ISIS में शामिल केरल के लड़के ने परिवार को भेजा मैसेज, कहा- यहां जन्नत है, तुम भी आ जाओ

0
इस्लामिक स्टेट
प्रतिकात्मक तस्वीर

केरल से गायब हुए 21 लोगों में से एक ने अपने घर वालों के लिए मैसेज भेजा है। मैसेज में उसने कहा है कि वह इस्लामिक स्टेट (आईएस) की धरती पर पहुंच चुका है और वापस नहीं आना चाहता। साथ ही उसने अपने भाई और बाकी घर वालों को भी सीरिया आने की सलाह दी है। ये 21 लोग वही है जो भारत के केरल से गायब हो गए थे। शक है कि सभी लोगों ने सीरिया जाकर आईएस (ISIS) को ज्वाइन कर लिया है। जिस लड़के ने यह मैसेज भेजा है उसका नाम अशफाक अहमद है। मिली जानकारी के मुताबिक, सारी बातें वाइस मैसेज के जरिए भेजी गई थीं। पिछले महीने आए उस मैसेज में अहमद ने कहा, ‘मेरी इच्छा है कि तुम लोग भी यहां आ जाओ। यह जगह जन्नत है। मैं वापस आने के बारे में बिल्कुल नहीं सोच रहा हूं। मैं अल्लाह की इस धरती पर खुश हूं। यहां का नियम है कि जो आ गया वह फिर जा नहीं सकता।’

इसे भी पढ़िए :  ISIS मजबूत कर रहा है भारत में अपनी जड़ें, गुर्गों को दिए है सिर कलम करके दहशत फैलाने का आदेश

आडियो में अशफाक इस्लामिक स्टेट को दर अल इस्लाम (इस्लाम की धरती) और भारत को दर अल काफुर (विश्वास ना रखने वालों की धरती) बताता है। अशफाक के पिता और बाकी घरवालों को शुरू में लगा था कि उनका बेटा कुरान की तालीम लेने के लिए विदेश गया है। लेकिन बाद में उन्हें पता लगा कि वह सीरिया चला गया है। अशफाक के पिता ने खुद जाकर पुलिस को सबकुछ बताया था। उन्होंने चार लोगों पर उनके बेटे को भड़काने का आरोप भी लगाया था। शिकायत के बाद मुंबई पुलिस ने 6 अगस्त को अर्शी कुर्रेशी जो की जाकिर नाइक के लिए काम किया करता था, रिजवान खान, अबदुल्ला राशिद समेत कई लोगों पर केस दर्ज किया।

इसे भी पढ़िए :  पीएम मोदी पर राहुल का अब तक का सबसे बड़ा हमला, जानकर हो जाएंगे हैरान

अशफाक फरवरी में कुरान पढ़ने के लिए श्रीलंका गया था। वहां से वह भारत आया और फिर केरल में रहा। वहां से कुछ दिन के लिए वह मुंबई भी आया था। इसके बाद वह अफगानिस्तान के रास्ते सीरिया चला गया। अशफाक के साथ उसकी पत्नी और 18 महीने की बेटी भी है।

इसे भी पढ़िए :  संदेश टू सोल्जर: 10 लाख लोगों ने जवानों को भेजी दिवाली की शुभकामनाएं, आप भी ऐसे भेजें संदेश

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY