लपता विमान को खोजने में भारत ने अमेरिका से मांगा सहयोग

0

भारतीय वायुसेना का लपता विमान को पता लगाने के लिए सरकार ने अमेरिका से मदद मांगी है। रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर ने लापता विमान के बारे में गुरुवार को राज्यसभा में दिए गए अपने बयान पर विभिन्न सदस्यों द्वारा पूछे गए स्पष्टीकरण के जवाब में शुक्रवार को यह बात कही. उन्होंने कहा कि सरकार ने चित्रों की पहचान करने के लिए अमेरिका की मदद मांगी है। पर्रिकर ने बताया कि अमेरिकी रक्षा बलों से इस बात की मदद मांगी जा रही है कि क्या उनके उपग्रहों ने 22 जुलाई को कुछ सिग्नल पकड़े थे. 22 जुलाई को ही 29 लोगों को ले जा रहा यह विमान लापता हुआ था। उन्होंने कहा कि हमारे उपग्रहों के चित्रों के अलावा हमने अमेरिका से उनके चित्रों के लिए कहा है, ताकि अंतरिक्ष में स्थित उपग्रहों की आपात फ्रीक्वेंसी का पता चल सके। अन्य देशों से भी हम कह चुके हैं। हमें उम्मीद है कि हमारे प्रयास सफल होंगे। रक्षा मंत्री ने कहा कि विमान की हाल में व्यापक मरम्मत की गई थी और यह नए विमान की तरह ही बेहतर था। उन्होंने कहा, ‘मैं सदस्यों की उद्विग्नता को समझ सकता हूं। मैं भी विमान के अचानक गायब हो जाने से परेशान हूं। मैंने कई विशेषज्ञों एवं पूर्व वायुसेना प्रमुखों से बात की है तथा वे भी अचानक गायब हो जाने से हैरत में हैं।’

इसे भी पढ़िए :  तकनीक के जरिए वोडाफोन, आइडिया और एयरसेल छुपा रही है कॉल ड्राप

उन्होंने कहा, ‘हम उम्मीद कर रहे हैं कि हम इसका पता लगा लेंगे। मैं आपको आश्वस्त कर रहा हूं कि अधिकतम प्रयास किए जाएंगे। रडार पर एक भी सिग्नल रिकॉर्ड नहीं किया गया. हम अमेरिकी रक्षा बलों से संपर्क करने का प्रयास कर रहे हैं कि क्या उनके उपग्रहों ने कोई सिग्नल पकड़ा है। उस दिन गहरे बादल थे।’

इसे भी पढ़िए :  डेंगू का टीका विकसित करेगा अमेरिका