CBI करेगी पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड की जांच

0
फाइल फोटो।

नई दिल्ली। बिहार के सीवान जिले में हिन्दी दैनिक अखबार के ब्यूरो चीफ राजदेव रंजन की हत्या के चार महीने के बाद मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी गई है। सीबीआई के सूत्रों ने कहा कि राजदेव रंजन की हत्या के सिलसिले में उसके द्वारा मामला दर्ज किए जाने के बाद एक टीम सीवान जाएगी। राजदेव ‘हिन्दुस्तान’ अखबार के सीवान जिले में ब्यूरो चीफ थे।

इसे भी पढ़िए :  साल 2016 में दुनियाभर में कम से कम 57 पत्रकार रिपोर्टिंग के दौरान मारे गए

उन्होंने कहा कि हाल ही में जेल से रिहा हुए कथित गैंगस्टर और राजद नेता शहाबुद्दीन इस मामले में जांच एजेंसियों के संदेह के घेरे में हैं। सूत्रों ने कहा कि बिहार ने मामला सीबीआई को सौंप दिया है। एजेंसी इस सिलसिले में आपराधिक षड्यंत्र और हत्या के संबंध में प्राथमिकी दर्ज करने की तैयारी कर चुकी है।

इसे भी पढ़िए :  बिहार के बाहुबली शहाबुद्दीन 11 साल बाद जेल से रिहा, लालू को बताया सच्चा हमदर्द

राज्य सरकार ने एक अधिसूचना जारी कर सीबीआई से हत्या कांड की जांच अपने हाथों में लेने की अनुरोध किया था। 13 मई के इस हत्याकांड के बाद पत्रकार के परिजन ने जांच सीबीआई से कराने की मांग की थी।

इसे भी पढ़िए :  लालू के बेटे तेज प्रताप का शार्प शूटर से क्या है रिश्ता ? तस्वीर में दोनों दिखे साथ

इस मामले के संदिग्धों मोहम्मद कैफ और मोहम्मद जावेद की एक तस्वीर शनिवार को शहाबुद्दीन के साथ आने के बाद मामला फिर से सुखिर्यों में आ गया था। पटना हाई कोर्ट से जमानत मिलने के बाद शनिवार को भागलपुर जेल से रिहा हुए शहाबुद्दीन की एक तस्वीर में दोनों संदिग्ध उनके साथ नजर आ रहे हैं।