बाल मृत्यु दर में सुधार, UP और असम ने किया सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

0
फाइल फोटो।

नई दिल्ली। पांच साल से कम आयु वाले बच्चों की मृत्यु दर में 2014 में औसतन चार अंकों की गिरावट आई। उत्तरप्रदेश और असम सबसे बेहतर प्रदर्शन करने वाले राज्यों में है जहां सात सात अंकों की कमी आई है।

सरकार ने मंगलवार(20 सितंबर) को कहा कि देश पांच साल से कम की मृत्यु दर (यू-5एमआर) में कमी लाने तथा सहस्राब्दी विकास लक्ष्य (एमडीजी) को हासिल करने की राह पर है। 2014 के लिए यू-5एमआर पर आरजीआई नमूना पंजीकरण सर्वेक्षण (एसआरएस) में 15 राज्यों-केंद्र शासित प्रदेशों में चार अंकों तथा 16 में तीन अंकों की कमी आई।

इसे भी पढ़िए :  असम: उल्फा के हमले में दो लोगों की मौत, छह घायल

बिहार और आंध्रप्रदेश जैसे राज्यों में एक अंक की गिरावट दर्ज की गई। एसआरएस ने यह भी पाया कि केरल अकेला ऐसा राज्य रहा जहां यू-5एमआर में एक अंक की वृद्धि हुई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने कहा कि सरकार द्वारा केंद्रित, प्रतिबद्ध और लक्षित प्रयासों का 2014 में ‘‘सकारात्मक नतीजा’’ आया और 2015 का आंकड़ा आने तक देश एमडीजी लक्ष्य को हासिल कर लेगा।

इसे भी पढ़िए :  कुलभूषण जाधव मामला: पाकिस्तान को इस्लाम सिखाने में जुटा ऑल इंडिया रेडियो

उन्होंने कहा कि 2012-13 के दौरान 5.76 प्रतिशत गिरावट की तुलना में 2013-14 के दौरान पांच साल से कम आयु के बच्चों की मृत्यु दर में 8.16 प्रतिशत की गिरावट आई थी। उन्होंने बताया कि 2012-13 में यू 5एमआर (प्रति 1000 जीवित जन्म) 52 से घटकर 49 हो गया था और अगले साल चार अंकों की गिरावट के साथ यह 45 हो गया।

इसे भी पढ़िए :  शिवसेना ने पीएम से पूछा- जरा बताइए हमले के बाद क्या कदम उठाने वाले हैं मोदी जी?

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY