2017 में होने वाले गुजरात चुनाव में बीजेपी जीतेगी इतनी सीटें?

0
चुनाव

2017 में होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव को देखते हुए कांग्रेस ने एक रिपोर्ट तैयार की है। बताया जा रहा है कि ये रिपोर्ट कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को भी भेजी गई है। टाइम्‍स ऑफ इंडिया के मुताबिक, रिपोर्ट में कहा गया है कि 2017 के विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी 182 में से 97 सीटें जीत सकती है। इसी रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर कांग्रेस भाग्‍यशाली हुई तो अधिकतम 82 सीटें जीतेगी। टीओई ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि यह रिपोर्ट ‘पेशेवर एजेंसियों की मदद’ से तैयार की गई है। रिपोर्ट के अनुसार, विधानसभा की 182 सीटों में से ”52 सीटों पर भाजपा के जीतने की 100 फीसदी संभावना है, जबकि अन्‍य 45 सीटों पर बीजेपी के जीतने की संभावना 80 से 85 फीसदी है।” दोनों को जोड़ दें तो संख्‍या 97 हो जाती है। अगर ऐसा होता है तो विधानसभा में आराम से भाजपा को बहुमत मिल जाएगा। अगर सत्‍ताधारी पार्टी कोई और सीट नहीं भी जीतती, तो भी वह कम बहुमत के साथ सरकार बना लेगी।

इसे भी पढ़िए :  ‘कांग्रेस ही देश को सांप्रदायिकता और गरीबी की दलदल से निकाल सकती है’

रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि अगर कांग्रेस बाकी बची 85 सीटें जीत भी ले, तो भी वह सरकार नहीं बना पाएगी। रिपोर्ट के मुताबिक, बीजेपी की 52 ‘ए ग्रेड सीटों’ (जहां भाजपा का जीतना तय है) के मुकाबले कांग्रेस के पास सिर्फ 8 ‘ए ग्रेड सीटें’ हैं। पार्टी के एक सूत्र ने कहा कि कांग्रेस को अभी भी कई कमियां दूर करनी है। पार्टी की चार बड़े शहरों और अर्द्धशहरी क्षेत्रों में कम पहुंच है। इसके अतिरिक्‍त भाजपा बूथ-लेवल मैनेजमेंट में कांग्रेस से कहीं आगे है। कांग्रेस सूत्र ने TOI से कहा, ”भाजपा को कड़ी टक्‍कर देने के लिए कांग्रेस को कई गुना प्रयास करने होंगे।”

इसे भी पढ़िए :  गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने दिया इस्तीफा, बोले अमित शाह- संसदीय बोर्ड लेगा फैसला

गुजरात, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गृह राज्‍य है। उन्‍होंने अपने विश्‍वासपात्र विजय रुपानी को राज्‍य का मुख्‍यमंत्री नियुक्‍त किया है। प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी ने आनंदीबेन पटेल को मुख्‍यमंत्री बनाया था, मगर विवादों में फंसने के बाद पटेल ने इस्‍तीफा सौंप दिया। जिसके बाद शाह और मोदी की जोड़ी ने रुपानी को चुना। 2017 के चुनावों के लिए भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह खुद चुनाव प्रबंधन पर नजर रखेंगे।

इसे भी पढ़िए :  बेटी की तरफ़ देखने परे दिव्यांग को पीट पीट कर मार डाला

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY