जेल में जुल्म, मां तड़पती रही, लेकिन बेटी का इलाज नहीं हुआ, मौत

0
जेल
बच्ची की मौत के बाद अस्पताल में बिलखती मां

उत्तर प्रदेश के बलिया से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है, जहां जेल प्रशासन ने आठ महीने की बच्ची का इलाज करने से मना कर दिया। परिणामस्वरूम बच्ची की दर्दे से तड़प कर मौत हो गई।

करीब 25 दिन जिले के फेफना इलाके से, रिंकू नाम की महिला को चेन स्नैचिंग के मामले में गिरफ़्तार कर के जेल भेजा गया था। रिंकू के साथ उसकी आठ महीने की बच्ची शालू को भी जेल में डाल दिया गया था। शनिवार की रात को आठ महीने की शालू की तबियत खराब हुई। अपनी बेटी के इलाज के लिए रिंकू, जेल प्रशासन से गुहार लगाती रही, लेकिन जेल अधिकारियों का दिल नहीं पसीजा। आठ महीने की शालू पूरी रात उल्टी और दस्त से परेशान रही। सुबह तक जब शालू अधमरी हो गई, तब जाकर जेल प्रशासन ने उसे सरकारी अस्पताल भेजा। लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही बच्ची की मौत हो गई।

इसे भी पढ़िए :  गुजरात में कानून-व्यवस्था की हालत यूपी-बिहार से भी बदतर: हाईकोर्ट

मामले की पुष्टी करने के लिए कोबरा पोस्ट ने बलिया के एडिशनल एसपी रामाज्ञ यादव से बात की। उन्होने इस घटना के पुष्टी तो की लेकिन साथ ही ये भी कहा कि इस मामले में हुई लापरवाही की कोई जांच नहीं जा रही है। इस मामले में हमने जब बलिया के जेल अधीक्षक से बात करनी चाही तो कई बार घंटी जाने के बाद भी उन्होने फोन नहीं उठाया।
खबर इनपुट- अमित कुमार, बलिया

इसे भी पढ़िए :  कांग्रेस को एक और झटका, दिल्ली महिला कांग्रेस अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा, कहा- राहुल पार्टी प्रेसिडेंट बने तो डिजास्टर होगा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY