चाय की दुकान से बदली तक्दीर, मिला मलेशिया जाने का मौका

0

बोधगया। इंसान का समय और परिस्थितियां कब बदल जाएं किसी को नहीं पता है। बिहार के बोधगया में थाई मन्दिर के नज़दीक जितेंद्र की चाय की एक छोटी सी दुकान है। कई विदेशी पर्यटक जितेंद्र की दुकान पर चाय पीने आते हैं। जो भी विदेशी पर्यटक यहां चाय पी लेता है वो कहीं और जाना पसंद नहीं करता है। य़ही वजह है कि जितेंद्र को उसके विदेशी दोस्त ने एक पार्टी के लिए उसकी मलेशिया में बुलाया है, और प्लेन की टिकट भी भेज दी है।
दरअसल जितेंद्र ने ग़रीबी के चलते चाय की दुकान खोली थी। वो वहां आए विदेशी सैलानियां से उनके देश की चाय बनाते देखा करता था। देखते-देखते जितेंद्र ने 12 देशों की चाय बनाने में महारथ हासिल कर ली। उसके इसी हुनर और मेहनत ने जितेंद्र को मलेशिया का टिकट दिला दिया, दरअसल कुछ साल पहले मलेशिया के एक सैलानी जितेंद्र की दुकान पर चाय पीने आए थे। इस दौरान दोनों की दोस्ती हुई और फ़ोन नंबर का आदान-प्रदान हो गया। जितेंद्र को कई सालों बाद अचानक मैसेज आया कि तुम्हारा प्लेन का टिकट मेल कर रहा हूं। तुम्हें मलेशिया में वही स्वाद वाली भारतीय चाय को हमारे मेहमानों को पिलानी है।

इसे भी पढ़िए :  बिहार में जेडीयू नेता की गुंडागर्दी आम आदमी पर तानी पिस्टल, देखिए वीडियो

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY