नाइक ने मीडिया को बताया गैरजिम्मेदार, कहा पहले रिसर्च करो फिर करो रिपोर्टिंग

0

नई दिल्ली । विवादों में घिरे मुस्लिम धर्मगुरू जाकिर नाइक ने मीडिया पर हमला बोला है।ढाका के एक रेस्टोरेंट में हमला करने वाले आतंकियों में से एक के जाकिर नाइक से प्रभावित होने की खबर आने पर जाकिर ने मीडिया को निशाने पर लिया है। उन्होने मीडिया को चुनौती दी है कि वे बांग्लादेशी सरकार का आधिकारिक बयान दिखा दें कि हमलावरों को उन्होने प्रभावित किया।जाकिर ने कहा है कि ‘जब भी कोई सूचना मिले तो उसे किसी को देने से पहले उसके जांच करनी चाहिए,लेकिन मेरे मामले में मीडिया ने ऐसा नहीं किया। मीडिया ने अगर थोड़ी रिसर्च कर ली होती तो मेरे बारे में ऐसा नहीं लिखते’। जाकिर ने यह संदेश पीस टीवी के जरिए दिया है। जाकिर ने अपने ट्विटर हैंडल पर करीब पांच मिनट का वीडियो भी अपलोड किया है। इस वीडियो में जाकिर बता रहे हैं कि कैसे ढाका हमले के बाद उन्हे निशाने पर लिया गया,और उनके खिलाफ़ नकारात्मक प्रचार की शुरूआत हुई। उन्होने कहा है कि ‘बांग्लादेश के एक अखबार ने एक अप्रामाणिक खबर छापी थी,उसके बाद भारतीय मीडिया ने उसे जैसे का तैसा उठा लिया’।

इसे भी पढ़िए :  जुलाई के पहले पखवाड़े में रद्द रहेंगी 60 से ज्यादा ट्रेनें, जानिए पूरी लिस्ट

जाकिर ने दावा किया कि उन्होने बंग्लदेशी सरकार के अधिकारियों से इस सिलसिले में बात की और कहा कि वो ऐसा नहीं मानते हैं।नाइक की माने तो बांग्लादेश के आधे लोग उनके फ़ैन हैं।उन्होने कहा कि ‘आतंकी मेरा फ़ैन हो सकता है, लेकिन उसे मैने नहीं उकसाया’।
जाकिर ने खुद को कई देशों में बैन किए जाने की खबर को भी गलत बताया है।वीडियो में उन्होने कहा है कि मलेशियाई सरकार द्वारा उन्हे बैन किए जाने की खबर झूठी है,और मीडिया को इस बात को प्रचारित करने से पहले थोड़ी रिसर्च कर लेनी चाहिए थी।उन्होने कहा कि मलेशिया की सरकार ने उन्हे अपने देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान दिया है।नाइक के मुताबिक अभी तीन महीने पहले उन्होने मलेशिया में एक आधिकारिक लेक्चर भी दिया था। जाकिर ने कहा कि ‘चार दिन के उस दौरे में वहां के पीएम, डेप्युटी पीएम समेत 40 मंत्रियों ने उनसे मुलाकात की थी’।

इसे भी पढ़िए :  CM योगी की हिंदू युवा वाहिनी के नोएडा महामंत्री की गाड़ी का ये वीडियो देखकर उड़ जाएंगे आपके होश

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY