अमेरिका से अजीत डोभाल को आया फोन, कहा आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान झुकने को तैयार!

0
आतंकवाद

आतंकवाद के मुद्दे पर चौतरफा घिरा पाकिस्तान इस वक्त पूरी तरह बौखलाया हुआ है। कई बार अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर अपनी थू-थू करवाने के बाद पाकिस्तान कहीं भी मुंह दिखाने लायक नहीं रहा। कश्मीर के मुद्दे पर उसे यूएन में फटकार मिली तो अमेरिकी अखबारों ने भी पाकिस्तान की खूब धज्जियां उड़ाईं। विश्व भर में अलोचना सहने के बाद आखिरकार लगता है कि पाकिस्तान को थोड़ी अक्ल आ गई है।

अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सूसन राइस ने अपने भारतीय समकक्ष अजीत डोभाल से बातचीत में उरी आतंकवादी हमले की निंदा करते हुए कहा कि व्हाइट हाउस को पाकिस्तान की ओर से “यूएन द्वारा चिह्नित आतंकवादी गुटों से लड़ने और उन्हें अवैध घोषित करने की दिशा में प्रभावी कदम” उठाए जाने की उम्मीद है।

इसे भी पढ़िए :  पाकिस्तान: कराची के होटल में आग लगने से 11 लोगों की मौत, 75 घायल

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (NSC) के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा, “राइस ने हमारी उम्मीद को दोहराया कि पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र द्वारा आतंकवादी घोषित किए गए आतंकवादियों और आतंकी संगठनों, जिनमें लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और उनके सहयोगी संगठन शामिल हैं, से लड़ने और उन्हें अवैध घोषित करने की दिशा में प्रभावी कदम उठाएगा…”

इसे भी पढ़िए :  मजबूरी - 'सेना को मालूम है कहां छिपे हैं आतंकी, लेकिन मार नहीं सकती'

जम्मू एवं कश्मीर के उरी में स्थित भारतीय सेना के ब्रिगेड हेडक्वार्टर पर 18 सितंबर को हुए आतंकवादी हमले के बाद अजीत डोभाल से फोन पर हुई पहली बातचीत में सूसन राइस ने हमले की कड़ी निंदा की, और शहीदों व उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की।

 नेड प्राइस के मुताबिक, “उन्होंने (सूसन राइस ने) राष्ट्रपति (बराक) ओबामा की दुनियाभर में आतंकवाद के साजिश रचने वालों को न्याय के कठघरे में खड़ा करने की प्रतिबद्धता को दोहराया…”

इसे भी पढ़िए :  ‘कश्मीर में हिंसा भड़का रहा पाक, हमारे जवान निपट लेंगे’

नेड प्राइस ने यह भी कहा, “राइस ने क्षेत्रीय स्थिरता तथा शांति बनाए रखने के प्रति भारत के साथ मिलीजुली प्रतिबद्धता पर भी चर्चा की, और आतंकवाद के खिलाफ सहयोग को और गहरा करने की वचनबद्धता जताई…”

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY