आज 21वीं बार ‘मन की बात’ कार्यक्रम को प्रधानमंत्री ने संबोधित किया

0

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को 21वीं बार ‘मन की बात’ कार्यक्रम में जनता को सम्बोधित किया। इस संबोधन में उन्होंने मॉनसुन, स्मार्ट सिटी, इसरो द्वारा प्रक्षेपित उपग्रह और कई अनेक मुद्दों पर भी बात की। Fसके साथ साथ मोदी ने लोगों को आपातकाल की भी याद दिलाई।
पीएम मोदी ने कहा कि कभी-कभी उनके मन की बात का भी मजाक बनाया जाता है। लेकिन ये इसलिए संभव है क्योंकि हम लोग लोकतंत्र के प्रति प्रतिबद्ध है। लोकतंत्र ने हर नागरिक को बड़ी ताकत दी है।
मोदी ने कहा कि जिस तरह से किसान दिन प्रतिदिन देश को ऊंचाईयों की ओर ले जा रहे हैं। ठीक उसी तरह हमारे देश के वैज्ञानिक भी अपनी कठिन परिश्रम से विश्व में भारत का नाम रोशन कर रहे हैं। इसरो के वैज्ञानिकों को बधाई देते हुए मोदी ने कहा कि इसरो ने एकसाथ 20 सैटलाइट को अंतरिक्ष भेजकर एक नया रिकॉर्ड बनाया है। इसरो द्वारा भेजे गए सैटेलाइट मेरी दृष्टि से बहुत अहम हैं। खासतौर से छात्रों के द्वारा बनाई गई सेटेलाइट। ये सभी छात्र बधाई के पात्र हैं। एक साथ 20 सैटेलाइट भेजना बहुत बड़ी कामयाबी है। ISRO ने कम लागत और सफलता की गारंटी के चलते दुनिया में ख़ास जगह बना ली है। आगे मोदी ने कहा कि मेरा तो पहले से ही मत रहा है कि देश की युवा पीढ़ी भी वैज्ञानिक बनने के सपने देखे, विज्ञान में अभिरुचि रखे, आने वाली पीढ़ी के लिए कुछ कर गुजरने की इच्छा शक्ति के साथ युवा पीढ़ी इस क्षेत्र में आगे आएं।
आगे प्रधानमंत्री ने ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ कार्यक्रम के बारे में कहा कि यह अब जन-मन की बात बन गई है। जिस तरह से हमारे देश की बेटियां नित नई-नई ऊंचाईयों को छु रही हैं। वो वाकई हम सब के लिए गर्व की बात है। उन्होंने हाल में ही वायुसेना की पहली बैच की महिला लड़ाकू विमान की चालक बनी अवनी, मोहना और भावना, को और उनके माता-पिता को भी शुभकामनाएं दी।
मन की बात कार्यक्रम में मोदी ने कर चोरों को भी अगाह करते हुए कहा कि 30 सितम्बर तक अघोषित आय को घोषित करें तभी वो सरकारी कारवाई से बच सकते हैं।

इसे भी पढ़िए :  पीएम पर शिवसेना का हमला, पूछा कितने खातों में जमा कराए 15 लाख

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY