हैवान पति ने किए पत्नी के टुकड़े-टुकड़े, फिर सूटकेस में भरकर लगाई आग

0

हैदराबाद। कहते हैं कि पति-पत्नी का रिश्ता सबसे गहरा रिश्ता होता है, ये रिश्ता हमेशा प्यार और विश्वास की डोर से बंधा होता है। लेकिन हैदराबाद में दिल दहला देने वाली वारदात के बारे में सुनकर आप सकते में पड़ जाएंगे। जी हां मामला हैदराबाद का है। जहां 36 साल के रुपेश कुमार मोहनानी की एक दिन पहले ही अपनी बीवी सिंथिया के साथ फायनेंशियल प्रॉब्‍लम को लेकर लड़ाई हुई थी। 8 साल पहले उसने कांगो की नागरिक सिंथिया से शादी की थी। रुपेश को शक था कि उसकी बीवी का फेसबुक पर मिले किसी शख्‍स से अफेयर चल रहा था। पुलिस का कहना है कि आवेश में आकर रुपेश ने अपनी पत्‍नी का गला घोंट दिया। उस वक्‍त उनकी बेटी सो रही थी।

इसे भी पढ़िए :  सुलग रहा है सहारनपुर: हिंसक झड़प में दर्जनों गाड़ियां आग के हवाले, जान बचाकर भागे पुलिसकर्मी

पत्नी को मौत के घाट उतारकर भी जब रुपेश का मन नहीं भरा तो उसने दरिंदगी की इंतेहा पार करते हुए कुछ ऐसा किया जिसे सुनकर पुलिस के भी होश फाख्ता हो गए। पुलिस का कहना है कि उसने दाे चाकू और एक कुल्‍हाड़ी की मदद से पत्‍नी की लाश के टुकड़े किए और उन्‍हें एक बैग तथा सूटकेस में भर दिया। रुपेश ने अंधेरा होने का इंतजार किया, फिर अपनी बेटी को ‘ड्राइव’ पर चलने के लिए कहा। वह गाड़ी चलाकर एक ऐसी जगह ले गया जो उसके मुताबिक सुनसान थी। वहां उसने बैग और सूटकेस पर पेट्रोल छिड़का और आग लगा दी।

इसे भी पढ़िए :  जम्मू-कश्मीर: कुलगाम में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ खत्म, पीठ दिखाकर भागे आतंकी

एक शातिर अपराधी की तरह कत्ल को अंजाम देकर रुपेश ने लाश को भी ठिकाने लगा दिया। लेकिन कहते हैं कि अपराधी चाहे जितना भी शातिर क्यों न हो वो कानून के शिंकजे से बच नहीं पाता। शायद ऊपर वाला रूपेश को उसके किए की सज़ा देना चाहता है। कुछ कारण ऐसे बने कि लाख शातिर होने के बावजूद रूपेश खुद को पुलिस की हथकड़ी से बचा ना सका। उसे लगा कि किसी को पता नहीं चलेगा। मगर पास के गांववालों ने झाड़‍ियों से धुआं उठता देखा तो उन्‍होंने पुलिस को खबर कर दी।

इसे भी पढ़िए :  खौफ के 12 घंटे, 90 राउंड फायरिंग और ATS की कड़ी मेहनत के बाद... ISIS आतंकी एनकाउंटर में ढेर

रूपशे ने गाड़ी भगाने की कोशिश की, लेकिन पहिए कीचड़ में फंस गए। पुलिस ने उसे शहर के साइबराबाद इलाके से गिरफ्तार कर लिया है। रूपेश के गिरफ्तार होने के बाद उसकी छोटी सी मासूम बेटी अकेली रह गई। उस बच्ची को ये तक नहीं पता कि उसकी मां अब इस दुनिया में नहीं है। और उससे उसकी मां को छीनने वाला भी कोई और नहीं बल्कि उसका खूंखार बाप है। फिलहाल रूपेश की बेटी अपने दादा-दादी के साथ है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY