लाखों लोगों ने देखी भगवान की ‘रथयात्रा’

0

पुरी।कड़ी सुरक्षा के बीच भगवान जगन्नाथ की विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा का आयोजन ओड़िशा के इस पवित्र शहर में आज पूरे उल्लास और धार्मिक रस्मो रिवाज के साथ किया गया।देश और विदेश के लाखों श्रद्धालु इस शहर में नौ दिनों तक चलने वाली भगवान जगन्नाथ, भगवान बलभद्र और देवी सुभद्रा की रथयात्रा देखने के लिए उमड़ पड़े। रथयात्रा गुंडिचा मंदिर से शुरू होकर वापस उनके निवास तक पहुंचती है।विभिन्न क्षेत्रों के लोग कल से ही इस शहर में उमड़े हुए हैं ताकि 12वीं सदी के भगवान जगन्नाथ मंदिर के देवी..देवताओं की एक झलक पा सकें।श्रद्धालु काफी उत्साहित हैं क्योंकि भगवान 20 जून को ‘‘स्नान पूर्णिमा’’ से ही मंदिर के अंदर हैं।देवताओं का ‘‘नबा जौबाना दर्शन’’ कल से शुरू हुआ क्योंकि ‘‘स्नान पूर्णिमा’’ के दिन से ही वे ‘‘अनसारा पिंडी’’ के अंदर हैं।इस अवसर पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के इस पवित्र शहर में जुटने को देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए हैं। काफी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात करने के अलावा हवाई और तटीय निगरानी की भी व्यवस्था की गई है।
पुलिस महानिदेशक के. बी. सिंह ने कहा कि समारोह को सुचारू रूप से संचालित करने के लिए बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है और विभिन्न स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं ताकि लोगों पर नजर रखी जा सके।उन्होंने कहा कि मंदिर के बाहर, रथों के आसपास और ग्रैंड रोड, समुद्री तट, रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर सुरक्षा कड़ी की गई है। उन्होंने कहा कि गश्त बढ़ा दी गई है।
एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘‘हम किसी भी स्थिति का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। भगदड़ जैसी स्थिति से बचने के लिए कदम उठाए गए हैं।’’ आतंकवाद निरोधक दस्ता, रैपिड एक्शन फोर्स और शार्प शूटर को विभिन्न महत्वपूर्ण स्थानों पर तैनात किया गया है जबकि समुद्र में तटरक्षक बल निगरानी कर रहे हैं।

इसे भी पढ़िए :  मराठा मुद्दा: शिवसेना प्रमुख ने CM फडणवीस से की मुलाकात, विशेष सत्र बुलाने की मांग की

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY