ओलम्पिक – डोपिंग के लिए रूसी खिलाड़ी से रजत पदक छिना

0
ओलम्पिक
रसियन खिलाड़ी येवगेनिया कोलोद्को की फाइल फोटो

रियो डि जिनेरियो:एएफपी: अंतरराष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (आईओसी) ने डोपिंग के लिए रूस की येवगेनिया कोलोद्को से 2012 के लंदन ओलम्पिक में जीता गया उनका रजत पदक छीन लिया है। पिछले ओलम्पिक से अयोग्य करार दी गयी वह दूसरी पदकधारी हैं। लंदन और 2008 के बीजिंग खेलों में लिए गए नमूनों की नयी जांच के बाद पकड़े गए पदक विजेताओं की बड़ी होती सूची में येवगेनिया नया नाम है।आईओसी ने कहा कि रूसी गोला फेंक खिलाड़ी के डोपिंग नमूने में दो प्रतिबंधित पदार्थ – टुरिनाबोल और हार्मोन बढ़ाने वाला इपामोरेलिन पाए गए थे। येवगेनिया प्रतिस्पर्धा में तीसरे स्थान पर रही थीं लेकिन ओलम्पिक खत्म होने के एक हफ्ते बाद बेलारूस की विजेता नादजेया ओस्तापचुक के डोप टेस्ट में असफल होने के बाद उन्हें कांस्य की जगह रजत पदक मिल गया।

इसे भी पढ़िए – देखिए, सिंधू की वो 5 तस्वीरें, जिसे देख कर आप सैल्यूट किए बिना नहीं रहेंगे
इसे भी पढ़िए – ‘क्या आपको पीवी सिंधु की जाति पता है’ ?

न्यूजीलैंड की वेलेरी एडम्स अब नयी स्वर्ण पदक विजेता और चीन की लिजिआओ रजत पदक विजेता हैं। आईओसी ने रूसी ओलम्पिक समिति को आदेश दिया कि ‘‘पदक, पदकधारी का पिन और डिप्लोमा जितनी जल्दी संभव हो उतनी जल्दी आईओसी को लौटा दिए जाएं।’’ इससे पहले रूस की चार गुणा 100 मीटर महिला रिले टीम ने डोप टेस्ट में असफल होने के बाद बीजिंग ओलम्पिक का स्वर्ण और चार गुणा 400 मीटर टीम ने रजत पदक गंवा दिए

इसे भी पढ़िए – कश्मीर : पत्थरबाजों को अब आज़ादी के साथ पुलिस में नौकरी भी चाहिए

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY