चिकनगुनिया से मरने वालों की संख्या 13 हुई, केन्द्र ने दिल्ली सरकार से मांगी रिपोर्ट

0

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में चिकनगुनिया से होने वालों मौतों की संख्या बढ़कर 13 हो गई है। इसबीच केन्द्र ने डेंगू, चिकनगुनिया से हुई मौतों तथा मरीजों की मेडिकल हिस्ट्री की विस्तृत रिपोर्ट  आज दिल्ली सरकार से मांगी है।

दक्षिणी दिल्ली के लाजपत नगर इलाके के गुलाब चंद गुप्ता (70) की 12 सितंबर को मृत्यु हुई थी। उनके परिवार के एक सदस्य ने यह जानकारी दी उनके दामाद संतोष मंगल ने कहा कि ‘उन्हें सात सितंबर को दक्षिणी दिल्ली के पुष्पावती सिंघानिया रिचर्स इंस्टीट्यूट में भर्ती कराया गया था। 12 सितंबर को चिकनगुनिया के कारण उनकी मृत्यु हो गयी। मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार उनकी मृत्यु तेज बुखार, सेप्टिक शॉक और कई अंगों के काम करना बंद करने से हुई है।’

इसे भी पढ़िए :  अखिलेश सरकार के दौरान भर्तियों में हुआ गड़बड़झाला! CM योगी ने तलब किए UPPSC के चेयरमैन

दिल्ली में गुरुवार(15 सितंबर) तक चिकनगुनिया से 12 लोगों के मरने की सूचना थी। इनमें से अपोलो तथा सर गंगा राम अस्पताल में पांच-पांच, जबकि एम्स और हिन्दू राव अस्पताल में एक-एक मौतें हुई थीं।

इसे भी पढ़िए :  यहां बिना कानून तोड़े ‘कालाधन’ हो रहा सफेद

राजधानी में अभी तक डेंगू और चिकनगुनिया से कम से कम 31 लोगों की मौत हुई है, जबकि करीब 3,000 लोग इन बीमारियों से प्रभावित हैं। डेंगू से 18 लोगों की जान गयी है, जबकि इससे 1,100 से ज्यादा लोग प्रभावित हैं।

यकृत प्रतिरोपण पर आयोजित सिम्पोजियम से इतर केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जगत प्रकाश नड्डा ने कहा कि ‘‘हमें शहर में वेक्टर जनति बीमारियों से हुई मौतों पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। हमने मृतकों की मेडिकल हिस्ट्री भी मांगी है, ताकि पता चल सके कि उन्हें साथ में कोई और बीमारी भी थी या नहीं।’’

इसे भी पढ़िए :  'केजरीवाल 'मच्छर स्ट्राइक' ही करके दिखाओ, कुछ करके तो दिखाओ'

उन्होंने कहा कि ‘‘दिल्ली में जिन मरीजों की जांच हो रही है, उनमें से कई एनसीआर से आ रहे हैं, ऐसे में वहां भी बुखार के लिए क्लिनिक लगाए जा सकते हैं। हम हरियाणा और एनसीआर की अन्य सरकारों के साथ मिलकर इसे सुलझा रहे हैं।’’

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY