1984 के सिख दंगों की जांच में जुटी एसआईटी, 186 मामलों की करेगी जांच

0

नई दिल्ली। प्रंधानमंत्री इन्दिरा गांधी की मौत के बाद दिल्ली, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, मध्य प्रदेश में भयानक सिख विरोधी दंगे फैले थे। गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी पुष्टि की है कि इन दंगों से संबन्धित 186 मामलों की जांच केंद्र द्वारा गठित विशेष जांच दल पुनः शुरू कर सकता है। ये खबर एक ऐसे समय में दी गयी है जब पंजाब विधान सभा चुनावों की धूम चारों तरफ फैल चुकी है। गौरतलब है की इन मामलों से जुड़ी 241 फ़ाइल, दिल्ली पुलिस ने ये कह कर बंद कर दी थी कि इनमे सबूतों का अभाव है।
जस्टिस नानावटी आयोग ने कुल चार फ़ाइल खुलवानी चाही थी, मगर अब बीजेपी सरकार सभी फ़ाइल खुलवाने की बात कर रही है। खबरों के मुताबिक एसआईटी का गठन 12 फ़रवरी, 2015 में किया गया था तथा उसे अपनी रिपोर्ट छ महीने में देनी थी लेकिन उस वक्त एसआईटी अपनी रिपोर्ट जमा नहीं कर पाई थी। गृह मंत्रालय ने इस बारे में जस्टिस माथुर की एक कमेटी बनाई थी जिसके कहने पर विस्तार से जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया।

इसे भी पढ़िए :  जयललिता अपने सिद्धांतों और विचारों पर अटल थीं, वह फाइटर थीं: प्रणब मुखर्जी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY