अब कभी लेट नहीं होगी आपकी ट्रेन, पढ़िए क्यों

0
ट्रेन
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

ट्रेन यात्रियों के लिए बड़ी सुखद खबर है। ट्रेन में यात्रियों को हादसों से मुक्त करने के लिए अब रेलवे में एक नई तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। स्टेशनों के आसपास केबल कटने, केबल चोरी होने, रूट रिले इंटरलॉकिंग (आरआरआई) पैनल में आग लगने दूसरी तरह की खराबी से सिस्टम फेल हुआ तो अब इससे ट्रेनों के संचालन पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

इसे भी पढ़िए :  ट्रेन हादसों पर भड़के गौतम गंभीर, कहा- पहले इन्हें रोक लो, बुलेट ट्रेन का सपना बाद में देखना

रेलवे ने ऑप्टिकल फाइबर सिस्टम (ओएफसी) बेस्ड बैकअप सिग्नलिंग सिस्टम इजाद किया है। यह सिस्टम वैकल्पिक तौर पर काम करने लगेगा। ये लेपटॉप डेस्कटॉप से कंट्रोल किया जाएगा। किसी स्टेशन की आरआरआई के समानांतर ओएफसी के जंक्शन बॉक्स से कनेक्ट करके उससे सिग्नल दे सकेंगे। यह सिस्टम आरआरआई का पूरा विकल्प बनेगा। इस तकनीक में जितने भी सेफ्टी कंट्रोल लगाए गए हैं, उनका परीक्षण भी हो चुका है। यह तकनीक शुरू होने पर करोड़ों रुपए का नुकसान तो बचेगा ही, वहीं ट्रेनों का संचालन भी कुछ घंटों में बहाल हो जाएगा।

इसे भी पढ़िए :  जानें जेटली के बजट में रेलयात्रियों के लिए क्या है खास

उत्पाद निरीक्षण निगरानी प्रणाली (आरडीएसओ) के महानिदेशक पीके श्रीवास्तव ने सिग्नल एवं टेलीकॉम निदेशालय के अफसरों को ओएफसी बेस्ड बैकअप सिग्नलिंग सिस्टम डेवलप करने के निर्देश दिए थे। आरडीएसओ ने करीब सालभर में ही आरआरआई के समानांतर बैकअप सिस्टम तैयार कर लिया है।

इसे भी पढ़िए :  जल्द खत्म हो सकती है एक हफ्ते में 24000 निकासी की सीमा

अगली स्लाइड में देखें तकनीक को रेलसंरक्षा आयुक्त की मंजूरी का इंतजार

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY