देखिए, गिलानी ने दीवार पर भारत के विरोध में क्या लिखा

0

जम्मू: कश्मीर में मंगलवार को लगातार 25वें दिन कर्फ्यू और प्रतिबंध जारी हैं। पुलिस का कहना है कि अभी दक्षिणी कश्मीर के कुछ इलाकों में कर्फ्यू जारी रहेगा। श्रीनगर शहर और अन्य जिलों में सीआरपीसी (दंड प्रक्रिया संहिता) की धारा 144 के तहत प्रतिबंध लागू रहेंगे। इन गंभीर हालातों के बीच अलगाववादियों के कहने पर राज्यभर में लोगों ने अपने-अपने क्षेत्र के दीवारों पर ‘गो इंडिया, गो बैक’ जैसे नारे लिखे। लोगों के साथ खुद अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी भी दीवारों पर ऐसे नारे लिखते दिखे।

इसे भी पढ़िए :  एक और व्यक्ति की मौत, कश्मीर घाटी में 25वें दिन भी जनजीवन बाधित

गौरतलब है कि अलगाववादियों ने एलान किया था कि लोग इसी तरीके से राज्यभर में विरोध करें। इस एलान के बाद लोग इसी तरह का विरोध करना शुरू कर दिए जिससे कई स्थानों पर तनावपूर्ण स्थिति उत्पन्न हो गई, जिसके बाद हुई झड़पों में सीआरपीएफ और पुलिस समेत दो दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं। इस दौरान पुलवामा, कुलगाम तथा शोपियां में कर्फ्यू था, जबकि श्रीनगर, बड़गाम, कुपवाड़ा और बारामूला के कई इलाकों में धारा 144 लगाई गई थी। इसके बावजूद अलगाववादियों के फोन पर लोग सड़कों पर उतर गए। जिसके बाद लोगों ने विरोध प्रदर्शन के दौरान काजीकुंड, टंगमर्ग और बांडीपोरा में सुरक्षा बलों पर पथराव भी किया।

इसे भी पढ़िए :  नोटबंदी से पहले जमीन की खरीद-फरोख्त के आरोपों में घिरी बीजेपी ने दी ये सफाई, आप भी पढ़ें

आपको बता दे कि आतंकी बुरहान के मारे जाने के 24 दिन बाद भी कश्मीर में हालात अभी सामान्य नहीं हुआ है। प्रदर्शनों और हिंसा का दौर अभी भी जारी है। अलगाववादियों ने कश्मीर में हड़ताल अगले पांच अगस्त तक बढ़ा दी है। इस हड़ताल को अलगाववादी स्वतंत्रता दिवस यानी 15 अगस्त तक ले जाना चाहते हैं। इस बीच, राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी माना कि हिंसक प्रदर्शनों में अलगाववादियों का हाथ है।

इसे भी पढ़िए :  खादी कैलेंडर में PM मोदी की तस्वीर की लालू ने जमकर की आलोचना, कहा- इसके पीछे RSS का हाथ

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY