राजनीति में शालीनता की एक रेखा पार न करें नेता- ममता

0

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का मानना है कि, राजनीति में शालीनता की एक रेखा होनी चाहिए। कोलकाता में ममता ने कहा कि, ‘‘मैं निजी हमले करने पर यकीन नहीं रखती और राजनीति में शालीनता की एक रेखा होनी चाहिए। आपने कई तरीकों से मुझ पर निजी रूप से हमले किए हैं।’’ उन्होंने यह भी कहा कि , ‘‘क्योंकि हम कुछ मामलों पर आपके खिलाफ हैं, तो इसका यह मतलब नहीं हुआ कि मैं सोनिया जी या राहुल गांधी पर हमला करूंगी, यह मेरी शालीनता है। इसी प्रकार मैंने बुद्धदेव भट्टाचार्य या ज्योति बाबू पर निजी हमला नहीं किया।’’ ममता ने यह भी कहा कि, विपक्ष ने उनके खिलाफ ‘‘दुर्भावनापूर्ण एवं आधारधीन मुहिम’’ चलाकर शालीनता की रेखा पार दी है।

इसे भी पढ़िए :  लोगों के खिलाफ मकदमे दर्ज करने में आरएसएस ने की है पीएचडी: कांग्रेस

गौरतलब है कि कांग्रेस नेता अब्दुल मन्नान ने सदन के भीतर मुख्यमंत्री के खिलाफ कथित रूप से कुछ आपत्तिजनक बयान दिए थे। हालांकि विधानसभा अध्यक्ष ने उनके भाषण को कार्यवाही से हटा दिया था।

इसे भी पढ़िए :  मोदी से पहले बलूचिस्तान मुद्दे को यूपीए सरकार ने उठाया था: कांग्रेस