मेरठ के लापता बैंक मैनेजर की मिली लाश, तीन गिरफ्तार

0

मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में दो जुलाई से लापता कोऑपरेटिव बैंक कचहरी रोड के जूनियर मैनेजर प्रताप सिंह (53) के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर उनकी निशानदेही पर सिंह का शव बरामद कर इस सनसनीखेज प्रकरण का खुलासा कर दिया। शव सड़ी-गली अवस्था में रैसना गांव स्थित काली नदी से बरामद किया गया।

पुलिस के अनुसार प्रताप ने जिन लोगों को ब्याज पर 20 लाख रुपया दे रखा था, उन्हीं ने रुपया न चुकाने के लिए कत्ल कर डाला। हालांकि परिजन शव की दशा देखकर इसे प्रताप सिंह का होने से इनकार कर रहे हैं। पुलिस अब शव की डीएनए जांच कराने जा रही है।

इसे भी पढ़िए :  मजदूरी करने वाली महिला के खाते में आए 100 करोड़ रुपये से मचा हड़कंप, पीएम से मांगी मदद

पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश के अनुसार पकड़े गए आरोपी राजकुमार, संजय और विकास हैं। पुलिस पूछताछ में राजकुमार ने बताया कि बैंक मैनेजर प्रताप सिंह ब्याज पर रुपये देते थे। उसने साढ़े 9 लाख रुपये खुद ब्याज पर ले रखे थे जबकि अपनी बहन सहित अन्य कई लोगों को करीब साढ़े 10 लाख रुपये दिला रखे थे। सारे रुपये राजकुमार के माध्यम से दिए गए थे इसलिए ब्याज की रकम भी राजकुमार के जरिये ही प्रताप को जाती थी।

इसे भी पढ़िए :  पीएम मोेदी ने कहा- 'खुशी हुई कि संयम के साथ नोट बदल रहे हैं लोग'

पिछले तीन महीने से राजकुमार ब्याज भी नहीं दे रहा था। प्रताप आए दिन रुपये वापस करने के लिए दबाव बना रहे थे। रुपये हड़पने के लिए तीनों आरोपियों ने योजना बनाकर घटना के दिन यानी दो जुलाई की शाम प्रताप सिंह की जब वह तगादा करने राजकुमार की ट्रैकसूट फैक्ट्री में पहुंचे थे मौका देखकर कथित रूप से रस्सी से गला घोंटकर हत्या कर दी और शव को रैसना गांव के पास काली नदी में डाल दिया।

इसे भी पढ़िए :  औरेया जिले मिली सुरंग पर रहस्य बरकरार, पुरातत्व विभाग करेगा जांच

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY