105 साल की अम्मा बनी स्वच्छ भारत अभियान का चेहरा, मोदी भी छूते हैं पैर, पढ़िए क्या है खास?

0
105 साल
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

शौचालय बनाने के लिए अपनी बकरियां बेचने वालीं छत्तीसगढ़ की 105 साल की कुंवर बाई को स्वच्छ भारत अभियान का शुभंकर बनाया गया है। टॉयलेट बनाने के लिए अपनी बकरियां बेचने वालीं 105 साल की कुंवर बाई का देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी सम्मान करते हैं। 17 सितंबर को स्वच्छता दिवस के मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी दिल्ली में कुंवर बाई को सम्मानित करेंगे। मई में छत्तीसगढ़ में पीएम नरेंद्र मोदी ने श्याम प्रसाद मुखर्जी शहरी मिशन के शुभारंभ समारोह में कुंवर बाई के पैर छूए थे।

इसे भी पढ़िए :  वरिष्ठ आईएएस भास्कर खुलबे बने प्रधानमंत्री मोदी के नए सचिव

कुंवर बाई धमतरी की रहने वाली है। कुंवर बाई ने अपनी पाली हुई आधा दर्जन बकरियों को 22 हजार रुपए में बेचकर गांव का पहला टॉयलेट बनवाया था। इस उम्र में वह कोशिश में जुटी हैं कि गांव की हर महिला का मान रहे, हर घर में टॉयलेट हो। पैसे नहीं थे तो बकरियां बेचकर दो टॉयलेट बनवाए। गांव में जिनके पास पैसों की कमी थी, कुंवर ने उनकी मदद की। आज हर गांव में टॉयलेट है।

इसे भी पढ़िए :  स्मार्ट सिटी के साथ 500 शहरों के रेलवे स्टेशनों को भी ‘स्मार्ट’ बनाएगी सरकार

कुंवर बाई की जिंदगी से जुड़े कुछ और दिलचस्प पहलू जानने के लिए अगले स्लाइड में जाएं, next बटन पर क्लिक करें

Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

इसे भी पढ़िए :  राज्यसभा चुनावों में झारखंड के मुख्यमंत्री खरीद फरोख्त में शामिल: बाबू लाल मरांडी