मेरा लक्ष्य स्वर्ण पदक जीतना है, उसके के लिए जान लगा दूंगी: पीवी सिंधु

0

 

दिल्ली

ओलंपिक फाइनल में जगह बनाने के बाद रोमांचित भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने आज कहा कि वह देश के एकमात्र ओलंपिक व्यक्तिगत स्वर्ण पदक विजेता के रूप में दिग्गज निशानेबाज अभिनव बिंद्रा के सफर को खत्म करने को लेकर उत्सुक हैं।

विश्व चैम्पियनशिप की दो बार की कांस्य पदक विजेता सिंधु ने आज 49 मिनट चले सेमीफाइनल में जापान की आल इंग्लैंड चैम्पियन नोजोमी ओकुहारा को 21-19, 21-10 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया।

इसे भी पढ़िए :  डोपिंग विवाद के चलते रूस की वेटलिफ्टर टीम पर भी लगा बैन

दुनिया की 10वें नंबर की खिलाड़ी सिंधु अब कल फाइनल में दो बार की विश्व चैम्पियन और शीर्ष वरीय स्पेन की कैरोलिना मारिन से भिड़ेंगी।

पीवी सिंधु ने कहा, ‘‘मेरा लक्ष्य स्वर्ण पदक जीतना है और मैं अपनी जान लगा दूंगी। मुझे लगता है कि मैंने हर बार कड़ी मेहनत की है। सभी का लक्ष्य ओलंपिक में पदक जीतना होता है, एक और मैच बचा है। निश्चित तौर पर मुझे लगता है कि मेरे पास मौका है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘दबाव जैसा कुछ नहीं है। सिर्फ इतना है कि मुझे अपना शत प्रतिशत देना होगा। एक और मैच बचा है। मैं कल के मैच के लिए पूरी तरह से तैयार हूं। यह आसान नहीं होने वाला। वह काफी कड़ी प्रतिद्वंद्वी है। यह ओलंपिक फाइनल है और वह काफी अच्छा खेल रही है। यह इस पर निर्भर करता है कि कौन अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करता है और कल फाइनल जीतता है।’’

इसे भी पढ़िए :  रियो ओलंपिक: भारत का कुश्ती में भी निराशजनक शुरूआत, खत्री पहले दौर में ही बाहर

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY