पंजाब चुनाव से पहले बीजेपी को याद आए गुरू गोबिंद सिंह!

0

नई दिल्ली। सरकार ने सिखों के दसवें गुरू..गुरू गोबिंद सिंह की 350वीं जयंती धूमधाम से मनाने का फैसला किया है। और इसके लिए 100 करोड़ रुपये का भारी भरकम बजट भी तैयार किया गया है। इसकी जानकारी पीएम मोदी ने सिख योद्धा बाबा बंदा सिंह के 300वें शहीदी दिवस पर एक समारोह को संबोधित करते वक्त दी। मोदी ने कहा कि इस कार्यक्रम के लिए एक उच्च स्तरीय राष्ट्रीय समिति का निर्माण किया जाएगा। ये समिति समारोह की योजना का खाका तैयार करेगी।
पीएम मोदी कहा, ‘भारत सरकार गुरु गोविंद सिंह की 350वीं जयंती समारोह को पूरे देश के कोने-कोने में मनाएगी। यह दुनिया में हर उस जगह मनाई जाएगी जहां भारतीय रहते हैं। उन्होंने कहा, ‘इसके लिए भारत सरकार ने 100 करोड़ रुपये की राशि निश्चित की है। इन समारोहों के आयोजन को देखने के लिए एक उच्च स्तरीय समिति बनाई जा रही है।’ इन समारोहों के आयोजन के लिए पंजाब सरकार भी इतनी ही राशि का योगदान करेगी।
आपको बता दें कि गुरु गोविंद सिंह सिखों के दसवें एवं अंतिम गुरु थे जिनका जन्म 22 दिसंबर 1666 को हुआ था। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘ऐतिहासिक समारोहों के आयोजन से हम अपनी भविष्य की पीढ़ियों को उनकी जड़ों से जोड़ते हैं। जो लोग इतिहास भूल जाते हैं, वे इतिहास नहीं रच सकते। जो अपनी ऐतिहासिक जड़ों से जुड़े होते हैं, केवल वे ही इतिहास रच सकते हैं।’
गुरू गोबिंद सिंह जयंती समारोह का ऐलान करने के पीछे, बीजेपी की जो भी मंशा रही हो लेकिन कुछ लोगों का ये भी मानना है कि ये एक चुनावी हथकंडा है। आगामी पंजाब चुनावों में वोटरों को लुभाने के लिए बीजेपी ने ये दांव खेला है।

इसे भी पढ़िए :  नीतीश कुमार के इस्तीफे से निराश हुई कांग्रेस

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY