J&K: मौके का फायदा उठा 60 आतंकियों ने की घुसपैठ

0
प्रतिकात्मक फोटो।

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में हिजबुल कमांडर बुरहान वानी की 8 जुलाई को हुई मौत के बाद से शुरू हुए उपद्रव और तनाव का फायदा उठाते हुए उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा और उरी सेक्टर में छुपे आतंकवादी केंद्रीय और दक्षिणी कश्मीर में घुसपैठ करने में कामयाब हो गए हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, एक वरिष्ठ खुफिया अधिकारी ने बताया कि हथियार से लैस आतंकी घाटी के एक हिस्से से दूसरे हिस्से में आ-जा रहे हैं। अधिकारियों का कहना है कि अलगाववादी विरोध प्रदर्शनों के कारण स्थितियां बेहद तनावपूर्ण हो गई हैं। बुधवार को हुए हमले की जिम्मेदारी हिजबुल ने ली है। उसके प्रवक्ता ने कहा कि कमांडर सैफुल्लाह खालिद ने सुरक्षा ठिकानों पर हमले तेज करने का निर्देश दिया है।

इसे भी पढ़िए :  भारत में पहली बार पढ़ाया जाएगा जनसंहारों का इतिहास, सिलेबस में हुआ शामिल, जानिए सबसे पहले कहां पढ़ाया जाएगा

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, खुफिया अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के हिस्से से पिछले दिनों में करीब 60 आतंकी भारतीय सीमा में घुस आए हैं। हालांकि सेना ने सीमारेखा पर कई जगह घुसपैठ की कोशिश कर रहे आतंकियों को खदेड़ा भी है। घुसपैठ की कोशिश कर रहे कई आतंकी सुरक्षाबलों की गोलीबारी का शिकार होकर मारे भी गए हैं। 16 अगस्त को ही 5 घुसपैठी आतंकियों को सुरक्षाबलों ने खदेड़ दिया था।

इसे भी पढ़िए :  विदेश में बीमार भारतीय की मदद के लिए आगे आईं सुषमा और नौसेना

खुफिया अधिकारी के मुताबिक त्राल में हिजबुल के आतंकी जंगलों में कश्मीरी युवाओं को प्रशिक्षण दे रहे हैं और नई भर्तियां कर रहे हैं। ताजा स्थिति की गंभीरता को समझते हुए बुधवार(17 अगस्त) को पूरे श्रीनगर में रात के समय भी कड़ा कर्फ्यू लगा दिया गया है। बुधवार दोपहर सेनाध्यक्ष दलबीर सिंह सुहाग भी स्थिति का जायजा लेने जम्मू पहुंचे।

इसे भी पढ़िए :  मोदी टूटे वादों के पोस्टर बॉय: काग्रेस

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY