जम्मू कश्मीर में अशांति को लेकर विपक्षी नेताओं ने की राहुल गांधी से मुलाकात

0
फोटो: साभार

नई दिल्ली। कश्मीर घाटी में पिछले 44 दिनों से जारी कर्फ्यू के बीच जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने रविवार(21 अगस्त) को राज्य के विपक्षी दलों के संयुक्त शिष्टमंडल के साथ कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की।

उमर अब्दुल्ला के नेतृत्व वाले इस शिष्टमंडल ने राज्य में हिंसक अशांति की स्थिति से निपटने के लिए राजनीतिक समाधान निकाले जाने की वकालत की। राज्य में अब तक 64 लोगों की मौत हो चुकी है।

इसे भी पढ़िए :  संसद में नोटबंदी को लेकर हंगामा, लोकसभा की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित

इस शिष्टमंडल ने एक दिन पहले राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात की थी और आज(22 अगस्त) यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिलेगा। विपक्षी नेताओं ने राहुल गांधी से आग्रह किया कि वे राष्ट्रीय स्तर पर इस दिशा में प्रयास करें, ताकि इस अशांति के प्रशासनिक समाधान की बजाए राजनीतिक समाधान निकाला जा सके।

इसे भी पढ़िए :  दलित उत्पीड़न मामले पर राज्यसभा और लोकसभा में हंगामा

उमर अब्दुल्ला के नेतृत्व वाले शिष्टमंडल से मुलाकात के बाद कांग्रेस नेता ने ट्वीट किया, ‘‘उमर अब्दुल्ला के नेतृत्व में राज्य के विपक्षी नेताओं के शिष्टमंडल के साथ जम्मू कश्मीर में वर्तमान राजनीतिक संकट पर चर्चा की।’’ शिष्टमंडल में शामिल माकपा विधायक एम वाई तारिगामी ने कहा कि कश्मीर को राष्ट्रीय समस्या के रूप में देखना चाहिए और इस स्थिति से निपटने के लिए राजनीतिक पहल को लेकर सर्वानुमति बनानी चाहिए।

इसे भी पढ़िए :  अब दुश्मन को चुन-चुन कर मारेगी भारतीय सेना, देखिये क्या है प्लान?

प्रदेश कांग्रेस प्रमुख जी ए मीर ने कहा कि लोगों तक पहुंचने की तत्काल आवश्यकता है और वर्तमान स्थिति को केवल कानून एवं व्यवस्था से जु़ड़े विषय के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। हिंसा और खून खराबे से समाधान नहीं निकल सकता, राजनीतिक द्वार खोले जाने की जरूरत है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY