बाढ़ से बिहार, गुजरात में 27 की मौत, असम में मामूली सुधार

0

दिल्ली
बिहार में बाढ़ की स्थिति आज और गंभीर हो गई जिससे 22 लोगों के मारे जाने की सूचना है। वहीं गुजरात में अचानक आई बाढ़ में पांच लोग मारे गए। हालांकि असम में बाढ़ की स्थिति में मामूली सुधार आया है।

बिहार में अभी तक 60 लोगों की मौत हो चुकी है जिसमें सबसे अधिक 24 मौतें पुर्णिया में हुईं, जबकि कठिहार में 15 लोग, सुपौल में आठ, किसनगंज में पांच, मधेपुरा में चार, गोपालगंज में दो और सहरसा एवं अररिया में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। राज्य के 12 जिलों में 29 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं।

इसे भी पढ़िए :  बेशकीमती फूलों से सजा मां वैष्णों का दरबार, 10 दिन में 5 लाख लोग करेंगे मां भवानी के दर्शन

नेपाल के तराई क्षेत्र में भारी बारिश के चलते भागलपुर जिले के कहलगांव में गंगा नदी का जलस्तर खतरे के निशान से उपर बना हुआ है। प्रभावित इलाकों में कुल 460 राहत शिविर चल रहे हैं जहां 3,77,097 लोगों ने शरण ले रखी है।

इसे भी पढ़िए :  बिना वजह तलाक देने वालों का हो सामाजिक बहिष्कार- ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड

गुजरात के दक्षिण और पूर्व मध्य हिस्सों में कल रात भारी बारिश से नदियों के किनारे स्थित वलसाड़, नवसारी और सूरत जिलों में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई और दो जगहों पर कम से कम पांच लोग मारे गए।

वलसाड़ के भागरावाड़ा गांव में तीन लोग डूब गए, जबकि छोटा उदयपुर में बोदेली के निकट ओरसांग नदी में दो लोग डूब गए।

इस बीच, असम में बाढ़ की स्थिति में मामूली सुधार दर्ज किया गया है। हालांकि 19 जिलों में करीब 10 लाख लोग अब भी बाढ़ से प्रभावित हैं। राज्य के अधिकारियों के मुताबिक, कल तक 21 जिलों में 11 लाख से अधिक लोग प्रभावित थे और 34 लोगों की जानें चली गईं।

इसे भी पढ़िए :  पुणे में 10 सालों में पहली बार प्रशासन ने बारिश की वजह से चार पुलों को बंद किया

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के मंडलीय वन अधिकारी सुवाशीष दास ने कहा कि बाढ़ के चलते 221 बारहसिंघा और 21 एक सींग वाले गैंडे समेत 310 जानवर मारे गए।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY