क्या होगा अंजाम अगर ये 15 नौजवान बन गए इस्लामिक स्टेट के आतंकी?

0

केरल के कसरगॉड और पलक्कड जिले से मीडिल-ईस्ट देशों में घुमने गए 15 युवा अभी तक घर वापस नही लौटे हैं ।इन युवाओं के परिवार वालों को आशंका है कि कहीं वो लोग ईस्लामिक स्टेट में शामिल ना हो गए हो। कसरगॉड से सांसद करुणाकरण ने बताया कि मुख्यमंत्री पीनारयी विजयन ने केरल पुलिस को जल्द से जल्द इस मामले की जांच करने का आदेश दे दिया हैं।

युवाओं के परिवार वालों का कहना है कि पिछले एक महीने से उन लोगों की आवाज नही सुनी गई है। उन्हें डर है कि कहीं गुुमशुदा लोग वहां धार्मिक अध्यन्न करके प्रभावित ना हो गए हों। कसरगॉड जिले के पंचायत सदस्य वी पी पी मुस्तफा ने बताया कि ईद के दिन गुम हुए दो युवाओं ने अपने माता-पिता को व्हॉस्टएप्प पर मैसेज भेजा कि,” हमलोग वापस नही आ रहें है,यहां का माहौल बहुत अच्छा है। आपलोगों को भी यहां आ जाना चाहिए।”और साथ हीं एक दुसरे में संदेश में बताया कि यूएस द्वारा मुस्लिमों पर किए जा रहे हमले से लड़ने के लिए हमलोगों इस्लामिक स्टेट में
शामिल हो गए हैं।“

इसे भी पढ़िए :  नोटबंदी से आतंकवाद पर जोरदार चोट, घाटी में हिसंक घटनाओं में भारी कमी

इस संदेश के मिलते हीं परिवार वालों नें करुणाकरण,थ्रीकारिपुर के विधायक एम राजागोपालन से चर्चा की और उसके बाद मुख्यमंत्री को सूचित किया गया। राजागोपाल ने पीटीआई से बातचीत में बताया कि गुम हुए सभी युवाओं की उम्र 30 साल से कम है और सभी ने अच्छी शिक्षा ग्रहण रखी है।गुम हुए युवाओं मे से एक के पिता हकीम ने एक टेलीविजन के साक्षात्कार में बताया कि बताया कि,” उनका बेटा पिछले एक महीने से गायब है और अभी तक उसकी कोई खबर नही है। यदि वह अच्छे इंसान की तरह घर लौटा तो हम उसका स्वागत करेंगे,वरना हम उसकी मृत शरीर भी नही देखना चाहेंगे।

इसे भी पढ़िए :  पाकिस्तान को झटका, यूएन ने कहा जम्मू कश्मीर नहीं है हमारे एजेंडे का हिस्सा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY