जकरबर्ग ने अपने लेख में मोदी का उदाहरण देकर लिखा ‘फेसबुक चुनाव जीतने का बहुत बड़ा हथियार है’

0
जकरबर्ग

फेसबुक के फाउंडर और सीईओ मार्क जकरबर्ग ने पारदर्शी सरकार और सोशल मीडिया के जरिए लोगों तक पहुंच बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उदाहरण दिया है। फेसबुक पर अपनी पोस्ट में उन्होंने ग्लो्बलाइजेशन और सोशल मीडिया के जरिए दुनियाभर के लोगों के एक मंच पर आने के बारे में विस्तार से लिखा। उन्हों ने बताया कि सोशल मीडिया के चलते अमेरिका में होने वाले कार्यक्रमों पर भारत में भी मजाक बनता है। जकरबर्ग ने लिखा, ”वोटिंग के बाद सबसे बड़ा मौका यह है कि लोगों को उनके जुड़े मुद्दों के साथ जोड़े रखा जाए ताकि लोग केवल मत डालने तक ही ना सिमट जाएं। हम जनता और चुने गए नेताओं के बीच संवाद और जिम्मेदारी कायम कर सकते हैं। भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रियों से बैठकों और सूचनाओं की जानकारी फेसबुक पर शेयर करने को कहा है जिससे कि वे जनता से सीधे फीडबैक ले सकें।”

इसे भी पढ़िए :  नोटबंदी के विरोध में छात्र संगठनों ने किया प्रधानमंत्री आवास घेरने का प्रयास, 150 लोग पुलिस हिरासत में

जकरबर्ग ने केन्याे का उदाहरण देते हुए बताया कि वहां पर गांव के गांव वॉट्सएप ग्रुप पर हैं और उनके जनप्रतिनिधि भी इसमें शामिल हैं। उन्होंने लिखा कि फेसबुक पर सबसे ज्या्दा फॉलो किया जाने वाला और लोगों से जुड़ा रहने वाला व्यक्ति चुनाव में आसानी से जीत दर्ज करता है। इसके लिए उन्होंने भारत और इंडोनेशिया का जिक्र किया। उनकी पोस्ट में लिखा है, ”जैसे कि 1960 में टीवी लोगों से जुड़ने का साधन बना था, 21वीं सदी में उसकी जगह अब सोशल मीडिया ने ले ली है।” गौरतलब है कि 2014 के लोकसभा चुनावों के दौरान नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया का बखूबी इस्तेमाल किया था। इसका उन्हें चुनावों में काफी फायदा भी मिला था।

इसे भी पढ़िए :  घाटी में घुसे 60 आतंकी, सुरक्षा बलों ने बढ़ाई चौकसी

अगले पेज पर पढ़िए – मार्क जुकरबर्ग की पूरी पोस्ट

loading...

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY