बुनियादी ढांचे को सुधारने के लिए 1500 अरब डॉलर के निवेश की जरूरत: वित्त मंत्री

0

दिल्ली
भारत के वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कहा है कि भारत में ढांचागत बुनियादी विकास के लिए 10 सालों में 1500 अरब डॉलर के निवेश की जरूरत है। एआईआईबी के निदेशक मंडल की बैठक में भाग लेने चीन गए जेटली ये बातें कहीं। अरूण जेटली ने कहा, “वैश्विक नर्मी के दौर में हम निरंतर वृद्धि हासिल करने में सफल रहे हैं। इसका कारण भारत का बुनियादी ढांचा निर्माण है। जहां काफी अंतर है”। आगे वित्तमंत्री ने कहा कि “अगले दशक हमें बुनियादी ढांचे के इस अंतर को दूर करने के लिए 1500 अरब ड़ॉलर के निवेश की जरूरत है। कीमतों में कमी के कारण हमारे पास जो अतिरिक्त संसाधन है, हम उसका भी उपयोग कर रहे हैं।”
इस सेमिनार को संबोधित करते हुए वित्तमंत्री ने कहा कि भारत में 7 लाख गांव है। और हमारा मकसद 2019 तक इन्हें देश के हर हिस्से से जोड़ना है। इसके लिए हमें बड़े पैमाने पर निवेश की जरूरत है। आगे उन्होंने कहा कि इस साल राजमार्ग के लिए हमारा लक्ष्य 10,000 किलोमीटर है। इसके अलावा सौ साल पुरानी रेल प्रणाली में भी सुधार की आवश्यकता है। इसके इलावा वित्तमंत्री ने कहा कि नए हवाई अड्डो और बंदरगाहों को भी बनवाने की ज़रूरत है। वित्तमंत्री जेटली ने भारत में मौजूदा बुनियादी ढांचा कार्यक्रम के तहत बड़े पैमाने पर ग्रामीण स्वच्छता कार्यक्रम के बारे में भी बातें की।

इसे भी पढ़िए :  आज चंद्रशेखर आजाद के गांव जाएंगे पीएम मोदी, 'याद करो कुर्बानी' कार्यक्रम की करेंगे शुरूआत

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY