कश्मीर में पेट्रोल बम से हमले, चौकियां फूंकी

0

श्रीनगर : कश्मीर में आतंकी बुरहान वानी की मुठभेड़ में मौत के बाद शुरू हुए हिंसा चक्र में मंगलवार को दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र और इमाम की भी जान चली गई। इसके साथ ही मृतकों की संख्या 34 हो गई है। श्रीनगर के सफाकदल के अलावा कई जगहों पर पुलिस पर पेट्रोल बम से हमले किए गए। आतंकी समर्थक हिंसक भीड़ ने एक पुलिस अधिकारी की पत्नी और बेटी को पीट-पीट कर अधमरा किया। इसके अलावा अल्पसंख्यकों की सुरक्षा के लिए बटनाग स्थित पुलिस चौकी, रोहमू पुलिस चौकी, वारपोरा पुलिस चौकी को आग लगा दी गई। करालपोरा थाने पर पुलिस वाहन को आग लगाकर पुलिस कर्मियों को जिंदा जलाने का भी प्रयास किया।

इसे भी पढ़िए :  वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने किया खुलासा, चैनल पर बहस में बेइज्जती के लिए बिकते हैं PAK गेस्ट

बारामुला में सीमेंट ब्रिज के पास पाकिस्तानी ध्वज लहराया गया। प्रशासन ने कश्मीर में सभी इलाकों में कर्फ़्यू और निषेधाज्ञा लागू कर भारी संख्या में पुलिस व अर्धसैनिकबल तैनात कर रखे हैं। दक्षिण कश्मीर के बिजबेहाड़ा के निवासी नजीर आमिर नजीर लटटू की अस्पताल में मौत हो गई। वह दिल्ली विश्वविद्यालय का छात्र था। कुछ ही दिन पहले ईद मनाने घर आया था। कुपवाड़ा के करालपोरा में पुलिस थाने पर हमला कर रही भीड़ ने वाहन को आग लगाकर पुलिसकर्मियों को जिंदा जलाने का प्रयास किया।

इसे भी पढ़िए :  ईद की नमाज के बाद घाटी में तनाव, हिंसा और पथराव में कई घायल

kashmir-violence-1468199090

पुलिसकर्मियों ने हालात पर काबू पाने में गोली चलाई, जिसमें इमाम आमिर मारा गया। अवंतीपोर के चंद्रीगाम में हिंसक भीड़ ने संगम में तैनात सब इंस्पेक्टर मुहम्मद अशरफ पाल के मकान पर हमला किया। उसकी बीबी और बेटी को पीट-पीट कर अधमरा कर दिया। घर को आग लगाने की कोशिश की। अर्धसैनिकबलों ने किसी तरह मौके पर पहुंच बल प्रयोग कर भीड़ को खदेड़ पुलिसकर्मी की पत्नी व बेटी को बचाया। दोनों अवंतीपोर के अस्पताल में उपचाराधीन हैं।

इसे भी पढ़िए :  आतंकी से IPS की तुलना करने पर मीडिया पर भड़के शाह फैज़ल

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY