हॉकी चैंपियन ने कहा हॉकी को अलविदा, नहीं सह पाई कोच और अधिकारियों की ‘डर्टी पॉलिटिक्स’ !

0
हॉकी
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

भारत की महान हॉकी खिलाड़ी और पूर्व कप्तान रितु रानी ने अंतर्राष्ट्रीय हॉकी से सन्यास ले लिया है। हालांकि रितु के लिए ये फैसला बेहद मुश्किलभरा है क्योंकि रितु के लिए हॉकी खेल नहीं बल्कि पैशन बन चुकी थी। ये उनका जुनून ही था का उन्हें हॉकी की महिला टीम की कप्तानी का सौभाग्य भी हासिल हुआ। बताया जा रहा है कि रितु की अपने कोच और हॉकी एसोसिएशन के अधिकारियों से अनबन चल रही थी। जिसके चलते उन्होंने हॉकी छोड़ने का फैसला लिया।

इसे भी पढ़िए :  कांग्रेस को बड़ा झटका, यूपी में प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री ने छोड़ दिया पार्टी का दामन

रितु को रियो ओलंपिक जाने वाली भारतीय टीम में भी शामिल नहीं किया गया था। रितु को रियो ओलंपिक की टीम से उनके व्यवहार और हॉकी इंडिया से उनके संबंधों का हवाला देते हुए टीम से बाहर कर दिया गया था। इसलिए उन्होंने अपना अंतरराष्ट्रीय करियर खत्म करने का फैसला किया। हालांकि उन्हें रविवार से भोपाल में शुरू हुए राष्ट्रीय शिविर के लिए 29 संभावितों में शामिल किया गया था।

हॉकी इंडिया के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने कहा, “हमें दो-तीन दिन पहले रितु रानी का मेल मिला जिसमें उन्होंने बताया कि वह राष्ट्रीय शिविर से नहीं जुड़ सकती क्योंकि वह अंतरराष्ट्रीय हॉकी से संन्यास ले रही हैं.” उन्होंने कहा, “यह उनका निजी फैसला है और हॉकी इंडिया उनके फैसले का सम्मान करता है। हॉकी इंडिया खेल और देश को दी गई उनकी सेवाओं के लिए शुक्रिया कहना चाहेगा।”

रितु की अगुवाई में भारतीय हॉकी टीम ने जीते थे कई बड़े खिलाब, खेल के मैदान में जीत का परचम लहराने वाली रितु की बड़ी उपल्बियों पर एक नज़र डालने के लिए, अगली स्लाइड में जाएं, NEXT बटन पर क्लिक करें –

Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

इसे भी पढ़िए :  रियो ओलंपिक में खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ाएंगे सचिन तेंदुलकर

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY