एम्ब्रेयर विमान समझौता: सीबीआई से जांच करवाएगा रक्षा मंत्रालय

0
एम्ब्रेयर विमान
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

नई दिल्‍ली। रक्षा मंत्रालय ने सीबीआई को सप्रंग (संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन) सरकार के कार्यकाल में हुए 20.8 करोड़ डॉलर के एम्ब्रेयर विमान सौदे में कथित रिश्वत लिए जाने के आरोपों की जांच करने को कहा है। यह सौदा वर्ष 2008 में ब्राजील के विमान निर्माता एम्ब्रेयर और रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के बीच हुआ था।

इसे भी पढ़िए :  अब विवाह मंडप बनेंगे रेलवे स्टेशन: आएगी बारात, बजेगा बैंड और नाच-गाने के साथ होंगे सात फेरे...

सरकारी सूत्रों के मुताबिक, आरोप गंभीर प्रकृति के हैं इसलिए सीबीआई से जांच करने को कहा गया है।

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने इस हफ्ते की शुरुआत में कहा था, ‘अगर इसमें कोई आपराधिक पहलू है तो उसकी जांच सीबीआई करेगी। मंत्रालय तो जांच नहीं कर सकता है’। उन्होंने कहा था, ‘अगर यह मसला केवल प्रक्रिया से जुड़ा है तो रक्षा मंत्रालय आतंरिक जांच कर सकता है’। सप्रंग सरकार के कार्यकाल में एम्ब्रेयर के तीन विमानों के लिए हुआ समझौता अमेरिकी अधिकारियों की जांच के घेरे में है। अधिकारियों को संदेह है कि अनुबंध हासिल करने के लिए कंपनी की ओर से घूस दी गई थी

इसे भी पढ़िए :  लापता एएन-32 विमान के बारे में अभी तक कोई ठोस सबूत नहीं :पर्रिकर
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY