से लेन देने की बात हुई। हालांकि कितना पैसा दिया जाना है ये साफ नहीं था लेकिन रकम को कैसे देना है ये साफ हो गया था। शेट्टी ने कहा 80 परसेंट कैश चल जाएगा। शेट्टी बोले, “कम से कम 20 परसेंट अकाउंट में शो करना पड़ेगा 20 परसेंट... हाँ 20 परसेंट आना पड़ेगा... क्योंकि कल अगर कुछ हुआ... 20 परसेंट आपको अकाउंट में शो करना पड़ेगा जीएसटी के साथ”।       

 

शक्ति कपूर, बॉलीवुड एक्टर

कोबरापोस्ट रिपोर्टर मुंबई में एक पीआर एजेंसी के कर्मचारी बनकर मशहूर अभिनेता शक्ति कपूर से मिलते हैं और उनसे गोपनीय तरीके से बीजेपी के लिए सोश्ल मीडिया पर प्रचार करने की बात करते है। जिसे सुनने के बाद शक्ति कहते है, “ मेरे हाथ में तो सारे रेडियो स्टेशन भी है”। आपको बता दे कि शक्ति कपूर के ट्विटर पर 1200 फॉलोअर, फ़ेसबुक पर लगभग 1300 और इंस्टाग्राम पर करीब 62 हज़ार फॉलोअर है।

जब हमारे रिपोर्टर ने पूछा कि इस डील में उन्हें कोई कन्फ़्यूशन तो नहीं है तो शक्ति बोले, “ कोई कन्फ़्यूशन नहीं है मैं तो वैसे भी जब ये इलैक्शन में मोदी साहिब खड़े हुए थे.. हाँ अभी एक ही बारी तो खड़े हुए... हाँ हाँ तो मैं इनका स्टार प्रचारक था उत्तराखंड का... तो मैं और मोदी जी ने एक ही मंच पे भाषण भी दिया”।    

जब रिपोर्टर ने शक्ति कपूर से कहा कि पॉलिटिकल फ़ंड होने की वजह से सारा पेमेंट व्हाइट में करने में दिक्कत होगी तो शक्ति ने फौरन कहा, “नंबर वन में डालो मत”। पैसे की बात पर शक्ति कहते है, “आप बताओ ना मैंने तो बोला 9 करोड़ एक करोड़ पर महीना नहीं नहीं आप बोला ना सामने से अपने ट्विटर का बात किया फ़ेसबुक का बात किया और इंस्टाग्राम का”।   

इस डील की गोपनियता के बारे में जब हमने शक्ति कपूर को कहा तो वो बोले, “सर मेरे को आप समझ रहे है..सर इसके अंदर मेरी भी मौत हो सकती है सर आप नहीं समझ रहे हैं मैंने पॉलिटिक्स के बहुत नजदीक रह चुका हूँ”। शक्ति कपूर की बातों से ये तो साफ था कि चुनाव के दौरान वो ऐसे काम करते रहे हैं और इस काम के हर पहलू से वो अच्छी तरह से वाकिफ हैं।

 

सनी लियोन, मॉडल एवं बॉलीवुड एक्टर  

करनजीत कौर उर्फ सनी लियोन ने कम समय में बॉलीवुड में एक बड़ा मुकाम हासिल किया। चंद वर्षों में इन्होंने कई बड़े बैनर की फिल्मों में मशहूर फिल्म निर्माताओं के साथ काम किया और जनता के बीच लोकप्रियता समेटने में कामयाब रहीं। आज सनी लियोनी की सोशल मीडिया में अच्छी खासी Fan following है। ट्विटर पर सनी को 39 लाख से ज्यादा लोग follow करते हैं वहीं इंस्टाग्राम पर इनके करीब 1.8 करोड़ followers हैं। फ़ेसबुक पर भी सनी के करीब 23.48 लाख followers है। हमारे रिपोर्टर की मुलाक़ात सनी से उनके मुंबई स्थित ऑफिस में हुई जहां उनके पति Daniel Weber के अलावा मैनेजर भी मौजूद थे। रिपोर्टर ने फोन पर ही पहले मैनेजर को मीटिंग के बारे में सब brief कर दिया था।

सनी लियोन के साथ मौजूद उनके पति डेनियल ने हमसे बताचीत में पूछा कि क्या आप कोई ऐसा-वैसा काम करने के लिए तो नहीं कह रहे, क्योंकि सनी कुछ भी ऐसा नहीं करेंगी जिससे controversy create हो। हमने डेनियल को बताया कि सनी को सिर्फ सरकार का प्रचार करना है, जो अच्छे काम सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान किए हैं उन्हें अपने personal social media account से post और tweets के जरिए लोगों तक पहुंचाना है। पैसों की बात डेनियल ने मैनेजर पर डाल दी। बात 75 लाख रुपए महिना पर तय हुई। इस रकम में कितना हिस्सा वो कैश में ले सकते है इस पर मैनेजर ने कहा, “More it better…”। बात आगे बढ़ते हुए डेनियल ने कहा, “Yeah, that’s fine … It doesn’t matter.”  रिपोर्टर ने इन्हे बताया कि फीस का 10 परसेंट ही उनको cheque या RTGS से मिलेगा और पार्टियों के बीच में कांट्रैक्ट होगा।   

इसके बाद हमारे रिपोर्टर की बातचीत सनी लियोन से होती है। रिपोर्टर फिर दोहराते है कि वो बीजेपी के लिए आने वाले 2019 के चुनावों के लिए आया है तो सांय कहती है, “हाँ डेनियल ने बताया था”। सनी आगे कहती है, “हाँ जी हाँ जी”। रिपोर्टर ने जब सनी से बिना पार्टी या नेता का नाम लिए महिलाओं से जुड़े मुद्दों पर लिखना है तो वो बोली, “Obviously हम वो चीज से मानते है क्योंकि हमारी बेटी है”। जब रिपोर्टर ने सनी से पूछा की आपको मालूम है कि ये एक hidden अजेंडा है तो उन्होने कहा, “हाँ”। सनी ने आगे कहा, “मोदी सर ने डैनियल को overseas citizen बनाया तो हम जरूर support करेंगे...”। सनी को ये बखूबी मालूम हो गया था कि हम उनके personal social media account का इस्तेमाल पॉलिटिल पार्टी को प्रमोट करने के लिए कर रहे हैं, बावजूद इसके उन्हें इस काम में कोई आपत्ति नहीं थी।        

 

कैलाश खेर, बॉलीवुड सूफी गायक  

पदमश्री अवार्ड से सम्मानित कैलाश खेर को देश का बच्चा बच्चा पहचानता है अपने सूफीयाना अंदाज़ के गानो से इन्होने देश के करोड़ों लोगो का दिल जीत लिया। कैलाश खेर को ट्विटर मे पाँच लाख से अधिक फेसबूक मे 42 लाख से ज्यादा और इंस्टाग्राम मे करीब 2.9 लाख लोग फालों करते हैं। अपनी तहकीकात के दौरान रिपोर्टर ने इनसे भी संपर्क साधा। बातचीत के शुरुआत मे ही हमने इनको अपने मिलने का उद्देश्य बता दिया कि इन्हे बड़े ही गोपनीय तरीके से अपने सोश्ल मीडिया accounts के जरिए बीजेपी के पक्ष में माहौल बनाना है। जिसे सुनने के बाद कैलाश खेर पूछते है, “इसका क्या कमर्शियल रहेगा”।

बातचीत में आगे कैलाश खेर कहते है, “हम ये काम कर पाएंगे”। पैसे की बातचीत अपनी एजेंसी पर डालते हुए कैलाश बोलते है, “Correct, commercial part agency करेगी बाकी हम जो है acceptance दे देंगे”। आगे हमारे रिपोर्टर कैलाश खेर से पूछते है कि उन्हे इस काम में कोई परेशानी तो नहीं है तो कैलाश जवाब देते है, “नहीं नहीं ज़िंदगी में नहीं”। पब्लिक में दिखने के लिए neutral रहने के सवाल पर कैलाश बोलते है, “100% तभी होता है उसका असर ही तभी होता है। हमें neutral रहना होगा”। पेमेंट का कुछ हिस्सा कैश में लेने की बात को कैलाश अपनी एजेंसीस पर डालते हुए कहते है, “वो आप उनसे बात कीजिए”।  

 

मीका सिंह, बॉलीवुड गायक

मशहूर पंजाबी सिंगर दलेर मेहंदी के छोटे भाई और आज बॉलीवुड के नामी प्लेबैक सिंगर और composer बन चुके मीका सिंह से भी कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने मुलाक़ात की। मिका को ट्विटर पर 40 लाख से ज्यादा लोग follow करते हैं वहीं इंस्टाग्राम पर इनके करीब 10.7 लाख followers हैं। फ़ेसबुक पर भी मिका के 50 लाख से ज्यादा followers है। मीका से हमारी मुलाक़ात का जरिया बने उनके मैनेजर कंवलजीत। कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने कंवलजीत को अजेंडा के बारे में बताया जिसके बाद कंवलजीत ने 5 लाख प्रति मैसेज की मांग रखी जिसे रिपोर्टर ने मान लिया। इसके बाद कंवलजीत ने रिपोर्टर की मुलाक़ात मीका सिंह से कराई। कंवलजीत मीका सिंह को पहले ही brief कर चुके थे।

रिपोर्टर ने जब मीका सिंह से पूछा कि उन्हे कोई confusion तो नहीं है तो वो बोले, “नहीं अच्छी वाली करनी है repo बनानी है मतलब”। अप्रत्यक्ष रूप से बीजेपी सरकार द्वारा किए गए काम की तारीफ करने की बात पर मीका कहते है, “हां जैसे बेटी बचाओ हो गया”। बातचीत में मीका कहते है, “मैं चाहता हूँ कि आप उसके content मुझे भेज दो मैं उसको हल्का फुल्का edit कर दूँगा”। मीका आगे ये भी कहते है कि वो दो चार और सेलेब्रिटी से भी हमारे लिए बात कर सकते है। बक़ौल मीका, “हमने कुछ बोला था कंवल जी को भी कि इसके अलावा किसी और को भी चाहिए तो मैं 2-4 लोगों से बात कर लूँगा”।

रिपोर्टर द्वारा पेमेंट का सिर्फ 10 प्रतिशत हिस्सा कैश में देने का भी मीका ने विरोध नहीं किया और बोले, “कोई tension नहीं है”।

 

 

विवेक ओबेराय, बॉलीवुड एक्टर  

मनोरंजन जगत से जुड़े लोग कैसे पैसे लेकर अपने सोश्ल मीडिया अकाउंट के जरिए अपने फैंस और फालोवर के बीच पहले से निश्चित संदेश भेजते हैं इस पर हमारी तहकीकात जारी थी। इस तहकीकात मे हमारी अगली मुलाक़ात होती है बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता विवेक ओबेराय से जिन्होने कई फिल्मों में दमदार भूमिकाए निभाई है। सोश्ल मीडिया मे विवेक की फैन फालोइंग जबर्दस्त है सिर्फ ट्विटर मे ही बीस लाख से अधिक लोग इन्हे फालों करते हैं वहीं इंसटाग्राम पर करीब चार लाख और फेसबूक पर करीब 99 हज़ार लोग इन्हे फालों करते हैं। विवेक से हमारी मुलाक़ात मुंबई मे एक शूटिंग के दौरान हुई। रिपोर्टर ने उनसे अपने एजेंडे की बात की जिसको लेकर उन्हे कोई ऐतराज नहीं था बल्कि वो तो इसको और प्रभावी रूप से चलाने के लिए हमे सलाह भी दे रहे थे। विवेक ने कहा, “उन्होंने बताया मुझे मैंने कहा बिल्कुल ठीक तो कोई दिक्कत तो है नहीं आप formalities conclude कर लो उसके बाद जैसे आप बताएंगे वैसा करेंगे...”।

बातचीत में विवेक ओबेरॉय ने पूछा कि आप कंटैंट तो देंगे ने? जिसका जवाब रिपोर्टर ने हाँ में दिया। इसके बाद विवेक ने सलाह देते हुए कहा, “फिर data के हिसाब से हम लिख सकते हैं.... ऐसा लगना नहीं चाहिए की हमें बोला गया है लिखने के लिए...”।

विवेक ओबेरॉय डील जल्दी करना चाहते थे। विवेक कहते है, “तो मैं ये बोल रहा था कि जाने से पहले आप ये formalities कर दो... ताकि फिर हम 1st September से करें क्योंकि इसके बाद हम जांएगे केरला, केरला से हम जाएंगे Azerbaijan. ट्वीट तो हम कहीं से भी करेंगे but अगर ये formalities close हो जाती हैं तो हमको भी एक understanding भी हो जाती है एक आप बात कर लेना सारी और बाकी हमको एक वो भी दे दें कि ये मुद्दे हैं...  तो ये मुद्दे ये facts and figure तो एक docket बना के दें दे तो फिर मैं आप और social media team हमारी मिल के इसका phase out plan करेंगे कि भाई आज ये topic कर रहे हैं ये topic कर रहे हैं, ये topic कर रहे हैं और हर हफ्ते का topic… महीने का mail कर देंगे chunk…. भाई ये महीने में week 1,2, 3,4 में इन मुद्दों को उठाएंगे.... हम ये बात करेंगे...”।

फीस की बात करने पर विवेक ओबेरॉय कहते है कि इसके बारे में उनके मैनेजर केदार बताएँगे। केदार से बातचीत में 80 लाख रुपए महिना पर डील तय होती है जिसका 15 प्रतिशत यानि 12 लाख रुपया महीना ही agreement में दिखाया जाएगा और बाकी 68 लाख रुपए कैश में हर महीने एडवांस दिया जाएगा।

 

सोनू सूद, बॉलीवुड एक्टर 

दबंग, जोधा अक्बर और सिंग इज़ किंग जैसी सुपरहिट फिल्मों में अपने अभिनय का लोहा मनवाने वाले सोनू सूद बॉलीवुड इंडस्ट्री का जाना-माना नाम हैं। social media पर सोनू के चाहनेवाले भी कम नहीं है। ट्विटर पर 11 लाख, फ़ेसबुक पर करीब 25 लाख और इंस्टाग्राम पर सोनू के 20 लाख से ज्यादा फॉलोअर्स हैं। कोबरापोस्ट रिपोर्टर जानना चाहते थे कि बाकी celebrities की तरह क्या सोनू सूद भी पैसों के लिए अपने सोशल मीडिया अकाउंट से किसी खास political party के favor में tweet, post और messages कर सकते हैं। इस सवाल के साथ हमारे रिपोर्टर्स ने सोनू सूद से मुंबई स्थित उनके घर पर मुलाकात की और उन्हें अपने एजेंडे के बारे में बताया। 

कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने सोनू सूद को बताया कि उन्हें अपने social media accounts से बीजेपी के पक्ष में post और tweets करने हैं। इतना कहते ही सोनू हमारी मंशा समझ गए और उन्होंने उल्टा हमारे रिपोर्टर को ये समझाना शुरू कर दिया कि इस काम को कैसे smartly किया जाएगा। साथ ही सोनू ने हमें बताया कि वो कई ऐसे celebs को भी जानते हैं कि जो कांग्रेस के लिए ऐसे प्रचार कर रहे हैं। सोनू कहते है, “Basically the thing… now I am just giving an example for example I am the fit India ambassador तो मैं ये बोलूंगा कि ये खाओ fit रहो और exercise करो तो लोग कहेंगे कि हाँ यार fit रहना ज़रूरी है ये सही बोल रहा है। एक दो लोग हैं जो मुझे पता है कुछ कुछ Congress के लिए करते हैं। मेरे पहचान वाले लोग हैं वो बहुत under the belt हैं बहुत under the belt है। मुझे लगता है कि यार थोड़ा सा लगता है कि ये plug in किए हुए लोग हैं or they try to talk against BJP or some party or some… and if you smartly tell...good about or good work that is done somewhere”.

हर महीने 15 मैसेज के लिए 1.5 करोड़ की फीस पर सोनू सूद राजी नहीं थे और बोले, “देखो मेरा ऐसा मानना है कि हम ना मैं seriously करूंगा 5 भी हो सकते हैं मैं 7 भी हो सकते है my messages will be very very strong and nice मैं उसमें कोशिश करेंगे कि 5 नहीं बोले आज 4 ही करें हैं हाँ एक किसी ने और किया मैंने repeat करके उसका जवाब दे दिया for example ठीक है तो वो सब करेंगे मैं एक आध का but I feel कि जो अपन 1.5 cr सोच रहे हैं it should be at least 2.5”।

आगे बातचीत में डील 2.5 करोड़ रुपए महीना में तय हो जाती है। यानि 8 महीने के 20 करोड़ रुपए। पेमेंट का 80 प्रतिशत हिस्सा कैश में लेने की बात पर पहले तो सोनू एक दिन का वक़्त मांगते है लेकिन फिर आगे बातचीत में अपनी सहमति दे देते है।

सोनू सूद का पक्ष जानने के लिए कोबरापोस्ट ने ईमेल के जरिए कुछ प्रश्न भी भेजे थे। सोनू सूद ने ईमेल का जवाब देते हुए लिखा, “On your questions I would like to clarify we use our social media platforms as brand promotions and if someone approaches us we always follow the ethics and the genuineness of an individual.”

 

अमीषा पटेल, मॉडल एवं बॉलीवुड एक्टर 

कहो ना प्यार है और गदर जैसी सुपरहिट फिल्मों से करियर की शुरूआत करने वाली अमीषा पटेल का बॉलीवुड करियर हालांकि ज्यादा लंबा नहीं रहा, लेकिन बॉलीवुड इंडस्ट्री में जिस तरह से उनकी धमाकेदार एंट्री हुई थी, उसने उन्हें करोड़ों दिलों की धड़कन बना दिया था। अमीषा भले ही अब बॉलीवुड से दूर हो गई हों लेकिन आज भी इनके चाहने वाले कम नहीं हैं। ट्विटर पर करीब 30 लाख, फेसबुक पर करीब 48 हज़ार और इंस्टाग्राम पर 10 लाख से ज्यादा फॉलोअर्स के साथ अमीषा आज भी अपने फैंन के दिलों में जगह बनाए हुए हैं। अमीशा से मिलने के लिए हमारे रिपोर्टर्स मुंबई स्थित उनके ऑफिस पहुंचे। यहां पहले हमारी मुलाकात अमीशा के मैनेजर कुणाल से हुई। हमारे रिपोर्टर्स ने कुणाल को अपना एजेंडा समझाया और बताया कि अमीषा को अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए बीजेपी सरकार को सपोर्ट करना है।

5 लाख रुपए पर मैसेज के हिसाब से महीने के 45 लाख में कुनाल अमीषा की फीस फ़ाइनल करते है। इतना ही नहीं कुनाल दो महीने की फीस यानि 90 लाख रुपए की सिक्युरिटी भी चाहते है। फीस तय हो जाने के बाद कमरे में अमीषा पटेल की एंट्री होती है। हमारे रिपोर्टर्स संक्षेप में अमीषा को सारी बातें बताते हैं कि उन्हें कैसे किसी खास पार्टी के पक्ष में messages और post करने हैं। इस पर अमीषा कहती है, “Correct लेकिन काफी fans हैं जो उन good works को appreciate नहीं करते तो वो मुझे backlash मुझे सहना पड़ेगा”।

रिपोर्टर द्वारा अमीषा को ये कहने पर कि सोश्ल मीडिया पर अभी से कुछ न कुछ सोश्ल मीडिया पर डालना शुरू कर दे ताकि लोगो को ऐसा न लगे कि ये अचानक क्या शुरू हो गया। इस पर अमीषा कहती है, “एक बार हमलोग MOU sign करके कुछ हो जाएगा”। कुनाल बीच में टोकते हुए कहते है, “See एक बात बताता हूं आपका एक बार MOU sign हो गया नहीं नहीं एक बात आपके tweet के पहले ही दिन पहले आप के tweet के पहले तीन दिन पहले करेंगे”। इस पर अमीषा आगे कहती है, “हां हां वो हो जाएगा you don’t worry.” 

रिपोर्टर जब कहते है कि वो 28 अगस्त को एडवांस पेमेंट के साथ मुलाक़ात करेंगे तो अमीषा पटेल कहती है, “समझो आप 28 को आ रहे हो transaction हो जाता है 28 की शाम को मैं कर दूंगी ताकि first week of September में जब आपका पहला जाए तो वो पांच दिन का gap रहेगा तो वो”। इतना ही नहीं अमीषा आगे कहती है, “ताकि आप भी खुश रहें”।

 

श्रेयस तलपड़े, डाइरेक्टर एवं एक्टर  

बहुमुखी प्रतिभा के धनी श्रेयस तलपड़े आज किसी पहचान के मोहताज नहीं है। मराठी धारावाहिकों से अपने कैरियर की शुरुआत करने वाले श्रेयस ने बतौर कलाकार हिन्दी फिल्मों मे साल 2000 से शुरुआत की थी। लेकिन देशभर मे इन्हे पहचान मिली साल 2005 मे नागेश कुकुनूर द्वारा निर्देशित फिल्म इकबाल से जिसमे इन्होने एक गूंगे और बहरे क्रिकेट खिलाड़ी के रूप मे जबर्दस्त अदाकारी दिखाई जिसके लिए इन्हे उस साल का बेस्ट एक्टर का ज़ी सिने क्रिटिक अवार्ड भी मिला। उसके बाद इन्होने कई बड़ी फिल्मों मे काम किया जैसे ॐ शांति ॐ, गोलमाल सीरीज की फिल्मे, मराठी फिल्म पोस्टर बॉय के जरिए ये प्रोड्यूसर बने और फिर उसी फिल्म के हिन्दी रिमेक से इन्होने डाइरेक्टर के रूप मे अपनी शुरुआत की। इनकी लोकप्रियता का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है की ट्विटर पर इनके 2 lakh से ज्यादा, Instagram पर करीब 1.16 लाख और Facebook पर 56000 लोग इन्हे फालों करते हैं।

श्रेयस से कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने संपर्क साधा और फिर नोएडा मे एक फिल्म की शूटिंग के दौरान इनसे मुलाक़ात की। रिपोर्टर ने इन्हे बताया कि वो आम आदमी पार्टी के लिए डिजिटल प्रमोशन कर रहे हैं और आपको hidden अजेंडा के तहत अपने सोश्ल मीडिया अकाउंटस के जरिए आम आदमी पार्टी की मदद करनी है। सहमति देते हुए श्रेयस कहते है, “हाँ और ये आपको कितने duration में tweet लेंगे”। दिल्ली के स्कूलो के बारे में लिखने की बात पर श्रेयस सलाह देते हुए कहते है, “हाँ वैसे अगर कुछ हो तो ज्यादा मतलब sense भी बनता है कि मैं गया हाँ मैंने देखा और फिर उसके बाद कोई खुले आम बोल रहा है”।

श्रेयश से 30 लाख रुपए महीने पर डील तय होती है जिसमे 27 लाख रुपए महीना यानि 90 प्रतिशत कैश में भुगतान होगा। कैश पेमेंट पर श्रेयश कहते है, “नहीं cash का कोई issue नही”।

 

गणेश आचार्य, फिल्म नृत्य-निर्देशक, एक्टर एवं डाइरेक्टर   

तहकीकत के दौरान कोबरा पोस्ट रिपोर्टर की मुलाकात हुई बॉलीवुड के जाने माने dance director गणेश अचार्या से। रिपोर्टर गणेश को इस गुप्त अजेंडा के बारे में विस्तार से बताते है। गणेश को “भाग मिल्का भाग” फिल्म के लिए नेशनल अवार्ड भी मिल चुका है। Instagram पर करीब 57000 और Facebook पर लगभग 7000 लोग गणेश को फॉलो करते हैं। अप्रत्यक्ष रूप से 2019 के इलैक्शन के मद्देनजर सोश्ल मीडिया के जरिए बीजेपी की मदद करने पर गणेश कहते है, “मैं स्वच्छ भारत का अमिताभ बच्चन का daily show करता हूं एक दिन बैठते है न अमित जी”। 

आगे पूरे अजेंडा की गोपनीयता बना कर रखनी है की बात पर गणेश कहते है, “नहीं मैं समझ गया आपकी बात basically ये hidden है”।

कंटैंट सोश्ल मीडिया पर किस तरह से अपने स्टाइल में डालना है इस पर गणेश कहते है, “देखो क्या है न, मेरा जो है न कोई बात करनी है न dance के through डालूँगा न तो लाखों तक पहुंचती है, करोड़ों तक पहुंचती है”।

दो लाख प्रति मैसेज के हिसाब से 30 लाख रुपए हर महीने पर गणेश से डील फ़ाइनल हो जाती है। तय रकम का 10 प्रतिशत हिस्सा ही व्हाइट में मिलेगा इस बात पर गणेश कहते है, “क्या है मतलब जैसे कि ये 9 महीने का है चार पांच महीने का एक आपका White का RTGS हो जाता न तो हम लोग confirm हो जाते हैं कि काम करना है”।

 

राखी सावंत, एक्टर, डांसर, टीवी होस्ट एवं जज   

मुंबई में कोबरापोस्ट रिपोर्टर की अगली मुलाकात होती है राखी सावंत से। इनके फॉलोअर की संख्या ट्विटर पर 23 हज़ार से ज़्यादा है वही इनके फॉलोअर फेसबुक पर करीब 2 लाख 94 हज़ार और इंस्टाग्राम पर लगभग 5 लाख 98 हज़ार है। अपने बिंदास बोले से विवादों में रहने वाली राखी ने कई फिल्मों में काम किए हैं, लेकिन काम से ज्यादा इन्हें पहंचान मिली विवादों से। राखी खुद राजनीति में भी हाथ आजमा चुकी हैं। हमारे रिपोर्टर उनको इस गुप्त अजेंडा के बारे में विस्तार से बताते हैं। उन्हें बताया जाता है कि किसी तरह से अप्रत्यक्ष रूप से social media में बीजेपी के पक्ष में पोस्ट डालने हैं ताकि चुनाव में पार्टी को उसका फायदा मिले। राखी हमारे रिपोर्टर की मंशा मिनटों में भांप लेती हैं। उनको पहले से पता है इस काम को किस तरह अंजाम देना है। उन्हें इस काम को करनें में कोई परेशानी नहीं है। राखी सावंत कहती है, “Content के साथ अपना mix करके वो ऐसा लगे नहीं कि आपने मुझे दिया हुआ है, ये मेरा style है... बेबाक”। 

इतना ही नहीं राखी ने बातचीत के दौरान कई चौंकाने वाले राज भी खोले। बक़ौल राखी, “मैं गयी थी न...तो हर चैनलों ने मुझे अच्छा amount दिया था मैंने बताया था... तो मैं गयी थी न last time जब PM बने नहीं थे उससे पहले मैं गयी थी सारे चैनलों में गयी थी... किसी के through गयी थी”। राखी आगे कहती है, “हां वो बोलना allowed नहीं होता मैं आप लोगों को बता रही हूँ वैसे क्योंकि ये सब illegal है तो हम मतलब बोल ही नहीं सकते artist बोल ही नहीं सकते”।

ये काम किस तरह करना है इस पर भी राखी सावंत ने बेबाक कहा, “काम क्या किया है.....अरे मुझे पता है मैं कर चुकी हूं पहले मुझे बताया गया था। पहले मुझे पूछा गया था... मोदी क्यों पीएम बने और राहुल गांधी क्यों नहीं... मैंने बोला राहुल गांधी को अभी time है अभी मोदी को chance देना चाहिए। पूरी दुनिया अगर नहीं दिया तो पछताएंगे”।     

जब रिपोर्टर ने कहा कि आपको controversy क्रिएट करनी है लेकिन sophisticated तरीके से। इस पर राखी बोली, “लेकिन आप मुझे देंगे फिर उसी हिसाब से बवाल होगा न आप मुझे negative देंगे बोलने को मैं negative बोलूँगी। डरती मैं किसी के बाप से भी नहीं। जब मोदी है तो डरना क्यों है। positive बोलेंगे देंगे आप तो मैं positive बोलूंगी”।

75 लाख रुपए हर महीने और सिर्फ 10 प्रतिशत व्हाइट में डील तय हो जाती है। यानि 67.5 लाख रुपए हर महीने कैश में। राखी सावंत हमारे एजेंडे के तहत किस प्रकार अपने फ़ॉलोवर  को प्रभवित करेंगी इसका एक नमूना पेश करते हुए उन्होने जल्द ही हमे अपना एक विडियो भी बनाकर भेजा।

 

पंकज धीर एवं निकितीन धीर, एक्टर 

महाभारत सिरियल में कर्ण का बेहतरीन किरदार निभाने वाले पंकज ने बहुत से टीवी सिरियल और फिल्मों में काम किया है। इसीलिए उनके चाहने वाले भी काफी लोग हैं। यूं तो पंकज twitter या facebook जैसी social media पर नहीं हैं पर जब हमने उन्हे बताया कि उन्हे बीजेपी के लिए अप्रत्यक्ष रूप से डिजिटल प्रमोशन करना है और उन्हे इसके लिए उन्हे सोश्ल मीडिया पर अपना अकाउंट खोल लेना चाहिए। पंकज धीर सीधे पूछते है,” What do I stand to gain? मेरा gain क्या है इसमें”? धीरे धीरे पंकज पूरा मामला समझ जाते है और बोलते है, “हां वो एक circus बन जाता है tweet आना चाहिए बहुत सोच-समझ के और बहुत कायदे से और बहुत time पे। जिसका weight भी हो और जिसका मतलब it should be appreciated  also”.

पंकज धीर आगे इस काम के बदले पैसो की बात करते है। पंकज पूछते है, “How do you pay”? रिपोर्टर बताते है 10 परसेंट व्हाइट में बाकी 90 परसेंट कैश में। इस पर पंकज जवाब देते है, “I am very comfortable because by cheque I have already burden till here”. चार messages के लिए 15 लाख रुपया हर महीने पर पंकज धीर से डील तय हो जाती है। बातचीत में पंकज धीर आपने बेटे और मशहूर बॉलीवुड एक्टर निकितेन धीर और उनकी पत्नी एक्टर कृतिका को भी इसमें शामिल करने की सलाह देते है और निकितेन से  हमारे रिपोर्टर को मिलवाते है। निकितेन के ट्विटर पर करीब 1.13 लाख, फ़ेसबुक पर 4 हज़ार से ज़्यादा और इंस्टाग्राम पर लगभग 1.50 लाख लोग इन्हें फॉलो करते है।     

बीजेपी के लिए अप्रत्यक्ष तौर पर सोश्ल मीडिया पर मैसेज करने की बात पर निकितेन धीर कहते है, “हाँ वो तो हम वैसे भी pro BJP हैं”। इसके अलावा निकितेन सलाह देते हुए बोलते है, “जरूर-जरूर Even my wife she has around 500 thousand followers on Instagram”. चालीस लाख रुपए महीना पर निकितेन धीर से डील फ़ाइनल हो जाती है जिसमे 10 परसेंट चेक के जरिए और बाकी 90 प्रतिशत कैश में। निकितेन कहते है, “कोई दिक्कत नहीं है”।

 

अखिलेन्द्र मिश्रा, थिएटर, टीवी एवं फिल्म एक्टर   

मशहूर सिरियल चंद्रकांता के किरदार क्रूरसिह से अपनी एक अलग पहचान बना चुके अखिलेन्द्र मिश्रा को हमने टीवी और फिल्मों मे कई अलग-अलग किरदारों में देखा है। The Legend of Bhagat Singh के अलावा ऑस्कर के लिए नोमिनेट हुई फिल्म लगान मे भी उन्होने एक कमाल का किरदार निभाया था। हमारे रिपोर्टर ने अखिलेन्द्र को जब अपना अजेंडा बताया तो वो BJP के लिए अप्रत्यक्ष रूप से सोश्ल मीडिया पर positive छवि वाले मैसेज करने के लिए मान गए। अखिलेन्द्र ने कहा, “नहीं देखिये क्या है मैं आपको बताता हूँ। मैंने किसी पार्टी को join नहीं किया है। लेकिन BJP से मेरा ऐसे भी soft corner है। क्योंकि मैंने Narendra Modi का role किया हुआ है फिल्म में 2007 में जब election थे और उसके बाद उन्होने गुजरात का election जीता था। फिल्म का नाम है गुजरात नौ नाथ”।

अखिलेन्द्र आगे कहते है, “उसमें किसी का नाम लेने की जरूरत नहीं है। देखिये क्या होगा आपका काम भी हो जाए लाठी भी ना टूटे। समझ गए”। अखिलेन्द्र पूरा मुद्दा अच्छी तरह समझ चुके थे वो कहते है, “देखिये क्या है आप जो चाहते हैं उस मुद्दे पर तो हमने कभी सोचा ही नहीं। इस मुद्दे पर बहुत कुछ हो सकता है। बात समझिए। इस मुद्दे पे इतना कुछ हो सकता है मैं ही आपको idea दूँ”।

इस काम के लिए अखिलेन्द्र 50 लाख रुपए महीना की फीस मांगते है। अखिलेन्द्र आगे पूछते है,” लगभग black कितना होगा 10-15% होगा”? रिपोर्टर जवाब देते है कि वो 30-40 प्रतिशत व्हाइट नहीं दे सकते है। इस तरह पचास लाख रुपए हर महीने लेकर अखिलेन्द्र मिश्रा अपने व्यक्तिगत सोश्ल  मीडिया अकाउंट के जरिए हमारी बताई गई राजनीतिक पार्टी के पक्ष मे माहौल बनाने के लिए तैयार हो गए।

 

सुरेन्द्र पाल, टीवी एवं फिल्म एक्टर  

टीवी और फिल्म अभिनेता सुरेन्द्र पाल सिंह से हमारी मुलाक़ात होती है मुंबई के एक कॉफी शॉप मे। सुरेन्द्र पाल सिंह ने अपने अभिनय कैरियर मे कई यादगार भूमिकाए निभाई हैं चाहे वो बीआर चोपड़ा के ऐतिहासिक धारावाहिक महाभारत मे आचार्य द्रोणाचार्य का किरदार हो या फिर मुकेश खन्ना के मशहूर धारावाहिक शक्तिमान मे मुख्य विलेन तमराज किलविष का किरदार हो इन्होने हर किरदार मे जान डाल दी। मुलाक़ात की शुरुआत मे ही कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने इन्हे बता दिया कि उनका सुरेन्द्र पाल सिंह से मिलने का क्या उद्देश्य है। सुरेन्द्र कहते है, “और celebrities से क्या होता है उनको celebrity जब कहते हैं तो जैसे मैं BJP के लिए pro BJP ही हूं मैंने पार्टी को नहीं join किया I have not joined any party तो क्या होता है कि जब मैं protocol होता है prime minister का जैसे अब अटल जी जहां बोलते थे तो जब वो आ गए हैं तो कोई दूसरा नहीं बोलेगा वो protocol है prime minister बोलेगा, लेकिन मुझे हमेशा chance दिया गया है कि नहीं sir आप बोलिए मुझे हमेशा यही कहा गया कि आप अगर बोलेंगे तो जनता कहेगी कि यार ये आदमी अगर कह रहा है कि गरीबी है तो ये इसकी बात में दम है द्रोणाचार्य बोल रहे हैं”।

15 मैसेज के 30 लाख रुपए महीना पर सुरेन्द्र से डील पक्की हो जाती है। सुरेन्द्रपाल सिंह कहते है, “But आप ये ध्यान रखिएगा कि आठ महीने continue रखिएगा ये नहीं कि बीच में छोड़ दें आप मुझे..”। रिपोर्टर के ये पूछने पर कि mode of payment क्या प्रेफर करेंगे तो सुरेन्द्र बोलते है, “Cash ही दे दो”। डील 10-15 परसेंट cheque और बाकी कैश में तय हो जाती है। आगे सुरेन्द्र ने ये भी बताया, “BJP भी cash ही देती थी BJP cash direct नहीं देती है, अमित शाह नहीं देते, उनका आदमी आएगा दूसरा आदमी है जैसे आपने मुझे hire किया ना संदीप ने तो संदीप के through आएगा और किसी के through नहीं आएगा संदीप के through आएगा”। 

 

पुनीत इस्सर, एक्टर एवं डाइरेक्टर 

सुरेन्द्र पाल सिंह उर्फ आचार्य द्रोणाचार्य से जब कोबरापोस्ट रिपोर्टर की अगली मुलाक़ात हुई तो उन्होने महाभारत सीरियल मे उनके शिष्य दुर्योधन का किरदार निभाने वाले मशहूर कलाकार पुनीत इस्सर से मुलाक़ात कराई। पुनीत ने मशहूर अभिनेता सलमान खान और उनके भाई अरबाज़ खान को भी गर्व फिल्म मे डाइरैक्ट किया है। पुनीत को जब कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने बताया कि वो  BJP की ओर से PR संभाल रहे हैं और उनका साथ चाहते हैं upcoming election के लिए तो  ऐसा लगा मानो मार्शल आर्ट में ट्रैन्ड पुनीत हमारा इंतज़ार कर रहे हों। पुनीत हमारी सारी बातों पर हामी भरते हुए अप्रत्यक्ष तौर पर बीजेपी के लिए सोश्ल मीडिया पर प्रचार के लिए तैयार हो गए।

पुनीत के ट्विटर पर लगभग 1500, फ़ेसबुक पर करीब 35000 और इंस्टाग्राम पर करीब 6 हज़ार फॉलोअर है। पुनीत बताते है, “एक art director है मेरे सारे production में मेरी फिल्मों में जो भी गर्व आई... वो मैने देखा suddenly ऐसे ही कोई tweet आया है। मैंने देखा, it was totally anti BJP and Pro-Congress. मैंने कहा.. तेरे को क्या प्रोब्लेम आई है। तू तो production वाला है तू क्यों पड़ रहा है इसमें, अब वो क्या है मेरे को पता है वो जावेद अख्तर और शबाना के camp का है। उनका… है I know that आशीष सचदेव तो उनके जो लोग हैं वो क्या करते हैं। They are also doing it”.

पुनीत न सिर्फ हमारी बातों को समझ कर हमारे लिए काम करने के लिए तैयार थे बल्कि वो हमे सलाह भी दे रहे थे की और किस तरह से इस काम को किया जा सकता है। पुनीत बोलते है, “आप जो बोल रहे हो मैं समझता हूँ। But believe me we ….them in a big way”. 

तीन लाख रुपए per content पर पुनीत इस्सर से डील फ़ाइनल हो जाती है। रिपोर्टर आगे कहते है कि उनकी फीस का 80 प्रतिशत ब्लैक में मिलेगा केवल 20 परसेंट ही व्हाइट में होगा। पुनीत जवाब देते है, “हाँ ठीक है”।

Controversial messages पर पुनीत रजामंदी देते हुए कहते है, “सर ये इनकी मैं मार सकता हूँ यहाँ पर, इस तरह कर सकता हूँ तो उसका will talk the money then”. पुनीत इस्सर से हमारी सारी बातचीत पूरी हो गयी थी। पैसों के लिए वो अपने पर्सनल सोश्ल मीडिया अकाउंट से हमारे बताए हुए हर काम को करने के लिए राजी थे।

 

टिस्का चोपड़ा, एक्टर, लेखक एवं फिल्म प्रोड्यूसर   

आमिर खान की बहुचर्चित फिल्म “तारे ज़मीन पर” से लोकप्रिय हुई अभिनेत्री टिस्का चोपड़ा किसी परिचय की मोहताज नहीं हैं। टिस्का के ट्विटर पर 3 लाख से ज़्यादा, फ़ेसबुक पर करीब 4 लाख और इंस्टाग्राम पर 6 लाख से ज़्यादा फॉलोअर है। टिस्का चोपड़ा की पहचान अभिनेत्री के तौर पर ही नहीं बल्कि प्रोड्यूसर के रूप में भी है। मशहूर लेखक खुशवंत सिंह इनके नाना थे। इनके द्वारा लिखी गयी किताब “एक्टिंग स्मार्ट” की गिनती बेस्ट सेलर्स मे की जाती है।

टिस्का से कोबरापोस्ट रिपोर्टर की मुलाक़ात दिल्ली के एक पाँच सितारा होटल मे होती है। हम इनको बताते हैं कि हम एक पीआर कंपनी से हैं और आम आदमी पार्टी हमारी क्लाईंट है और हम चाहते हैं कि एक एजेंडे के तहत आप अपने सोश्ल मीडिया अकाउंट के जरिए अप्रत्यक्ष रूप से आम आदमी पार्टी का सोश्ल मीडिया पर प्रमोशन करे। टिस्का जवाब देती है, “कब तक करना ये”। टिस्का सब समझ चुकी थी वो बोलती है, “तो आप बताते रहना हम लोग करते रहेगे उसको”।

पेमेंट mode कैश या cheque रहेगा का जिक्र आते ही टिस्का कहती है, “पहले amount decide कर लें”। पैसे को लेकर टिस्का काफी मोलभाव करती और बोलती है, “3 थोड़ा कम है we charge 5 normally that is my normal rate”. डील पाँच लाख रुपए प्रति मैसेज पर फिक्स हो जाती है लेकिन इस रेट पर टिस्का को कुछ मुद्दों पर आम आदमी पार्टी को defend भी करना होगा। टिस्का कहती है, “कर पाऊँगी”।

रिपोर्टर कहते है कि सिर्फ 20 परसेंट पेमेंट ही व्हाइट में होगा बाकी 80 प्रतिशत कैश पेमेंट होगा। टिस्का जवाब देती है, “ठीक है ठीक है वो ठीक है”। टिस्का चोपड़ा से रिपोर्टर की बातचीत पूरी हो चुकी थी। ये भी पैसे लेकर अपने सोश्ल मीडिया अकाउंट के जरिए रिपोर्टर के कहे मुताबिक काम करने के लिए तैयार थी और इन्हे भी भुगतान का बड़ा हिस्सा नगद मे लेने मे कोई दिक्कत नहीं थी।

 

दीपशिखा नागपाल, टीवी एवं फिल्म एक्टर, डाइरेक्टर  

ऑपरेशन कराओके में कोबरापोस्ट रिपोर्टर की मुलाक़ात जानी मानी अभिनेत्री दीपशिखा से भी हुई। दूरदर्शन के मशहूर सीरियल शक्तिमान से दीपशिखा को अच्छी ख़ासी पहचान मिली थी। इनके ट्विटर पर 25 हज़ार से ज़्यादा, फ़ेसबुक पर 68 हज़ार से ज़्यादा और इंस्टाग्राम पर करीब 2.6 लाख लोग फालों करते हैं। दीपशिखा को हमने बताया कि हम किस तरह डिजिटल प्रमोशन के जरिए अपनी पार्टी का प्रचार करना चाहते हैं। दीपशिखा पहली ही मुलाक़ात में आम आदमी पार्टी के डिजिटल प्रमोशन के लिए तैयार हो गयी। दीपशिखा कहती है, “उसको कंटैंट को मैं  अपने हिसाब से appreciate करूंगी”। 

बातचीत में दीपशिखा महीने में सिर्फ 3 से चार मैसेज के तर्क को भी अच्छे से समझ जाती है और बोलती है, “Okay हाँ रोज का तो लगेगा फिर”। दीपशिखा 5 लाख रुपए प्रति platform मांगती है यानि 15 लाख प्रति मैसेज। mode of payment पर दीपशिखा कहती है, “I am ok with cash, I am ok with cheque, Cheque आता है तो वही फिर सारे...”। रिपोर्टर दीपशिखा को बताते है कि पेमेंट 90 परसेंट कैश में रहेगा और बाकी 10 परसेंट ही व्हाइट में रहेगा। इस पर दीपशिखा कहती है, “चलेगा”।

दीपशिखा कैश पेमेंट कैसे लेंगी वो भी वो बताती है, “नही जैसे मुझे अगर जैसे कोई payment करनी है समझो cash की तो मैं बोल दूंगी उनको कि वहां पे उसको पहुंचा दे वो पता कर लेंगे जो भी कर लेंगे”। रिपोर्टर के ये पूछने पर कि क्या फ़ॉरेन करेंसी में पेमेंट संभव है तो दीपशिखा जवाब देती है, “मैं वो manage कर लूंगी जब Sandeep personally आएंगे न मैं बता दूंगी Phone पे नही बात करे तो अच्छा है”।

 

 

रोहित राय, टीवी एवं फिल्म एक्टर

इस बार कोबरापोस्ट रिपोर्टर मिलते हैं कई टीवी सीरियल और फिल्मों में काम कर चुके रोहित राय से। रोहित के ट्विटर पर 1.17 लाख, फ़ेसबुक पर 11 हज़ार से ज़्यादा और इंस्टाग्राम पर करीब 1.65 लाख फॉलोअर है। रितिक रोशन स्टारर फिल्म क़ाबिल में भी रोहित ने दमदार रोल किया था। सोशल मीडिया पर पैसे के बदले किसी के पक्ष में प्रचार करने का खेल खूब चल रहा है। इस काम के लिए राजनीतिक दल बड़े बड़े फिल्मी सितारों और टीवी जगत के जाने माने चेहरों का इस्तेमाल कर रहे हैं। ये धंधा इस तरह से होता है कि जनता को ये भनक भी न लगे कि सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखने वाले शख्स का उस पार्टी से कोई जुड़ाव है या फिर ये किसी तरह की डील है।

कोबरापोस्ट रिपोर्टर रोहित को बताते है कि उन्हें अप्रत्यक्ष रूप से कांग्रेस पार्टी के पक्ष में सोशल मीडिया जैसे ट्विटर, फेसबुक और इंस्टाग्राम पर पोस्ट डालने हैं। रोहित जवाब देते है, “ठीक है... उसको personalize करके ट्वीट करना है नहीं लगे कि...”। रोहित आगे कहते है, “ऐसा लगना चाहिए कि रोहित राय appreciate कर रहा है कि लोगों ने इतना कुछ किया है personal मानना है.... correct वैसा ही होना चाहिए....”।

रेट के लिए बातचीत होती है और मोल भाव के बाद डील 30 लाख रुपए में 15 मैसेज हर महीने पर फिक्स हो जाती है। रोहित पूछते है, “duration क्या है इसका... कितने time तक करना है....” रिपोर्टर जवाब देते है 8 महीने तक। रोहित आगे कहते है, “ठीक है done… That’s you mail me and I will take it forward… कैसे क्या करोगे ये अभी देखना पड़ेगा क्योंकि ये सब तो पढ़ाई लिखाई होगी नहीं इसकी...”।

पेमेंट mode की बात पर रोहित को बताया जाता है कि 90 परसेंट पेमेंट उनको कैश में मिलेगा और बाकी 10 परसेंट ही व्हाइट में रहेगा। रोहित जवाब देते है, “correct…” बातचीत के बाद रिपोर्टर को रोहित के मैसेज भी आए जिसमें उन्होने अपने भाई रोनित को भी शामिल करने की बात कही।  

 

 

राजपाल यादव, बॉलीवुड कमेडियन   

कोबरापोस्ट रिपोर्टर की अगली मुलाक़ात होती है 150 से भी ज्यादा फिल्मों में काम कर चुके अभिनेता राजपाल यादव से। कमेडियन राजपाल यादव की सोश्ल मीडिया मे फैन फलोविंग भी लाखों मे है। फेसबुक मे जहां करीब 7 लाख से अधिक लोग इन्हे फालों करते हैं वहीं ट्विटर पर  इनके फॉलोअर की संख्या 1 लाख 33 हज़ार से ज्यादा है तो इंस्टाग्राम मे इन्हे एक लाख से ज़्यादा लोग फालों करते हैं।

राजपाल को भी कोबरापोस्ट रिपोर्टर काम के बारे में समझाते हैं कि कैसे उन्हे अप्रत्यक्ष रूप से सोश्ल मीडिया के जरिए बीजेपी के पक्ष में माहौल बनाना है। राजपाल इस काम के लिए तैयार दिखते हैं और कहते हैं, “योजनाएं और हमारे विचार और विचार में आपके पार्टी का फायदा हो नुकसान न हो”।

राजपाल को रिपोर्टर बताते हैं कि कैसे उनके सोशल मीडिया अकाउंट का इस्तेमाल अप्रत्यक्ष तौर पर बीजेपी के फायदे के लिए करेंगे। राजपाल कहते हैं कि वो content देंगे तो काम हो जाएगा। राजपाल इस काम को कितनी सफाई से करेंगे ये वो खुद बताते है, “Message नहीं उसकी आप hard copy कराएंगे उनकी जो दस योजनांए हैं उनमें one, one liner लिख के दे देंगे उसकी फिर आपने एक hard copy करा ली भाई को दे दिए भाई ने हमारे तक भेज दिया हमने उसको याद कर लिया हमने whatsapp की वहीं delete कर दी अब हमने अपने विचार twitter के रूप में ऐसे ही डाल दिए जिसमें सबूत लगे कि I know him उसे भी हम मिटाते गए”।

बातचीत में आगे राजपाल को बताया जाता है कि महीने में उन्हें कितने पोस्ट सोशल मीडिया में डालने हैं। साथ ही पैसों की भी बात होती है। राजपाल हमारे रिपोर्टर दिए गए ऑफर से खुश नहीं नजर आते। वो ज्यादा पैसों की डिमांड करते हैं और पैसा ज्यादा मांगने की वजह भी बताते हैं। राजपाल कहते है, “अगर 750 करोड़ लोग इस दुनिया में हैं तो छोटे भाई सर्वे करवा लेना अफगानिस्तान, पाकिस्तान, बांग्लादेश, जिम्मबावे, पोलैंड,... मॉरीशस ये अपना फिजी, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड जितने भी स्कॉलैंड, वेल्स कम से कम चार सौ करोड़ चेहरा आपके भाई का चेहरा जान चुके हैं with name…  एक line में अगर पांच शब्द भी है न मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं सुनिए अगर ये line दिमाग़ में उस तरीके से आएगी आप दस करवाओ या पन्द्रह करवाओ या बीस करवाओ.....” 

राजपाल कहते हैं, “बदनामी करो तो डुबकी मत लगवाओ...” मतलब वो इस काम के बदले अपने मन मुताबकि पैसे चाहते थे। हमारे रिपोर्टर भी उन्हे मुह मांगी रकम देने को तैयार हो गए आखिरकार deal पक्की हुई।  

75 लाख रुपए महिना पर राजपाल यादव से डील फ़ाइनल हो जाती है। राजपाल एक महीने का एडवांस मांगते है। पेमेंट mode की बात राजपाल वहाँ पर मौजूद अपने साथी गोल्डी से करने के लिए कहते है। रिपोर्टर बताते है कि पेमेंट का 10 परसेंट ही अकाउंट में जाएगा बाकी 90 प्रतिशत कैश में ही मिलेगा। गोल्डी जवाब देते है, “Okay”.

राजपाल यादव का पक्ष जानने के लिए कोबरापोस्ट ने ईमेल के जरिए कुछ प्रश्न भी भेजे थे। राजपाल यादव की टीम ने ईमेल का जवाब देते हुए लिखा, “Rajpalji is unavailable till April to answer any questions”. 

सुनील पाल, कॉमेडियन एवं एक्टर  

साल 2005 मे स्टार वन पर प्रसारित ग्रेट इंडियन लाफटर चैलेंज के ये विजेता भी रहे स्टैंड अप कॉमेडियन, मिमिक्री आर्टिस्ट सुनील पाल को आज पूरा देश पहचानता है। हालांकि ट्विटर और इंस्टाग्राम पर इनकी फैन फॉलौइंग बहुत ज्यादा नहीं है लेकिन फेसबुक पर डेढ़ लाख से ज्यादा लोग इनको फालों करते हैं साथ ही इनका अपना यूट्यूब चैनल भी है। कोबरापोस्ट रिपोर्टर सुनील पाल को अपने सोश्ल मीडिया अकाउंट के जरिये अप्रत्यक्ष रूप से बीजेपी को प्रोमोट करने की बात करते है ताकि 2019 के इलैक्शन में बीजेपी को लाभ मिल सके। सुनील को जल्दी ही अजेंडा क्लियर हो जाता है और वो कहते है, “समझ गया मैं समझ गया इसमें कुछ नही है ये तो काम है”। सुनील के फ़ेसबुक पर करीब 1.61 लाख और ट्विटर पर करीब 1 हज़ार   फॉलोअर है।     

सुनील आगे बताते है, “हूँ देखिए मेरा अपना youtube channel है”। पेमेंट की बात पर सुनील कहते है, “BJP तो इतनी बड़ी पार्टी है कि इनसे जितना क्योंकि इन्होने दुनिया से लिया बहुत है इन्होने”। सुनील यही नहीं रुके वो आगे बोलते है, “नीरव मोदी को दे दिया है फला को दे दिया है तो अब हम कलाकारो को भी दे दें कुछ”।

कलाकार सुनील पाल हम से जुड़ने के फ़ायदे भी बताते है। बक़ौल सुनील, “जो मुझे cable के through वहाँ पर पूरे area में एक time में एक शाम को कम से कम 25 लाख के घर पहुँचा रही है 25-50 लाख जनता के घर पहुंचा रही है जैसे मैं MP में गया तो वहाँ का MP के लिए बोला तो वो जो media है न वो बाकी actor को नहीं मिलेगा”। सुनील आगे कहते है, “हाँ वही तो मैं कर रहा हूँ जिस में मोदी की बात कर दी BJP की बात कर दी वो मेरे हाथ में है और उसके अलावा मैं कहीं function में जाता हूँ किसी के inauguration में चला गया किसी में कुछ चला गया एक समझो ये है इसकी तो एक पार्टी हो गई वहाँ हमारा local media रहता है”।

पेमेंट की बात भी होती है और काफी मोलभाव के बाद बात 20 लाख रुपए महीने पर तय हो जाती है। पेमेंट मोड़ भी सुनील को बताया जाता है कि 80 परसेंट कैश मिलेगा तो सुनील कहते है, “75 कर लीजिए”। सुनील अपने सोश्ल मीडिया अकाउंट से मैसेज भेजने के लिए न सिर्फ तैयार हुए बल्कि उन्होने जल्द ही इसकी शुरुआत भी कर दी और बताए गए एजेंडे के मुताबिक  मैसेज भी पोस्ट करने लगे।

 

राजू श्रीवास्तव, कॉमेडियन एवं एक्टर  

कॉमेडी की दुनिया की जानी मानी हस्ती राजू श्रीवास्तव से भी कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने मुलाक़ात की। राजू के ट्विटर पर करीब 10 हज़ार और फेसबुक पर करीब 3.9 लाख फॉलोअर है। राजू श्रीवास्तव के यूट्यूब चैनल के subscriber की संख्या भी 2 लाख से ज़्यादा है। राजू से बातचीत के दौरान खुद को एक PR कंपनी का employee बताते हुए कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने उनसे ट्विटर और फ़ेसबुक के जरिये आने वाले चुनाव के मद्देनजर BJP के पक्ष में पोस्ट करने की बात कही। इस पर राजू ने तुरंत BJP से उनके जुड़ाव की बात रिपोर्टर से कही। राजू ने कहा, “अगर BJP का काम है तो मुझे खुद BJP कार्यालय से फोन आना चाहिए था मैं तो खुद BJP का हूं”।

आगे बातचीत में सब कुछ समझने के बाद राजू इस काम को करने के लिए राज़ी भी हो गए। रिपोर्टर ने राजू से ये भी कहा कि उनके पोस्ट से ये ना लगे कि वे किसी खास व्यक्ति को target कर रहे हैं। खुद की credibility और बैलेन्स बनाए रखने की बात पर राजू ने कहा, नहीं वो तो मैं समझ गया direct तो होगा नहीं थोड़ा बोल कर निकल गए....

BJP के अलावा किसी और पार्टी या brand के पक्ष में tweets की बात पर राजू ने पहले बीजेपी के बारे में बात की। राजू बोले, “मान लो BJP का मैं आपके साथ करता हूं तो एक तो जो आप idea हर बार देंगे हर बार मैं वही करूँ ये...इसमें छूट चाहिए मुझे जहां तक मेरे इसमें रहे मेरे fans नाराज़ भी न हों तो वो रहेगा कि जो tweet या जो tweet आप देंगे वो जो मैं करूंगा अगर नहीं जमेगा तो उसको मैं ठीक कर दूँगा”।

राजू श्रीवास्तव आगे बातचीत में दूसरी पार्टी के ऑफर के बारे में पूछते है, “और दूसरा क्या वैसे क्या रहता है इन लोगों का क्या offer है....”। बातचीत को आगे बढ़ाते हुए हमारे रिपोर्टर ने राजू से किसी खास brand की बुराइयों को tweets के जरिये ढकने की बात कही तो इस पर राजू ना सिर्फ तैयार हो गए बल्कि इस काम को अपने अभिनय के अंदाज़ में करने का रास्ता भी बताया।

जब बात आई payment की तो रिपोर्टर ने राजू के कुछ options रखे और बताया कि पेमेंट  या तो per ट्वीट करेंगे या फिर per month। इस पर राजू ने monthly contract को तरजीह देते हुए कहा, वो tweet मतलब 6 दिन में आ सकते हैं 8 दिन में आ सकते हैं तो हमें तो फिर monthly contract होना चाहिए

राजू ने per tweet न लेकर के 10 लाख रुपए per company की मांग रखी। आखिर में हमारे रिपोर्टर ने राजू से पूछा कि उनका mode of payment क्या होगा तो इस पर राजू श्रीवास्तव बोले, “अच्छा political तो शायद cash ही रहेगा कि छोटा मोटा”।

 

क्रुष्णा अभिषेक, कॉमेडियन एवं एक्टर  

अभिषेक शर्मा, मनोरंजन की दुनिया में जिन्हें क्रुष्णा अभिषेक के नाम से जाना जाता है। छोटे पर्दे से Acting और comedy के जरिए अपने career की शुरूआत करने वाले क्रुष्णा करीब आधा दर्जन हिंदी फिल्मों में काम कर चुके हैं। चाहे फिल्म ‘बोल बच्चन’ हो या ‘Entertainment’.. हर जगह क्रुष्णा के Talent को सराहा गया। एक बेहतरीन comedian होने के साथ-साथ क्रुष्णा दमदार dancer भी हैं। टीवी की दुनिया में कई Reality shows में एक मंझे हुए अभिनेता के तौर पर क्रुष्णा ने घर-घर में अपनी पहचान बनाई। इसके साथ ही Social media पर भी क्रुष्णा की अच्छी खासी Fan following है। फेसबुक मे जहां करीब 69 हज़ार से ज्यादा लोग इन्हे फॉलों करते हैं वहीं ट्विटर पर इनके follower की संख्या 54 हज़ार से ज्यादा है तो इंस्टाग्राम मे 2.40 लाख से ज्यादा लोग फॉलों करते हैं।

कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने क्रुष्णा को बताया कि आप अपने private social media account पर अप्रत्यक्ष रूप से बीजेपी के हक में social message और post share करेंगे.. क्रुष्णा को ये भी बताया गया कि ये एक hidden agenda रहेगा। आपके followers को कहीं भी ये न लगे कि इस काम को आप पैसे लेकर कर रहे हैं। क्रुष्णा कहते है, “Okay but direct न लगे ऐसा न लगे कि paid है और उसके लिए ये आदमी कर रहा है”।

क्रुष्णा अभिषेक हमारी सारी बातें अच्छी तरह समझ गए थे, बातों ही बातों में क्रुष्णा ने हमें political campaigning का एक और रास्ता सुझाया इन्होंने कहा कि क्यों न Live show के बीच में हम indirectly सरकार के support में कोई comment कर दें ताकि अपने message को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुंचाया जा सके। क्रुष्णा अभिषेक कहते है, “हम लोग मेरे अंदर मेरे साथ क्या है कि हम लोगों के साथ plus point ये है जैसे मैं live show कर रहा हूं तो ये तो हम digital के लिए तो कर ही रहें है जहां तक हमारे लोग देख रहें है लेकिन जब मैं live show पर हूं जहां पर दस हजार जनता मेरे सामने है... तो वहां पर किस तरीके से उसको करना है तो उसको shoot करके फिर tweet करना है आप समझ रहे हो न.... एक हमारे यहां क्या कि एक अकेला बंदा हूं मैं अकेला मस्ती कर रहा हूं यार दोस्त भी हैं... मैंने किसी को साथ में ले लिया by chance मेरे साथ Jacqueline है मेरे साथ में तो मैंने ऐसी कुछ बात कर दी अपनी ही चीज़ को लेके उसको मैंने ज्यादा involve नहीं किया लेकिन उसके साथ में कर दिया तो वो plus point है... दूसरा plus point है कि जब मैं अपना show करता हूं मेरे कम से कम तीन चार हजार लोग कभी दस हजार कभी पचास हजार लोग होते हैं तो वहां पर जैसे ये लोग मेरे साथ में है तो इसको बोल दिया कि तू shoot कर ले और वहां पर किस तरीके से उसको में लेकर गया हूं उस मुद्दे को”।

एजेंडे को लेकर सारी बातचीत हो जाने के बाद अब payment को लेकर बातचीत शुरू होती है। payment को लेकर सारी बातचीत के लिए क्रुष्णा अपने मैनेजर अर्शद को आगे कर देते हैं। इसी बातचीत में क्रुष्णा सलाह देते है, “मेरा पांचवा season अभी मेरे से dates September में मांग रहे है मुझसे 7 दिन का है shoot तो हम लोग पता क्या कर सकते हैं ये आप believe नहीं करोगे कि जो मुद्दा है उसमें से चार मुद्दा मुझे दे दो मैं anchor link में डलवा दूंगा”। बातचीत में मैनेजर अर्शद 90 लाख रुपए quote करते है लेकिन मोल भाव के बाद 75 लाख रुपए महीना पर डील तय हो जाती है। पेमेंट mode में 90 परसेंट काश बाकी 10 परसेंट व्हाइट में होगा रिपोर्टर अर्शद को बताते है और पूछते है समझ गए न? अर्शद जवाब देते है, “हां बहुत अच्छे से”।    

 

विजय ईश्वरलाल पवार उर्फ वीआईपी, कॉमेडियन 

तहकीकात के दौरान कोबरापोस्ट रिपोर्टर की मुलाकात हुई छोटे पर्दे पर बड़े कॉमेडियन के तौर पर पहचान बना चुके विजय ईश्वरलाल पवार से। साल 2008 में सोनी टीवी पर प्रसारित होने वाले शो कॉमेडी सर्कस में बेस्ट कॉमेडियन का खिलाब जीतने वाले विजय ईश्वरलाल पवार वीआईपी के नाम से मशहूर हैं। वीआईपी को आपने बोल बच्चन फिल्म में बड़े पर्दे पर भी देखा होगा। रिपोर्टर काम के बारे में समझाते हैं कि कैसे उन्हे अप्रत्यक्ष रूप से सोश्ल मीडिया के जरिए बीजेपी के पक्ष में माहौल बनाना है। विजय ईश्वरलाल पवार कहते है, “फिर ये ऐसे करने का है कि कोई आदमी कचरा उठा रहा है कोई भी आदमी कचरा उठा रहा है मैं shoot कर रहा हूं अभी अभी देखिये वो आदमी सामने कचरा उठा रहा है मतलब उसे लगने लगा है कि भारत को साफ करना चाहिए ये स्वच्छ भारत ऐसे आप बोलेंगे अब लोगों ने serious लेना शुरू कर दिया है अब जागे वो”।

रिपोर्टर जब वीआईपी को कहते है कि कई बार उनको कुछ मुद्दों पर बीजेपी को defend भी करना है तो वीआईपी कहते है, “नहीं नहीं बिल्कुल सच में मैंने ऐसे ही नहीं बोला अरे सच में हुआ है आज देश का नाम हर लोग की ज़ुबान पर है India India इससे पहले मुझे नहीं पता था मेरा प्रधानमंत्री पहले का प्रधानमंत्री क्या करता था क्या नहीं करता था मुझे सच में खबर नहीं थी कि क्या करता है क्या नहीं लेकिन इस समय एक छोटे से घर में बच्चे बच्चे को पता है कि प्रधानमंत्री आज क्या कर रहा है कहां जा रहा है कल क्या किया था कितने वोटों से जीता वो भी मालूम है बच्चों को कितने वोटों से हारा जीता जो भी है”।

रिपोर्टर ने आगे वीआईपी को बताया कि उन्हे बीच बीच में विपक्षी नेता जैसे राहुल गांधी का मज़ाक भी बनाना है तो वीआईपी ने कहा, “उसकी मां बोलेगी बार बार आप क्यों जीत रहे हो मेरे ख्याल से राहुल भी मोदी जी को ही vote दे रहा है वो भी मोदी जी को ही vote दे रहा है पप्पू”। रिपोर्टर आगे जब वीआईपी से पूछते है कि उन्हे अजेंडा क्लियर है तो वो बोलते है, “मैं बार बार ये बोल रहा हूं देखो कोई मैं मोदी भक्त नहीं हूं लेकिन जो मुझे दिख रहा है वो मैं आपको बता रहा हूं ताकि लोगों के दिमाग में फिर ये हो जाएगा कि मैं मोदी के लिए लोगों को उकसा रहा हूं ये बोल बोल के लोगों के दिमाग में डालना पड़ेगा”। रिपोर्टर वीआईपी को याद दिलाते है की ये काम कही disclose नहीं करना है तो वीआईपी कहते है, “अरे नही नही बिल्कुल नही मैंने बोला न मैं तो Modi भक्त हूं”।

पाँच लाख रुपए महीना के हिसाब से 8 महीने के चालीस लाख रुपए पर विजय ईश्वरलाल पवार यानि वीआईपी से डील फिक्स हो जाती है।   

 

इवलिन शर्मा, जर्मन मॉडल एवं बॉलीवुड एक्टर  

Evelyn शर्मा एक जर्मन बेस्ड मॉडल और एक्ट्रेस हैं। बॉलीवुड मे वैसे तो इन्होने अपनी शुरुआत सन 2012 मे प्रदर्शित फिल्म from sydney with love से करी थी लेकिन इन्हे पहंचान तब मिली जब ये रणवीर कपूर के अपोजित उनकी हिट फिल्म ये जवानी है दीवानी मे नज़र आई। अपनी इस investigation में हम बीजेपी का अप्रत्यक्ष रूप से सोश्ल मीडिया पर प्रचार करने का proposal लेकर पहुंचे एल्विन लक्ष्मी शर्मा के पास। युवा पीढ़ी की पसंदीदा actress Evelyn Sharma के ट्विटर पर 1 लाख 20 हज़ार से ज्यादा, इंस्टाग्राम पर 20 लाख से ज्यादा और फेसबुक पर 41 लाख से ज्यादा followers है।

वैसे तो इवलिन के कांट्रैक्ट को लेकर सारी बाते हमारी उनके मैनेजर से हुई, जब हम इवलिन से मिले हमने इवलिन को अपने अजेंडे के बारे में बताया। एल्विन हमारे promotion को लेकर उत्साहित दिखी और वो अपने तीनों सोश्ल मीडिया अकाउंट पे हमारी पार्टी को सपोर्ट करने को तैयार हुई। Evelyn कहती है, “I love this idea, I really like. It’s very subtle and at the same time it’s promoting country suppose to are we following, so yeah I really like this.”  

रिपोर्टर जब इवलिन से पूछते है कि उन्हे कोई confusion तो नहीं है तो वो जवाब देती है, “No, it’s normal. Basically, if I would be here and I would see like this … it’s very natural, right. It’s supposed to be very like I started an hashtag.” कोबरापोस्ट रिपोर्टर Evelyn को बताते है कि वो उन्हे कंटैंट देंगे जिसे Evelyn को अपने शब्दों में पोस्ट करना होगा। Evelyn जवाब देती है, “In my words … yeah okay, it’s not a problem.”   

अजेंडा को लेकर सब तय हो जाता है और Evelyn कहती है, “I am sure this will be very beneficial for both sides.”

 

मिनिषा लांबा, मॉडल एवं एक्टर 

बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस मिनिषा लांबा दिल्ली से ताल्लुक रखती हैं। अपने कैरियर की शुरुआत modeling से करने के बाद इन्होने बॉलीवुड की हिट फिल्म कॉर्पोरेट में भी काम किया। इसके अलावा यहाँ फिल्म के लिए उन्हे उस साल के फिल्मफेयार अवार्ड के लिए भी नोमिनेट किया गया। कई बड़ी बॉलीवुड फिल्मों का हिस्सा रहने वाली मिनिषा लांबा ने छोटे पर्दे के मशहूर रीऐलिटी शो बिग बॉस के सीज़न 8 मे भी भाग लिया। मिनिषा के ट्विटर पर करीब 8.6 लाख, फ़ेसबुक पर 6 लाख से ज्यादा और इंस्टाग्राम पर 2 लाख से ज्यादा फॉलोअर है।   

मिनिषा से कोबरापोस्ट रिपोर्टर की मुलाक़ात मुंबई के एक पाँच सितारा होटल मे हुई। मिनिषा को रिपोर्टर ने बताया कि उन्हे भारतीय जनता पार्टी के लिए अप्रत्यक्ष तौर पर उन्हे digital promotion करना है वो भी अपने तीनों सोश्ल मीडिया अकाउंट से। मिनिषा सभी तरह की serious tweets से लेकर पार्टी के favor तक के लिए राज़ी हो गयी। मिनिषा ने कहा, “कि मतलब मुद्दे पर बात करना है। मुद्दे को depoliticize करना है... ये नहीं कि आप पी.एम का नाम लीजिये और बोलिए कि नहीं उनका क्या लेना देना... ये बिल्कुल नहीं... पार्टी का भी नहीं... कि मुद्दे पर awareness बढ़ानी है”।

मिनिषा ने अजेंडे को अच्छे से समझा और बकोल मिनिषा, “अपने words में personalize करना है। जैसे ये personal feeling है”। मिनिषा कंटैंट जानना छह रही थी। मिनिषा ने कहा, “तो आप मुझे एक example दीजिये आप जैसे अगला जो आप कह रहे हो अगले 2 आपके कंटैंट होंगे आप मुझे वो कंटैंट का example दीजिये जैसे अभी आप क्या चाह रहे हो। तो फिर हम डिस्कस कर सकते है मुझको समझ में आना है कि how to do.” ये बताने पर कि आपको बीजेपी सरकार की विभिन्न योजनाओ को प्रोमोटे करना है पर मिनिषा जवाब देती है, “Theek, perfect”.

बातचीत में मिनिषा सलाह देती हुए कहती है, “अभी एक नया आया है ना India fit है उसमें भी बहुत कर सकते हैं”। अपने व्यक्तिगत सोश्ल मीडिया अकाउंट के जरिए पैसे लेकर एक बीजेपी के पक्ष मे मेसेज भेजने के लिए मिनिषा तैयार थी। पैसो का जिक्र आने पर मिनिषा ने अपने मैनेजर से पूछा, “लेकिन आपने मुझे बोला था कि सारा कैश होगा”। रिपोर्टर ने बात संभालते हुए कहा कि 10 से 20 परसेंट व्हाइट में रहेगा बाकी 80 से 90 परसेंट कैश में होगा। मिनिषा आगे कहती है, “No I thought it was a mainly a cash deal. तो फिर जो contract बनेगा what is going to be scope of”. बातचीत के आखिर में रिपोर्टर मिनिषा से मामले की गोपनीयता को लेकर कहते है तो मिनिषा बोलती है, “No of course नहीं”।

 

कोइना मित्रा, मॉडल एवं एक्टर  

Lee Strasberg Theatre and Film Institute of New York से ग्रेजुएट मशहूर मॉडल और बॉलीवुड एक्ट्रेस कोइना मित्रा कोलकाता से ताल्लुक रखती हैं। अपने कैरियर की शुरुआत modelling से करने के बाद म्यूजिक albums और फिर साल 2002 में राम गोपाल वर्मा की फिल्म रोड से कोइना ने बॉलीवुड मे कदम रखा। ट्विटर पर कोइना को करीब दो लाख तो फेसबुक पर एक लाख 30 हज़ार के करीब लोग फॉलों करते हैं।

कोइना से कोबरापोस्ट रिपोर्टर की मुलाक़ात मुंबई के एक रैस्टौरेंट मे हुई। कोइना को हमने बताया कि उन्हे भारतीय जनता पार्टी के लिए अप्रत्यक्ष रूप से digital promotion करना है वो भी अपने सोश्ल मीडिया अकाउंट से। कोइना कहती है, “इसमें अगर आपने notice किया होगा मैं जो भी लिखती हूँ under मोदी जी को लेके लिखती हूँ या BJP को लेके या फिर दूसरों को criticize करती हूँ तो लोग ऐसा ही सोचते हैं कि मुझे endorse करने के लिए कहा गया है वैसे भी सोचते हैं ठीक है न”।

रिपोर्टर जब कोइना से कहते है कि उनके द्वारा लिखे गए कंटैंट की उनके followers में एक अलग ही credibility होगी तो कोइना बोलती है, “हाँ तो उस चीज को न मुझे अपनी language में अपने हिसाब से लिखना है... वो ऐसा नहीं लगना चाहिए कि पार्टी जो बोलना चाह रही है मैं वही कह रही हूँ”। रिपोर्टर कोइना की बात को सहमति देते है। कोइना आगे कहती है, “मैं अपने हिसाब से लिखूँगी... कभी कभार उसको humor के साथ लिखना है कभी कभार उसको मस्ती मज़ाक करके लिखना है कभी कभी थोड़ा tease, taunt करके लिखना है जैसे मैंने कल भी लिखा था थोड़ा taunt करके मैंने लिखा था लोगो को पसंद आया”।

कोबरापोस्ट रिपोर्टर उधारण के तौर पर कहते है कि कुछ पप्पू के ऊपर तो कोइना बोलती है, “नहीं नहीं जैसे कि केजरीवाल को मैंने थोड़ा troll किया था... केजरीवाल को मैंने थोड़ा troll करके लिखा था उनका थोड़ा मज़ाक उड़ाके लिखा था public को बहुत पसंद आया वो क्योंकि official accounts ऐसा नहीं लिख सकते”। बातचीत में आगे कोइना ये भी खुलासा करती है कि स्टेट assembly इलैक्शन में वो इस तरह का काम कर चुकी है। बक़ौल कोइना, “हाँ क्योकि Karnataka के time पे मैंने किया था”।

पेमेंट की बात भी होती और डील 25 लाख महिना पर तय हो जाती है यानि तीन महीने के 75 लाख रुपए। पेमेंट mode 50 परसेंट काश और 50 परसेंट व्हाइट पर तय होता है। कोइना पूछती है, “50% जो white दोगे उसका GST”।

कोइना आगे खुलासा करती है कि उन्हे इस तरह का ऑफर काँग्रेस से भी आया था। कोइना कहती है, “उन्होने कहा था कि हमें party के बारे में बात करें उनके क्या क्या काम हो रहें है उसको थोड़ा highlight करे उनका अच्छा काम जो भी वो कर रहे है या कोई भी तरह का Election हो तो कुछ उस चीज को थोड़ा highlight करें तो social media पे तो उस वक्त तो मैंने उन्हे सीधा बोल दिया था कि I personally don’t follow this party”। 

बातचीत में आगे कोइना तीन महीने बाद अपनी फीस बढ़ाने की बात करती है, “नहीं doubt clear three months का आप करिए three months के क्योकि इतने दिन से मैं active नहीं थी अभी last three months से बहुत ज्यादा active हूँ तो मेरे publicist से बात करके इसको मैं थोड़ा boost करा दूँगी... ताकि three months के बाद उसको जो बाकी 5 months का है वो आप better करने की कोशिश करिए”।

रिपोर्टर जब कोइना को कहते है कि ये ध्यान रखना है कोई भी पोस्ट बीजेपी के खिलाफ न जाए तो कोइना कहती है, “नहीं वो तो जाएगा नहीं कभी कभी मैं दूसरी पार्टी को target करके भी लिखती हूँ”।

 

संभावना सेठ, टीवी प्रेज़न्टर, डांसर एवं एक्टर  

36 China Town फिल्म से अपनी पहचान बनाने वाली संभावना सेठ फिल्मों में आइटम सॉन्ग भी करती हैं। कई हिन्दी फिल्मों में काम कर चुकी संभावना आजकल भोजपुरी फिल्मों में ज्यादा सक्रिय हैं। वो टीवी शो बिग बॉस-2 में भी नजर आ चुकी हैं। उनका यूट्यूब चैलन भी डेढ़ लाख से ज्यादा subscriber के साथ खासा लोकप्रिय है। संभावना के ट्विटर पर करीब 93000, फ़ेसबुक पर करीब 1 लाख 23 हज़ार और इंस्टाग्राम पर 1 लाख 95 हज़ार से ज्यादा फॉलोअर   है।

हर विषय पर बेबाकी से बोलने वाली संभावना को भी कोबरापोस्ट रिपोर्टर बताते है कि उन्हे अप्रत्यक्ष रूप से अपने सोश्ल मीडिया अकाउंट से बीजेपी के पक्ष में माहौल बनाना है। संभावना सेठ जवाब देती है, “तो basically ये BJP का आप वो भी कर रहे हो जो भी आप client के लिए कर रहे हो। यहाँ हमारे पास best part ये है कि मैं BJP को ही support करती हूँ। obviously मेरे लिए और अच्छा है। हमारी पूरी entire family BJP के उसमें ही है”।  

संभावना सलाह देती है कि कंटैंट को वो अपने खुद के यूट्यूब चैनल पर भी डाल सकती है जिसके subscriber लाखों में है। संभावना कहती है, “उस पर डेढ़ लाख subscriber हैं डेढ़ से तो ज़्यादा ही हो गए हैं अब। लेकिन मतलब क्या है मेरी unit पूरा follow करता है काफी अच्छा.....basically मैं YouTube पे अपना काम डालती हूँ और blogs डालती हूं but ये एक अलग message जाएगा क्योंकि बहुत अच्छा overall भी है क्योंकि उसकी reach बहुत है”।

पेमेंट की बात आते ही संभावना कहती है, “देखो मैं आपको सारा आपको कुछ इधर उधर है तो मैं बता नहीं सकती हूं मैंने जो ये पहले ये किया था मैंने 75 में किया था I think और मेरे को कभी उन लोगों का मतलब ये था कि हम एक part payment आपको कर देते हैं और बाकी आपका हम cash देंगे....मुझे पता नहीं है आप लोगों का we need to talk about budget also I think ... जी से पता नहीं बात हुई या नहीं हुई”।

Mode ऑफ पेमेंट की बात पर जब संभावना को बताया जाता है कि पॉलिटिकल फंडिंग की वजह से रकम का ज़्यादातर हिस्सा कैश में ही होगा तो संभावना कहती है, “हाँ समझ गयी मैं...”। इस तरह 80 परसेंट कैश और बाकी 20 परसेंट व्हाइट में पेमेंट तय हो जाता है।

फीस की बात पर संभावना कहती है, “कम से कम मैं अगर आपका इतना लंबा अगर चलने वाला है तो मैं expect करूंगी कि कम से कम मेरे पास 50 तक तो आए anywhere between 50 तो 55 तो मैं बोलुंगी कि मुझे चाहिए”। रिपोर्टर संभावना से कहते है कि वो 45 फ़िगरआउट करके चल रहे थे तो संभावना कहती है, “मेरा ना actually जब आप देखोगे न कि मैं क्या कर रहीं हूं तो आप बाक़ी artist के बाद ये कहोगे कि इन्हीं को क्यों नहीं दे दिया। मैं इतनी इन चीजों में sharp हूं”।       

 

सलीम ज़ैदी, थिएटर, फिल्म एवं टीवी एक्टर   

सोश्ल मीडिया पर फिल्मी सितारों द्वारा पैसे लेकर किसी खास पार्टी या समुदाय को फायदा पहुंचाने के agenda की तहक़ीक़ात को आगे बढ़ाते हुए हमारे रिपोर्टर की अगली मुलाक़ात हुई television के जाने माने चेहरे और धारावाहिक भाभी जी घर पर हैं के एक मशहूर किरदार टिल्लू यानि सलीम ज़ैदी से। सलीम भाग मिल्खा भाग और विक्की डोनर जैसी हिट फिल्मों में भी काम कर चुके है। सलीम को ट्विटर पर लगभग 2 हज़ार, इंस्टाग्राम पर 10 हज़ार के करीब और फ़ेसबुक पर 6000 से ज्यादा लोग फॉलो करते है।  

खुद को एक PR company का employee बताते हुए कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने सलीम से पैसे लेकर बीजेपी के पक्ष में आने वाले चुनावों के मद्दे नज़र social media पर tweets और videos के जरिये promotion की बात कही। इस पर सलीम तैयार हो गए। सलीम कहते है, “उसे अपने शब्दों में....उस चीज़ को जो आपका concept है उसको बयां करना है”। सलीम पूरी तरह समझ जाते है और रिपोर्टर द्वारा स्वच्छ भारत अभियान को लेकर ट्वीट करने की सलाह पर बोलते है, “गंदगी के गुर्दे छील दिये मोदी जी ने...”

सलीम जैदी को सोश्ल मीडिया पर विपक्षी पार्टी के बड़े नेताओं का मज़ाक उड़ाने में भी कोई गुरेज नहीं था। सलीम कहते है, “अब जो पप्पू कह रहा है क्या कह रहा है वो दुनिया जानती है बस यहां पर ये कहना चाहेंगे कि खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे। कभी ये आ गया कभी कुछ आ गया....कम शब्दों में तीर लग जाए सटीक”।  

सलीम इस काम से जुड़ना चाहते थे। सलीम बोलते है, “अगर जुड़ना है तो पूरा आठ महीने तक जुड़ो देखो दो पैसे अगर मुझे मिल रहे हैं तो मेरा कम से कम जो भी advantage है वो मिलना चाहिए वो convey हो जाता है कि हां बंदा जो है वो जुड़ा हुआ है। अब election तक बंदा continue जुड़ा हुआ है वो एक theme को लेकर आ रहा है, mentally उनको strong कर रहा है, लेके आ रहा है लेके आ रहा है और election आ गए और आखिर में कह दिया भाई vote for BJP खत्म”।

15 मैसेज के 15 लाख रुपए महीना पर सलीम जैदी से डील फ़ाइनल हो जाती है। पेमेंट mode की बात आते ही सलीम पूछते है, “तो इसमें Black में देंगे या cheque में देंगे”? रिपोर्टर के ये कहने पर वो कैश में comfortable है, सलीम कहते है, “Cash ही सही है”।

 

उपासना सिंह, एक्टर एवं कॉमेडियन 

पंजाब के एक छोटे जिले से निकलकर बॉलीवुड के बडे पर्दे तक का उपासना सिंह का सफर बेहद अदभुत रहा है। Comedy Nights With Kapil शो के जरिए उनके किरदार बुआ को ख़ासी लोकप्रियता मिली। उपासना से कोबरापोस्ट रिपोर्टर की मुलाक़ात चंडीगढ एक फिल्म की शूटिंग के दौरान हुई। बीजेपी को 2019 में सत्ता में लाने के अजेंडा की बात पर उपासना कहती है, “मैं वैसे भी BJP के favour में हूँ मालूम है मैं BJP को सच में पसंद करती हूँ”।

उपासना ये भी सुनिश्चित करती है कि सोश्ल मीडिया पर पोस्ट करने से पहले वो हमारा approval लेंगी। उपासना कहती है, “तो वो मैं आपको पहले भेज दूँगी... फिर आपको लगेगा okay है तो फिर”। काँग्रेस पार्टी के नेताओं के बारे में भी उपासना अपनी बेबाक राय रखते हुए कहती है, “तो मैं फिर वो जो कि अगर वैसा हो तो Congress ये है Congress Sonia Gandhi है और ये असल में वो मुस्लिम है... जब real में जो Sonia Gandhi नहीं लेकिन उनके बच्चे... Indira गांधी के husband मुस्लिम थे... तो ये बच्चे मुस्लमान है तो वो मुस्लिम है तो वो पूरा तो कितना मैंने वो किया है देखो ऐसा नहीं कि मेरे को किसी मुस्लिम लेकिन मेरे को real में लगती हैं ये चीजे बहुत बुरी”। 

सोश्ल मीडिया पर महीने में पाँच कंटैंट डालने की बात पर उपासना पेमेंट के बारे में पूछते हुए कहती है, “तो वो आप cash देंगे”। उपासना के पेमेंट की बात पहले ही उनके एजेंट से हो चुकी थी। रिपोर्टर के ये बताने पर कि डेढ़ लाख प्रति ट्वीट यानि अगर 5 ट्वीट हो गए तो साढ़े सात  लाख रुपए उन्हे मिलेंगे। इस पर उपासना पूछती है, “तो वो आप कैसे वहाँ पे Bombay कौन आया करेगा”।     

 

बाबा सहगल, हिन्दी रैप गायक, एक्टर एवं म्यूजिक डाइरेक्टर  

90 के दशक में अपनी Rap एल्बम ठंडा ठंडा पानी से मशहूर हुए बाबा सहगल का दूरदर्शन पर सुपरहिट मुक़ाबला प्रोग्राम भी काफी हिट हुआ था। बाबा ने फिल्मों में भी हाथ आजमाया। सोश्ल मीडिया पर हरजीत सिंह सहगल उर्फ बाबा सहगल के ट्विटर पर 2 लाख से ज्यादा, फ़ेसबुक पर लगभग 2 लाख 70 हज़ार और इंस्टाग्राम पर 2 लाख से ज्यादा फॉलोअर है। कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने बाबा सहगल से मिलने के वक़्त मांगा लेकिन उन्होने अपने को busy बताया और सारी बातें फोन पर ही की।

रिपोर्टर ने बाबा को बताया कि उन्हे बीजेपी के लिए अप्रत्यक्ष रूप से सोश्ल मीडिया पर पॉज़िटिव मैसेज पोस्ट करने है। बाबा जवाब देते है, “हाँ समझ गया मैं। समझ गया मैं करते हैं हम लोग ऐसा बहुत बारी किया है”। मिलने की बात पर बाबा कहते है, “नहीं नहीं भैया, मैं ऐसे मिलता नहीं हूँ। फोन पे ही सब होता है। मैं travel कर रहा हूँ”।

पेमेंट की बात पर बाबा सहगल कहते है, “we normally जो भी एक tweet का जो भी एक post का हम लोग 2 लाख रुपए charge करते हैं... मतलब एक का अगर आपका मान लो 15 हुए तो 30 हो गया plus GST”. रिपोर्टर जब पूछते है कि क्या वो सही में बाबा सहगल से बात कर रहे है तो बाबा जवाब देते है, “मतलब नहीं मिलने का भी ऐसा आजकल सब फोन पे आप सही आदमी से ही बात कर रहे हो don’t worry”. कंटैंट की बात पर बाबा कहते है, “वो क्या करेंगे ना जब भी हम कुछ post करेंगे कुछ मेरे को change करना होगा तो मैं आपको message कर दूंगा confirmation के लिए कि ये मैंने rhyme… because मेरा क्या rhyming बहुत चलता है”। 

कुछ दिनों बाद रिपोर्टर की फिर बाबा सहगल से फोन पर बात होती है। पेमेंट mode की बात पर बाबा कहते है, “मैं ले सकता हूँ आपका क्या है मेरे को 50%, आपने बोला 30-40 जितना भी आप कर सकते हो”। रिपोर्टर जब बाबा सहगल को बताते हैं कि वो 20 परसेंट से ज्यादा व्हाइट में नहीं दे सकते तो बाबा बोलते है, “अरे बाप रे बाप, अच्छा तो फिर cash का कैसे फिर”। लेकिन बाद में बाबा कहते है, “ठीक है तो आप देखो कि कैसे How do you want to start? कैसे करना है”।

 

अमन वर्मा, टीवी एंकर एवं एक्टर  

सास भी कभी बहू थी सीरियल से पहंचान पाने वाले अमन यतन वर्मा से कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने मुलाक़ात की। अमन वर्मा ने कई अधिक फिल्मों मे भी काम किया है। अमन वर्मा को दो बार बेस्ट मेल एक्टर का इंडियन टेलिविजन अवॉर्ड भी मिल चुका है। साल 2005 मे अमन का नाम विवादों मे तब आया था जब एक निजी चैनल ने कास्टिंग काउच के मुद्दे पर अमन वर्मा का स्टिंग ऑपरेशन किया था। अमन के ट्विटर पर 8 हज़ार से ज्यादा, फ़ेसबुक पर करीब 3500 और इंस्टाग्राम पर 48 हज़ार से ज्यादा फॉलोअर है। अमन को रिपोर्टर ने बताया कि किस तरह उन्हे बीजेपी के favor में अप्रत्यक्ष रूप से अपने tweet और messages करने होंगे ताकि उनके followers को पार्टी की positive छवि बताई जाएँ। अमन सवाल करते है, “नहीं तो आपके you also must be having any kind of system in terms of कि आप इस तरह से what are the payments that you”?  

रिपोर्टर जब अमन को बताते है कि 2019 उनका टार्गेट है तो अमन कहते है, “नहीं-नहीं वो मैं समझ गया। वो मैं ये ही सोच रहा था कि सारी चीजें अभी चालू हो जाएंगी। कर्नाटका के election की सारी चीजें आ गयी हैं... कितना 104?... 104 है ना... Fantastic. I agree, I completely agree. I think what BJP has done in last 4 years it is very-very commendable and if given another chance definitely बहुत आगे, हाँ कुछ चीजों में they should have little more”.

अमन वर्मा बताते है कि उनके पास ऐसे ऑफर आते रहते है। बक़ौल अमन, “आप मुझे अपना जो भी आप offer कर रहे हैं देखिये मेरे पास इस तरह के बहुत सारे offers आते रहते हैं। तो मैं उनसे पूछता हूँ आप मुझे अपना बताइये कि क्या है? आपका ये tweet इन सबका है। मेरा एक package अभी कई लोगों के साथ मैं जुडने वाला हूँ... तो suddenly मेरे followers बढ़ जाएंगे in the span of 1 month. पहले एक महीने में so अगर उसमें भी हम कुछ कर सकते हैं तो we can work upon that.”

50 हज़ार रुपए पर मैसेज हमारे रिपोर्टर अमन वर्मा को ऑफर करते है। अमन पूछते है कि पैसा कैसे आएगा। रिपोर्टर अमन से कहते है आप किस mode of payment में comfortable हैं। हमारे पास दोनों options हैं। रिपोर्टर आगे पूछते है, “मतलब आप cash में लेना चाहते हैं पूरा या कुछ part”. अमन जवाब देते है, “I would love all in cash”.

 

हितेन तेजवानी और गौरी प्रधान, टीवी एक्टर  

हितेन तेजवानी और गौरी प्रधान को धारावाहिक “क्योंकि सास भी कभी बहू थी” से काफी सुर्खियां मिली। टीवी के अलावा हितेन ने कृष्णा कॉटेज, वास्तव और अनवर जैसी फिल्मों में भी काम किया है। इसके अलावा हितेन colors चैनल के बहुचर्चित show Big Boss season 11 का हिस्सा भी रह चुके हैं। हितेन के ट्विटर पर करीब 1.28 लाख, फ़ेसबुक पर 73 हज़ार से ज्यादा और इंस्टाग्राम पर 5.42 लाख से ज्यादा फॉलोअर है।  

अप्रत्यक्ष रूप से सोश्ल मीडिया पर बीजेपी के पक्ष में पोस्ट डालने के सवाल पर हितेन कहते है, “हां वो तो एक बार करने पर आएंगे तो बहुत कुछ कर सकते हैं”। पोस्ट डालने को लेकर बातचीत में आगे हितेन सलाह देते है, “अचानक से नहीं वो लोगों को समझ में आ जाएगा....ये जो लोग करते हैं जो बीच में खुराफाती लोग बैठे हैं। वो उठाएंगे कि इसको BJP का मिला है इसने डाला है”।

रिपोर्टर जब पूछते है कि आपको कोई doubt तो नहीं है तो हितेन जवाब देते है, “नहीं नहीं समझ में आ गया clear है.....आप महीने के 3-4 tweet”. हितेन को बताया जाता है कि पॉलिटिकल पैसा सारा कैश में ही है तो हितेन कहते है, “हाँ better रहेगा क्यों बताऊँ मैं आपको ये साला GST एक bamboo है हर महीने आपको भी bamboo है मेरे को भी bamboo है...मैंने अगर इधर invoice आपको raise कर दिया तो मेरे को उसका आता है 20 तारीख को चलो sir ये है आपका calculation monthly भर दो online”.

1 लाख रुपए पर मैसेज के पेमेंट की बात पर हितेन कहते है, “ठीक है तो हम लोग अगर minimum 15 का होता है तो its fine मतलब per month 15 lakh minimum होता है then it works fine”. हितेन ने बाद में फोन पर बताया कि उनकी wife भी अपने twitter, facebook और Instagram से इस तरह के मैसेज कर सकती हैं। हितेन ने हमारी मुलाक़ात गौरी से कराई। हितेन गौरी को सब समझा चुके थे। गौरी के ट्विटर पर 32 हज़ार से ज्यादा  फॉलोअर है। रिपोर्टर गौरी को बताते है कि उन्हे आने वाले elections के लिए खास तौर पर women centric मुद्दों पर BJP का अप्रत्यक्ष रूप से सपोर्ट करना है अपने सोश्ल मीडिया अकाउंट के जरिए। गौरी कहती है, “वो तो समझ गई। content आप देंगे या हमारा”।

रिपोर्टर गौरी को बताते है कि आप दोनों को 27 लाख रुपए महीना मिलेंगे जिसमें 15 लाख हितेन को और 12 लाख गौरी को शामिल है। इस रकम का 80 परसेंट हिस्सा कैश में मिलेगा। गौरी जवाब देती है, “बताया मुझे”। रिपोर्टर जब बातचीत में कहते है कि आपको सब पॉज़िटिव चीजें ही बतानी है तो हितेन गौरी को समझते हुए कहते है, “हाँ-हाँ। हमें positive क्योकि हम लोग Pro BJP हो गए ये याद रखना। कभी anti बोलना मत, किसी interview में भी नहीं”।

 

राहुल भट्ट, एक्टर एवं टीवी प्रोड्यूसर  

जय गंगाजल और उगली जैसे फिल्मों में काम कर चुके और तुम देना साथ मेरा सीरियल के प्रोड्यूसर राहुल भट्ट के ट्विटर पर लगभग 12 हज़ार और इंस्टाग्राम पर करीब 1600 फॉलोअर है। कोबरापोस्ट रिपोर्टर राहुल भट्ट को बताते है कि उन्हे अप्रत्यक्ष रूप से अपने सोश्ल मीडिया अकाउंट के जरिए काँग्रेस पार्टी के पक्ष में मैसेज करने है ताकि पार्टी की छवि बन सके। राहुल कहते है, “Okay तो उसमें क्या मुझे क्या मिलेगा कैसे करेंगे ये”।

12 कंटैंट और 30 लाख रुपए महीना में राहुल भट्ट से डील तय होती है। इसमें उन्हे अपने हर सोश्ल मीडिया अकाउंट से यूपीए की नीतियों का पक्ष लेना होगा। कई मुद्दों पर defend भी करना है। राहुल कहते है, “नहीं वो तो मैं करुंगा परसों से that no problem मैं तो मेरे पास time ही नहीं है social media पर जाने के लिए but know that अगर तुम लोग ऐसा करोगे and I will making money out of it then I will go. I will go all out”. राहुल भट्ट से जब ये पूछा जाता है कि mode ऑफ पैमेंट क्या पसंद करेंगे तो राहुल जवाब देते है, “ये तो cash में ही होना चाहिए better है”।

 

पूनम पांडे, मॉडल एवं एक्टर 

अक्सर अपने तस्वीरों और वीडियो के लिए चर्चा में रहने वाली मॉडल और अभिनेत्री पूनम पांडे से कोबरापोस्ट रिपोर्टर की मुलाक़ात मुंबई के एक फाइव स्टार होटल में हुई। पूनम पांडे के ट्विटर पर करीब 8.80 लाख, फ़ेसबुक पर 23 लाख से ज्यादा और इंस्टाग्राम पर 20 लाख से ऊपर फॉलोअर है। रिपोर्टर पूनम पांडे को बताते है कि कैसे उन्हे अपने सोश्ल मीडिया अकाउंट के जरिए अप्रत्यक्ष रूप से बीजेपी के माहौल बनाना है। रिपोर्टर कहते है कि आपको बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, स्वच्छ भारत, उज्ज्वला और नमामि गंगे जैसी योजनाओ के बारे में अच्छी बातें लिखनी है। पूनम को ये भी बताया जाता है कि कुछ मुद्दो पर उनको काँग्रेस नेता राहुल गांधी की आलोचना भी करनी है। पूनम कहती है, “हम लोग basically content हम लोग बात करके we can short it out वो कर सकते है”।

रिपोर्टर पूनम पांडे को बताते है कि ये एक गुप्त अजेंडा है। उन्हे बीजेपी का पक्ष इस तरह से रखना है कि उनके फॉलोअर को ये न लगे कि वो बीजेपी प्रवक्ता की तरह ये काम कर रही है। पूनम जवाब देती है, “हां वही मेरा main concern था मैंने जब Goldy से जब तक मैंने बात की and he cleared that part उन्होने बहुत clearly मुझे ये बोला कि silent most basically आपका उनका नाम कहीं पर obvious”.

बातचीत में आगे रिपोर्टर कहते है कि अपने ट्वीट्स के जरिए आप उज्जवला योजना की तारीफ कर सकती है और साथ ही इससे लेकर कुछ सुझाव भी दे सकती है। इस पर पूनम कहती है, “हां हां वो थोड़ा सा practical भी हो जाएगा और वो बहुत obvious वो नहीं लगेगा वो मतलब वो वैसे हो जाए तो वो ज्यादा अच्छा है because then जो मेरे followers जो हैं वो they would think that’s the reality this is me speaking”. रिपोर्टर पूनम से पूछते है कि उन्हे सब समझ में आ गया है न कोई confusion तो नहीं है। पूनम जवाब देती है, “नहीं नहीं नहीं एक दम perfect”.

कोबरापोस्ट रिपोर्टर आगे पूनम पांडे से पूछते है कि उनका कोई सुझाव है जिससे अजेंडा को और बैहतर बनाया जा सके तो पूनम कहती है, “सर आपने अभी जितनी भी बातें बोली हैं आपने already वही चीज mention की है जो मेरे दिमाग में था जो मुझे already आ के पूछना था Goldy cleared that part कि ये बहुत obvious नहीं होना चाहिए जो मैं भी नहीं चाहती कि because हम कभी कुछ post करते हैं team post it should not it never looks like you know she is promoting something obvious obvious है तो अगर मैं उसको of course हमारे mutual conversation के बारे में if I right something if I also mention अगर ये ऐसा होता है तो वैसा भी हो सकता था what I am saying तो वो बहुत real लगेगा... It has to look exactly...it has to look real नहीं तो वो एक हम लोग”.   

पूनम पांडे को बताया जाता है कि पेमेंट का 80 परसेंट हिस्सा उनको कैश में मिलेगा और बाकी का 20 परसेंट हिस्सा ही व्हाइट में मिलेगा और यही हिस्सा कांट्रैक्ट में दिखाया जाएगा। कांट्रैक्ट में ये दिखाया जाएगा कि आप एक प्रॉडक्ट को endorse कर रही है। पूनम पांडे जवाब देती है, “Okay okay I get it”. रिपोर्टर जब पूछते है कि आपको इससे कोई दिक्कत तो नहीं तो पूनम जवाब देती है, “Absolutely no”. तीनों सोश्ल मीडिया प्लेटफॉर्म पर 15 मैसेज और 45 लाख रुपए महिना डील तय हो जाती है। इसका 80 प्रतिशत हिस्सा यानि 36 लाख रुपया कैश में मिलेगा इस पर coordinator गोल्डी कहता है, “वो cash में कोई issue नहीं है”।

 

महिमा चौधरी, बॉलीवुड एक्टर  

साल 1990 में मिस इंडिया का खिताब जीतने वाली ऋतु चौधरी उर्फ महिमा चौधरी को असली पहंचान मिली सुभाष घई की फिल्म परदेस से। महिमा चौधरी साल 2015 में फिर एक बार सुर्खियों में तब आई जब उनका नाम स्विस बैंक में खाता रखने वाले 628 भारतीयों में लिया गया। कोबरापोस्ट रिपोर्टर ने महिमा से उनके मुंबई स्थित आवास पर मुलाक़ात की। महिमा पूछती है, “झूठमूठ के tweets, कितना मिलेगा”?

रिपोर्टर महिमा को बताते है कि ये अजेंडा 8-9 महीने तक चलेगा और आपको अपने सोश्ल मीडिया अकाउंट से अप्रत्यक्ष रूप से एनडीए सरकार की उपलब्धियों का अपने शब्दों में प्रचार करना है। साथ ही साथ कुछ मुद्दों पर सरकार का बचाव भी करना है। लेकिन ये सब इस तरह से करना है कि आपके फॉलोअर को लगे कि ये आपके अपने विचार है, आपका अपना स्टाइल है। महिमा कहती है, “हाँ मतलब It should look genuine”.

महिमा चौधरी अजेंडा को बखूबी समझ जाती है। बक़ौल महिमा, “And plus everybody will start thinking like that, brain wash”. बातचीत में आगे जब पैसों की बात आती है तो महिमा कहती है, “BJP? BJP तो कुछ भी दे सकती है? They can give 1 crore a month”. महिमा बातचीत में आगे पूछती है, “हाँ। ये आप पैसे दोगे कैसे”? रिपोर्टर कहते है चूंकि आपका ट्विटर अकाउंट नहीं है इसलिए आपके 10 मैसेज ही पोस्ट होंगे। महिमा बात को बीच में ही काटते हुए बोलती है, “नहीं अगर फिर आएंगे ना हम twitter पे”। यानि इस काम के लिए महिमा चौधरी ट्विटर पर आने के लिए तैयार थी।

बातचीत में आगे कोबरापोस्ट रिपोर्टर महिमा चौधरी से पूछते है उनको कोई doubt तो नहीं है? महिमा जवाब देती है, “नहीं कोई doubt नहीं है”। महिमा कहती है कि सरकार की नीतियों के खिलाफ लोगों में गुस्सा है। रिपोर्टर महिमा को सलाह देते है की उन्हे इस तरह के ट्वीट नहीं करने है तो महिमा कहती है, “अगर आपने ढंग का पैसा नहीं दिया तो मैं Congress के तरफ से कर दूँगी”। बाद में रिपोर्टर की महिमा चौधरी से फोन पर भी बात होती है जिसमे महिमा कहती है कि आप कांट्रैक्ट भेज दीजिए ताकि मैं आपको अपनी बैंक डीटेल और PAN भेज सकूँ।                

कोबरापोस्ट का यह खुलासा एक और सच्चाई आपके सामने लाता है। ज्यादातर सेलिब्रिटीज पैसा लेकर सोश्ल मीडिया पर तमाम तरह की कंपनियों के प्रॉडक्ट को प्रॉक्सि-प्रोमोट करती हैं। हमारे इस खुलासे से एक और सच्चाई सामने आती है। राजनीतिक दल मतदाताओं का रुख अपने पक्ष में करने के लिए ऐसे बिकाऊ सेलिब्रिटीज का उपयोग भी करते हैं।

हमारी तहक़ीक़ात के मद्देनज़र जन-साधारण के लिए यह जानना ज़रूरी है कि जिन सितारों-कलाकारों को आप सर-आँखों पर बिठाये रखते हैं और जिनकी बातों को आप आँख मूंदकर सच मानते हैं क्या वो किसी राजनीतिक दल के पक्ष में आपके मत को प्रभावित तो नहीं कर रहे हैं? कहा जा सकता है कि ऐसा वो निजी तौर पर कर रहे हैं, सो इसमें क्या हानि है। असल मुद्दा हानि या लाभ का नहीं, बल्कि इससे लोकतन्त्र के लिए पैदा होने वाला खतरा है। पैसे लेकर ऐसे लोकप्रिय सितारे-कलाकार आपकी सोच और इस तरह चुनाव की प्रक्रिया को प्रभावित करते हैं।

यहाँ हम स्पष्ट करते चलें कि इस तहक़ीक़ात में कुछ राजनीतिक दलों के नाम लिए गए हैं। इसके पीछे हमारा मन्तव्य सिर्फ सच्चाई को उजागर करना है और कुछ नहीं। इसका किसी भी तरह से यह आशय नहीं लगाया जाये कि जिन राजनीतिक दलों का नाम तहक़ीक़ात के लिए लिया गया है वो सच में ऐसा करते हैं या करते होंगे। 

महिमा चौधरी का पक्ष जानने के लिए कोबरापोस्ट ने ईमेल के जरिए कुछ प्रश्न भी भेजे थे। महिमा चौधरी ने ईमेल का जवाब देते हुए लिखा, “No I didn’t agree to it. I’m not active on social media as u can see which is what I told them. Your representatives offered cash I said I don’t take cash clearly. You can check recordings. CLEARLY”.                                               


If you like the story and if you wish more such stories, support our effort Make a donation.




Loading...

If you believe investigative journalism is essential to making democracy functional and accountable support us. »