मानसून सत्र के लिए क्या होगी कांग्रेस की रणनीति ?

0

संसद के मानसून सत्र में कांग्रेस जीएसटी बिल को लेकर नरम पड़ सकती है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी से यूपी प्रभारी गुलाम नबी आजाद की अहम मुलाकात के बाद ऐसे संकेत सामने आए हैं ।जानकारी के मुताबिक 10 जनपथ पर इस अहम मीटिंग में कुछ देर के लिए प्रियंका गांधी भी शामिल हुईं। मीटिंग में यूपी चुनाव के साथ ही जीएसटी बिल पर खास चर्चा की गई। आजाद मंगलवार को जीएसटी पर पार्टी की लाइन के बारे में बयान दे सकते हैं।

इसे भी पढ़िए :  अमेठी में 150 महिलाओं ने रोका राहुल गांधी का काफिला, रखी यह मांग

congress

आजतक की खबर के मुताबिक मानसून सत्र में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस जीएसटी बिल को लेकर अपनी मुख्य मांग 18 फीसद टैक्स रेट पर कैप को संवैधानिक संशोधन में रखने पर नरम पड़ सकती है। हालांकि कांग्रेस अपनी मांगों पर सरकार से टैक्स रेट पर गारंटी चाहेगी। कांग्रेस ने जीएसटी बिल पर अपनी तीन मांगें रखी हैं। पहला, जीएसटी पर संवैधानिक संशोधन बिल में ही टैक्स रेट का कैप 18 प्रतिशत निर्धारित किया जाए। दूसरा, जीएसटी विवादों के निपटारे के लिए प्राधिकरण का गठन हो। और तीसरा, उत्पादक राज्यों पर अतिरिक्त एक फीसदी टैक्स को वापस लिया जाए।

इसे भी पढ़िए :  मालेगांव धमाकों में आरोपी साध्वी प्रज्ञा की जमानत याचिका खारिज

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY