‘जिस्मफरोशी का धंधा चलाते हैं मोदी सरकार के एक मंत्री’

0
महिला आयोग
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने गुरुवार को दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेन्स की। इसमें उन्होंने कहा, ‘ मैं ये समझने की कोशिश कर रही हूं कि हजारों करोड़ रुपये का जिस्मफरोशी का धंधा खुलेआम दिल्ली में संसद से तीन किलोमीटर की दूरी पर कैसे चल रहा है। यहां पर हर रात कम से कम पांच करोड़ का बिजनेस हो रहा है। ये जानने की हम कोशिश कर रहे थे किनके संरक्षण में इतना बड़ा धंधा चल रहा है। मुझे जांच के दौरान बहुत ही पुख्ता संकेत मिले हैं कि केन्द्रीय सरकार के एक मंत्री हैं और देश की एक प्रमुख पार्टी के दिल्ली के एक बड़े नेता हैं जिनके संरक्षण में ये पूरा गोरखधंधा चल रहा है। हमने यह जानने की कोशिश की कि कौन इन कोठों का मालिक है। अभी जांच चल ही रही थी और हमारे को ये संकेत मिलने शुरू हुए थे कि अचानक मेरे ऊपर एक एफआईआर दर्ज की जाती है, बिल्कुल फर्जी एफआईआर दर्ज की जाती है और अब मुझे ये संकेत दिए जा रहे हैं, बहुत लोगों से मैसेजेज आ रहे हैं कि मुझे अब ये अरेस्ट करेंगे और एलजी के माध्यम से ये नेता मिलकर दिल्ली महिला आयोग से मुझको निकाल देंगे।’

इसे भी पढ़िए :  गिरिराज सिंह ने हिंदुओं को कहा हिजड़ा और भी कई बांटने वाली बातें...देखिए वीडियो

मालीवाल ने कहा, ‘ये धंधा इतना गंदा धंधा है कि यहां पर 8-8, 10-10 साल की बच्चियों के साथ बलात्कार होता है। उनकी बोली लगती है और पहली रात की बोली लाखों में लगती है। एक-एक महिला को 30-30 आदमियों के साथ सोना पड़ता है। ये गोरखधंधा, ये काला धंधा इतने बड़े-बड़े लोगों के संरक्षण से हो रहा था, यह सुनकर मैं बिल्कुल चौंक गई हूं। अब मैं भगवान से प्रार्थना करती हूं कि ये जो मुझे जो संकेत मिल रहे हैं, वो गलत हों। पर प्रश्न तो उठते हैं? क्योंकि संसद से तीन किलोमीटर पर चल रहा है। एमसीडी को हम बार-बार बोल रहे हैं कि ये सब ई-लीगल चल रहा है, इसे तोड़ो, यहां के तहखानों को तोड़ो, एमसीडी कोई एक्शन नहीं ले रही। तो ये पूरा का पूरा एक संगठित बिजनेस है जिसकी एक रात की कमाई पांच करोड़ है। तो ये पैसा कहां जा रहा है? अब’मुझे बार-बार मैसेज मिल रहे हैं कि जीबी रोडवाली दलदल में मत पड़ो।’

इसे भी पढ़िए :  केदारनाथ क्षेत्र में फिर मिले 19 नरकंकाल

अगले पेज पर देखिए वीडियो 

Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY