इन दलितों की दर्द भरी दास्तां सुनकर आप भी हो जाएंगे भावुक

0
दलितों पर
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

देश के कई हिस्सों में आज भी दलित जुल्म और अत्याचार सहने को बेबस हैं। मेवात में लगातार दलितों पर बढ़ रहे अत्याचारों का जायजा लेने के लिए बुधवार को अनुसूचित जाति एवं जनजाति आयोग के सदस्य ईश्वर सिंह ने मेवात का दौरा किया।
mewat2
सुबह करीब 10 बजे नूंह जिला मुख्यालय स्थित सर्किट हाउस पहुंचे और वहां पर उपायुक्त मनीराम शर्मा व पुलिस कप्तान कुलदीप यादव से स्थिति का जायजा लिया। इसके बाद उन्होंने जिला प्रशासन व दल-बल के साथ नीमखेड़ा, पुन्हाना, नवलगढ़ बिछौर गांवों में जाकर पीड़ितों की बात सुनी। सबसे पहले वे पुन्हाना खंड के गांव नीमखेड़ा पहुंचे। नीमखेड़ा में आरोपी सरपंच पक्ष की महिलाओं ने उनका रास्ता रोकने का प्रयास किया, लेकिन वे वहां से निकलकर सीधे दलित पीड़ित परिवार के पास पहुंचे।

इसे भी पढ़िए :  दलितों ने लगाई गुहार- या तो मंदिर में जाने दो या मुस्लिम बन जाने दो

इस दौरान दलितों की व्यथा सुनकर वे खुद भावुक हुए और कहा कि इन लोगों के लिए आजादी के कोई मायने नहीं हैं। ये लगातार शोषण की चक्की में पिस रहे हैं। साथ ही उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि वे पुलिस की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हैं। इसलिए पुलिस को चाहिए कि वह अपनी कार्रवाई में तेजी लाए और पीड़ितों को न्याय दिलाए।

इसे भी पढ़िए :  योगी आदित्यनाथ होंगे यूपी के नए मुख्यमंत्री, केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा डिप्टी सीएम
Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY