रियो ओलंपिक: पहला दिन भारत ने हाकी में जीत के साथ किया आगाज, पेस बोपन्ना बाहर

0

दिल्ली
भारतीय पुरूष हाकी टीम ने ओलंपिक में 12 साल पुराना कलंक धोते हुए पहला ग्रुप मैच जीत लिया जबकि टेनिस स्टार लिएंडर पेस का दूसरा पदक जीतने का सपना टूट गया जब वह अपने साझेदार रोहन बापन्ना के साथ युगल वर्ग के पहले ही दौर में बाहर हो गए ।

दिन की शुरूआत सेना के नौकायन खिलाड़ी दत्तू बबन भोकानाल के पुरूषों के एकल स्कल में क्वार्टर फाइनल में प्रवेश के साथ हुई ।

महिला निशानेबाज अपूर्वी चंदेला और अयोनिका पाल 10 मीटर एयर राइफल में फ्लाप रही और क्वालीफिकेशन दौर से ही बाहर हो गई । वहीं टेबल टेनिस में मोउमा दास और मनिका बत्रा भी प्रारंभिक दौर में बाहर हो गई ।

पुरूष हाकी में ड्रैग फ्लिकर रूपिंदर पाल सिंह के दो गोल और वी आर रघुनाथ के एक गोल की मदद से भारत ने आयरलैंड को हराकर पिछले 12 साल से ओलंपिक में पहला मैच हारने का सिलसिला तोड़ा ।

इसे भी पढ़िए :  रियो ओलिंपिक से पहले भारत को लगा एक और बड़ा झटका

रघुनाथ और रूपिंदर ने सात में से तीन पेनल्टी कार्नर भुनाये । भारत ने सिडनी ओलंपिक 2000 के बाद से पहली बार ओलंपिक में पहला मैच जीता है ।

आयरलैंड के लिये जेरमिन जान और कोनोर हर्टे ने गोल किये ।

टेनिस में पेस और बोपन्ना को पहले ही दौर में पोलैंड के मार्सिन मैत्कोवस्की और लुकास कुबोट ने 6 . 4, 7 . 6 से मात दी ।

अपना रिकार्ड सातवां और आखिरी ओलंपिक खेल रहे पेस का दूसरा ओलंपिक पदक जीतने का सपना टूट गया । वह 1996 के अटलांटा ओलंपिक में कांस्य पदक जीत चुके हैं।
पहले दौर के मैच से पूर्व हुए विवादों से टीम को नुकसान ही हुआ और कोर्ट पर उनके बीच जरा भी तालमेल नजर नहीं आया । पेस का आखिरी ओलंपिक मैच विवादों की पृष्ठभूमि में खत्म हो गया । विश्व टीम टेनिस खेलने के बाद यहां उनके देर से पहुंचने पर सवाल उठे और इसके बाद खेलगांव में उन्हें अपार्टमेंट में कमरा नहीं मिलने पर विवाद पैदा हुआ ।

इसे भी पढ़िए :  कोच गोपीचंद की पत्नी ने खोले सिंधू की सफलता के राज

दिन की शुरूआत पुणे के 25 वर्षीय भोकानल ने नौकायन में 2000 मीटर रेस में पहली हीट में तीसरे स्थान पर रहकर की । उसने सात मिनट 21 . 67 सेकंड का समय निकाला । वह क्यूबा के एंजेल एफ रौद्रिगेज और मैक्सिको के जुआन कालरेस कैबरेरा से पीछे रहा ।

एशिया ओशियाना क्वालीफायर में रजत पदक जीतकर क्वालीफाई करने वाले भोकानल ने पहले 500 मीटर के बाद दूसरे स्थान पर कब्जा कर लिया था लेकिन बाद में वह पिछड़ गया ।

भोकानल के प्रदर्शन ने जहां भारतीय खेमे में उत्साह का संचार किया, वहीं निशानेबाजी रेंज पर दोनों महिला निशानेबाज शुरूआती दौर में बाहर हो गई ।

चंदेला 411 . 6 का स्कोर करके 51 निशानेबाजों में 34वें स्थान पर रही जबकि पाल 403 के स्कोर के साथ 47वें स्थान पर रही । चीन की डू ली ने नये ओलंपिक रिकार्ड के साथ 420 . 7 का स्कोर किया ।

इसे भी पढ़िए :  शर्मनाक: दिल्ली मेट्रो में नहीं दी मुस्लिम बुजुर्ग को सीट, कहा-'ये सीट पाकिस्तानियों के लिए नहीं है'

चंदेला कोरिया में 2015 आईएसएसएफ विश्व कप में दस मीटर एयर राइफल में तीसरे स्थान पर रहकर ओलंपिक के लिये क्वालीफाई कर सकी थी । वहीं उसने म्युनिख में विश्व कप फाइनल में रजत पदक जीता था ।

वहीं पाल ने जनवरी में एशियाई ओलंपिक क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में रजत पदक जीतकर क्वालीफाई किया था ।

महिला टेबल टेनिस खिलाड़ी मोउमा दास और मनिका बत्र पहले दौर के एकल मुकाबलों में उंची रैंकिंग वाले प्रतिद्वंद्वियों से हारकर बाहर हो गई ।

दुनिया की 150वें नंबर की खिलाड़ी मोउमा को 58वीं रैंकिंग वाली रोमानिया की डेनियला डूडीन ने 11 . 2, 11 . 7, 11 . 7, 11 . 3 से हराया ।

दूसरी ओर मनिका को 60वीं रैंकिंग वाली पोलैंड की कैटरिना फ्रेंक जी ने 10 . 12, 11 . 6, 14 . 12, 8 . 11, 11 . 4, 14 . 12 से हराया ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY