शिया मुस्लिम लॉ बोर्ड ने भी की तीन तलाक पर बैन की मांग

0
तीन तलाक
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

तीन तलाक की प्रथा पर शिया मुस्लिम लॉ बोर्ड ने कहा की यह बिल्कुल सती प्रथा की तरह प्रताड़ित करती है और यह बैन होनी चाहिए। फिलहाल तीन तलाक के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है। कई मुस्लिम महिलाओं का कहना है कि पुरुष तलाक के जरिए उन्‍हें प्रताडि़त करते हैं।

इसे भी पढ़िए :  बजट 2017 में मध्यम वर्ग को टैक्स में राहत देने का फैसला

सुप्रीम कोर्ट में मुसलमानों में तीन बार तलाक कहने को लेकर चल रहे विवाद पर अखिल भारतीय शिया मुस्लिम लॉ बोर्ड का कहना है कि वे सुन्नी समुदाय को इस बारे में समझाएंगे। लखनऊ में गुरुवार को शिया बोर्ड की बैठक में इस मामले में सुप्रीम कोर्ट जाने का फैसला लिया गया। बैठक के दौरान सरकार से कहा गया कि हिेंदुओं में जिस तरह से सती प्रथा को प्रतिबंधित किया गया उसी तरह से तीन तलाक पर भी बैन लगाया जाए।

इसे भी पढ़िए :  ‘फेयर एंड लवली’ पर रोक लगाए सरकार- राज्य सभा में हुई मांग

शिया बोर्ड के प्रवक्‍ता मौलाना यासूब अब्‍बास ने बताया कि तीन तलाक महिलाओं के अधिकारों के खिलाफ है। उन्‍होंने कहा कि तलाक का बोझ हमेशा महिला क्‍यों सहे? इससे न केवल एक महिला बल्कि उसके परिवार और बच्‍चों को भी इस दर्द से गुजरना पड़ता है। जब इस्‍लाम में महिला और पुरुष को समान बताया गया है तो महिलाओं के खिलाफ भेदभाव को कैसे सही ठहराया जा सकता है

इसे भी पढ़िए :  बिहार में कहीं भी मिली शराब तो जेल जायेंगे नीतीश कुमार!
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY