जानिए, एक मुस्लिम छात्र को स्कूल ने एडमिशन देने से क्यों किया मना

0

मऊ।मऊ में एक मुस्लिम छात्र का आरोप है कि दाढ़ी रखने के कारण,एक प्राइवेट स्कूल में उसे एडमिशन नहीं दिया गया। डीएम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं.डीआईओएस को दो दिनों में जांच की रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है।
पीड़ित छात्र मो.आरिफ़ मऊ के खिरेबाग इलाके का रहने वाला है। आरिफ़ ने इसी साल सीबीएसई बोर्ड की दसवीं के परीक्ष पास की है। आरिफ़ का कहना है कि जिले के अमृत पब्लिक स्कूल में 11वीं में एडमिशन लेने के लिए जब वो फ़ॉर्म लेने स्कूल के काउंटर पर गया तो उससे कहा गया कि यहां दाढ़ी नहीं चलेगी।इसके बद जब इंट्रेंस टेस्ट का रिजल्ट आया तो उसे फेल बता दिया गया।आरिफ़ को शक हुआ कि उसे दाढ़ी के चलते जानबूझकर फ़ेल किया है इसलिए उसने स्कूल प्रशासन से टेस्ट की कॉपी दिखाने की मांग की,लेकिन स्कूल प्रशासन ने नियमों का हवाला देते हुए टेस्ट की कॉपी दिखाने से मना कर दिया।इसके बाद आरिफ़ ने पत्र लिखकर जिले के डीएम से इस बात की शिकायत की।
आरिफ़ का पत्र मिलने के बाद डीएम वैभव श्रीवास्तव ने स्कूल के मैनेजर को बुलाकर बात की। डीएम के सामने भी स्कूल के मैनेजर केडी सिंह ने आरिफ़ के फेल होने की बात दुहराई । टेस्ट कॉपी दिखाने पर उन्होने कहा कि टेस्ट के बद कॉपी को जलाकर नष्ट कर दिया जाता है।डीएम का कहना है कि मैनेजर की बातों पर शक होने पर डीआईओएस को जांच के आदेश दिए गए हैं।
डीआईओएस विनोद रॉय के मुताबिक जांच शुरू कर दी गई है।उन्हे भी स्कूल प्रशासन की बातों पर शक है, इसलिए स्कूल प्रशासन को आरिफ़ का टेस्ट दुबरा लेने की बात कही गई है।

इसे भी पढ़िए :  देशभर में धूमधाम से मनाई जा रही है ईद, पीएम और राष्ट्रपति ने दी शुभकामनाएं

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY