प्रधान सचिव की गिरफ्तारी के बाद मोदी सरकार पर भड़के सिसौदिया, जमकर निकाला गुस्सा

0
केजरीवाल

 

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार की गिरफ्तारी से आम आदमी पार्टी और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर गुस्सा निकाल रहे हैं। सिसोदिया ने कहा कि केंद्र की सरकार आम आदमी पार्टी की अलग-अलग राज्यों में सफलता की आहट से घबरा गई है। वो दिल्ली के लोगों से बदला ले रही है और दिल्ली की सरकार को अपाहिज करने की कोशिश कर रही है।

सिसोदिया ने कहा कि पिछले दो दिन में केंद्र सरकार ने दिल्ली के 11 अहम अफसरों को तबादला कर राज्य के बाहर भेज दिया। आखिर ऐसी क्या इमरजेंसी थी। उन्होंने कहा कि अनधिकृत कॉलोनी में विकास का काम देख रहे अफसर को हटाकर अंडमान भेज दिया गया है। जिस अफसर को सारे स्कूल में सीसीटीवी लगाने की जिम्मेदारी दी गई थी, उसको दिल्ली से बाहर भेज दिया गया है। ये सब सिर्फ इसलिए हो रहा है क्योंकि पंजाब में आम आदमी पार्टी की रैलियों में भारी भीड़ उमड़ रही है और गोवा, गुजरात में भी जनता के बीच आप पार्टी तेजी से अपना जनाधार बढ़ा रही है।

इसे भी पढ़िए :  कुदरत ने मां वैष्णों के चरणों में बिछाई बर्फ की सफेद चादर, अब - 'बर्फ से बोलो जय मादा दी'

सिसोदिया ने कहा कि राजेंद्र कुमार की गिरफ्तारी और अफसरों के ट्रांसफर की टाइमिंग से साफ है कि मोदी सरकार का मकसद सिर्फ दिल्ली सरकार को अपाहिज करना है ताकि ये सरकार ठीक से काम नहीं कर पाए। उन्होंने कहा कि पंजाब में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सभाओं में भारी भीड़ उमड़ रही है। वहां की जनता ने आप की सफलता की एक तरह से गारंटी ले रखी है। सिसोदिया ने कहा कि केंद्र में बैठे लोग और मोदी जी बेहद घटिया हरकतों पर उतर आए हैं। लेकिन हम उन्हें ये बताना चाहते हैं कि अगर वे एक चपरासी भी दिल्ली में छोड़ देंगे तो हम उसके बल पर ही दिल्ली के लोगों के लिए काम करके दिखा देंगे। अनधिकृत कॉलोनियों में विकास का काम हम रुकने नहीं देंगे।

इसे भी पढ़िए :  कैमरे में कैद हुआ यूपी पुलिस का बेशर्म कांस्टेबल, नाबालिग लड़कियों से की थी छेड़छाड़, देेखें वीडियो

राजेंद्र कुमार की गिरफ्तारी पर सिसोदिया ने कहा कि हम पहले दिन से कह रहे हैं कि अगर राजेंद्र कुमार ने कुछ गलत किया है तो उनके खिलाफ कार्रवाई हो। लेकिन ये पूरा का पूरा मामला सिर्फ मुख्यमंत्री को अस्थिर करने के लिए किया जा रहा है। सीबीआई सात महीने में तो कोई दस्तावेज कोर्ट में पेश नहीं कर पाई और आज अचानक गिरफ्तार कर लिया गया।

इसे भी पढ़िए :  मूडीज ने मोदी सरकार के विकास के दावों पर उठाए सवाल, ऐसा कुछ नहीं किया कि भारत को दें बेहतर रेटिंग

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY