केवल वोट पाने के लिए भाजपा ने अच्छे दिन का नारा दिया: कांग्रेस

0
अच्छे दिन आ गए

 

दिल्ली:

कांग्रेस ने नितिन गडकरी के ‘‘अच्छे दिन’’ की टिप्पणी पर आज मोदी सरकार पर चुटकी लेते हुए कहा कि भाजपा ने वादे और नारे चुनावों में केवल वोट ‘‘हासिल’’ करने के लिए दिए थे और उन्हें ‘‘कभी पूरा नहीं’’ करेगी।

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने कहा कि भाजपा के पूर्व अध्यक्ष गडकरी ने सार्वजनिक रूप से स्वीकार किया है कि भाजपा शासन के दौरान ‘‘अच्छे दिन’’ कभी नहीं आएंगे और वर्तमान गति से इसे आने में सौ वर्ष लगेंगे। उन्होंने दस उदाहरण गिनाए कि किस तरह यह सरकार लोगों को ‘‘मूखर्’’ बनाने का प्रयास कर रही है।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘भारतीय जनता ‘जुमला’ पार्टी के लिए ‘अच्छे दिन’ अरूचिकर बन गए हैं, मोदी का इकोनॉमिक्स ‘जुमला-कॉमिक्स’ बन गया है। अमित शाह ने कुछ दिन पहले जो कहा था उसे नितिन गडकरी ने अब सार्वजनिक रूप से कहा है।’’ उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘ऐसा कहकर उन्होंने पूरे देश के लोगों का अपमान किया है। यह दयनीय होने के साथ ही दुर्भाग्यपूर्ण भी है क्योंकि इसने गलत वादों का भंडाफोड़ कर दिया है। आज यह धोखा सामने आ गया है।’’ सिंघवी ने कहा कि इस सरकार के असली रंग अब खुलकर सामने आ गए हैं जब यह आधा कार्यकाल पूरा करने जा रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा प्रमुख के बाद पार्टी के एक अन्य पूर्व अध्यक्ष ने अब स्वीकार किया है कि चुनावों से पहले किया गया ‘अच्छे दिन’ का वादा कभी पूरा नहीं होगा।

इसे भी पढ़िए :  SC ने IIT-JEE में काउंसलिंग और एडमिशन पर लगाई रोक

उन्होंने कहा, ‘‘यह केवल स्वप्न की दुनिया का मुद्दा है। आगामी समय में यह कभी पूरा नहीं होगा।’’ उन्होंने कहा कि यह लहर देश के 125 करोड़ लोगों को केवल मूर्ख बनाने के लिए पैदा की गयी थी लेकिन असलियत सामने आने लगी है।

इसे भी पढ़िए :  कोई सच्चा हिन्दू कभी महात्मा गांधी की हत्या नहीं कर सकता था: कांग्रेस

उन्होंने कहा, ‘‘जुमले, नारेबाजी, आंकड़ों की बाजीगरी, फर्जीवाड़ा, दुष्प्रचार और लोगों को मूर्ख बनाना सरकार का ट्रेडमार्क बन गया है। इसलिए हम कहते हैं कि मोदी सरकार ‘जुमला’ सरकार हो गई है।’’

कांग्रेस नेता मनु सिंघवी ने कहा कि यह सब भाजपा द्वारा किया गया दुष्प्रचार था जिसने अब लोगों के सामने हाथ खड़े कर दिए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने लोगों से कई बार हाथ खड़े करवाए और आज उन्होंने लोगों के सामने खुद ही हाथ खड़े कर दिए। मेरा मानना है कि वर्तमान गति से ‘अच्छे दिन’ आने में सौ वर्ष लगेंगे। मोदी सरकार कम से कम इतना समय लेगी।’’ सिंघवी ने कहा कि प्रशासन या सुशासन का मामला नहीं है बल्कि लोगों को मूर्ख बनाने और उन्हें ठगने का मामला है।

इसे भी पढ़िए :  शहीद हेमराज के भाई का मोदी से सवाल, और कितने सैनिकों के सिर कटवाएगी सरकार?

अपनी बात को साबित करने के लिए उन्होंने कहा कि जीडीपी दर को सात से साढ़े सात फीसदी दिखाया गया है लेकिन वास्तव में यह पांच से साढ़े पांच फीसदी है जबकि सत्ता में आने के सौ दिन के अंदर 80 लाख करोड़ काला धन वापस लाने का वादा किया गया था और हर भारतीय के खाते में 15 लाख रूपये देने को कहा गया था जो कहीं नहीं दिख रहा है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY