‘विदेशी बहू’ के पक्ष पर उतरीं सुषमा स्वराज, कैसे बनी बात?

0

रूस की ओल्गा एफिमेंकोव की शादी साल 2011 में न्यू आगरा इंद्रपुरी निवासी विक्रांत चंदेल से हुई थी। उसके मुताबिक, शादी के बाद वह आगरा आई और बाद में गोवा चली गई। एक महीने से वह गोवा से ससुराल लौटी है, लेकि‍न सास ने उसे घर में रहने नहीं दे दिया। उसे पति के साथ घर से बाहर कर दिया गया है। उसका आरोप है कि ससुरालवाले दहेज के नाम पर उससे 10 लाख रुपये मांग रहे हैं। जब उसके पति विक्रांत ने इस बारे में बात करनी चाही, तो ससुरालवालों ने उसकी भी नहीं सुनी। ऐसे में न्याय के लिए वह पति और बेटे के साथ धरने पर बैठ गई थी।

इसे भी पढ़िए :  पाकिस्तान में भारतीय सूफियों को समझा गया रॉ का जासूस, इसिलिए किया गया गिरफ़्तार

आज तक की खबर के मुताबिक अपनी ही सास के खिलाफ धरने पर बैठी विदेशी बहू को आखिरकार इंसाफ तब मिला। जब मामले में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने संज्ञान लिया।

इसे भी पढ़िए :  भारत में सवास्थ्य सेवा का हाल, 893 मरीजों पर सिर्फ 1 डॉक्टर

सुषमा ने ट्वीट कर यूपी के सीएम अखिलेश यादव से मदद करने को कहा। इसके बाद रविवार की रात पुलिस विदेशी बहू के पास पहुंची। बहू ने पुलिस को सास और अन्य के विरोध में तहरीर दी है। पुलिस के मुताबिक, काउंसलिंग के बाद सास और बहू के बीच सुलह हो गई है।

इसे भी पढ़िए :  PoK में लगे पाकिस्तान वापस जाओ के नारे, सड़कों पर उतरे लोग

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY