इस कुत्ते की वफादारी की कहानी सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे!

0

नई दिल्ली।  अभी कुछ पहले चीन में डॉग फेस्टिवल और उसके बाद भारत में एमबीबीएस के छात्र द्वारा कुत्ते को तीन मंजिली इमारत से फेंकना मानवता को शर्मशार करने वाली घटनाएं हैं। कुत्ता इंसान का सबसे वफादार साथी माना जाता है और वह हर बार यह साबित करके भी दिखाता है। मामला भुवनेश्वर से करीब 400 किलोमीटर दूर गजापति जिले का है जहां डाबरमैन नस्ल के एक कुत्ते ने अपने मालिक की जान बचाने के लिए एक नहीं पूरे चार कोबरा सांपों से लगभग चार घंटे तक कड़ा मुकाबला किया। हालांकि इस संघर्ष में कुत्ते की तो मौत हो गई लेकिन उसके मालिक तथा उसके परिवार की जान बच गई।

इसे भी पढ़िए :  'भाई मुझे माफ कर दो…तुम्हारी पत्नी से प्यार करता हूं… तुम्हें मरना पड़ेगा'

घटना सोमवार के रात की है, जब रायगढ़ ब्लॉक के गांव साबेकपुर में दिबाकर रेता के घर 4 सांप घुसने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन वहीं सुरक्षा में चौकस वफादार कुत्ते की नजर से वे नहीं बच सके। खतरे की स्थिति को भांपते हुए कुत्ते ने उन चारों कोबरा सापों पर धावा बोल दिया। चार घंटे तक चली इस लड़ाई में हालांकि जीत कुत्ते की हुई, लेकिन अंतत-सापों के डसने से कुत्ते के शरीर में जहर फैल गया और सांपों को मारने के कुछ ही मिनटों के बाद उसने भी दम तोड़ दिया।

इसे भी पढ़िए :  शहर में नमक की कोई कमी नहीं, अफवाहाें पर ना दें ध्यान: दिल्ली सरकार

कुत्ते के मालिक दिबाकर कहते हैं: मैं हैरान हूं। उसने मेरे और मेरे परिवार के लिए अपनी जान दे दी। मैं अपने जीवन की आखिरी सांस तक उसे याद रखूंगा। दिबाकर ने बताया कि उन्होंने कुछ ही महीने पहले उस डाबरमैन को खरीदा था। दिबाकर ने कुत्ते की मौत के बाद उसका अंतिम संस्कार भी करवाया।

इसे भी पढ़िए :  अपने साथी को मारने के बाद 8 साल के बच्चे ने पूछा – ‘मौत क्या होती है’

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY