अखिलेश के पक्ष में उतरे राम गोपाल यादव, कहा मुलायम से हुई गलती

0
राम गोपाल यादव

समाजवादी पार्टी में मतभेद थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसी घमासान के बीच रामगोपाल यादव मुख्यमंत्री अख‍िलेश यादव से मिलने उनके घर पहुंचे। रामगोपाल यादव ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि ‘परिवार में कोई कलह नहीं है। अगर कोई विवाद है तो वो दूर हो जाएगा’। उन्‍होंने यह भी कहा कि ‘अगर सीएम खुद फैसले लेते हैं, तो वह अस्‍वाभाविक नहीं, थोड़ी सी गलतफहमी हुई’।

इसे भी पढ़िए :  पार्रिकर अपने बयान से पलटे, कहा: गोवा को पूर्ण रूप से कैशलेश बनाना संभव नहीं

रामगोपाल यादव ने कहा:

कई बार ऐसा होता है कि कुछ फैसले हो जाते हैं, जिससे लोगों को लगता है कि पार्टी में कोई दिक्‍कत है। ऐसा सभी पार्टियों में किसी न किसी परिस्थिति के कारण हो जाता है. मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने जो भी फैसले लिए, ज्‍यादातर पार्टी अध्‍यक्ष के कहने पर हुए और कुछ फैसले (जैसा कि उन्‍होंने कहा) खुद लिए. उत्‍तर प्रदेश जैसे राज्‍य का चीफ मिनिस्‍टर अगर कोई फैसले अपनी तरफ से लेते हैं, तो कोई अस्‍वाभाविक बात नहीं है। किसी मामूली प्‍वाइंट पर अगर कोई अंतर हो जाता है तो उसका समाधान भी हो जाता है। सीधी सी बात है कि मुख्‍यमंत्री (अखिलेश यादव) को जब पार्टी अध्‍यक्ष पद से हटाया गया, तो नेतृत्‍व से थोड़ी से जान-बूझकर न सही, लेकिन इतनी गलती हो गई कि उनसे अगर इस्‍तीफा मांग लेते तो वो इस्‍तीफा दे ही देते. इससे कोई समस्‍या ही नहीं होती. इस चक्‍कर में थोड़ी से गलतफ़हमी हुई और कोई बात नहीं। शिवपाल यादव के विभाग उन्‍हें वापस दिए जाएंगे या नहीं, इस मसले पर अभी इसलिए नहीं कह सकते क्‍योंकि मुख्‍यमंत्री से भेंट नहीं हुई है, लेकिन सुधार करने की कोशिश की जाएगी।

इसे भी पढ़िए :  घर में चल रही थी अवैध हथियार बनाने वाली फैक्ट्री, पुलिस ने किया भंडाफोड़