तेलंगाना में अदालतों के 8000 कर्मचारी हड़ताल पर

0
RPT.....Hyderabad: Telangana Advocates’ protest as a part of the ‘Chalo High court’ demanding bifurcation of the existing Hyderabad high court and immediate recall of provisional allocation list of judicial officers between the states of Telangana and Andhra Pradesh in Hyderabad on Monday. PTI Photo (PTI6_13_2016_000113A)

तेलंगाना के आंदोलनरत न्यायाधीशों के साथ एकजुटता दिखाते हुए राज्य की विभिन्न अदालतों और अन्य न्यायिक विभागों में काम करने वाले करीब 8,000 कर्मचारी शुक्रवार को अनिश्चितकालीन हडताल पर चले गए हैं। इन कर्मचारियों ने उच्च न्यायालय के बंटवारे और आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के बीच न्यायिक अधिकारियों के अस्थायी नियुक्ति की सूची को वापस लेने सहित अन्य मांगे रखी हैं। अखिल भारतीय न्यायिक कर्मचारी एसोसिएशन के महासचिव बी लक्ष्मा रेड्डी ने कहा कि सभी 10 जिलों के कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। रेड्डी ने बताया, ‘‘आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के बीच न्यायाधीशों की नियुक्ति को हम तुरंत वापस लेने की मांग करते हैं। हमारी मांग है कि उच्च न्यायालय का बंटवारा होना चाहिए। हमारी मांगे पूरी होने तक हडताल जारी रहेगी।’’ रेड्डी समेत एसोसिएशन के अन्य आठ प्रमुख सदस्यों को उच्च न्यायालय ने कल आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में निलंबित कर दिया था। उच्च न्यायालय ने पिछले चार दिन में अनुशासनिक आधार पर 11 न्यायिक अधिकारियों को भी निलंबित किया है। वहीं इसके विरोध में 200 जज पहले ही छुट्टी पर लचे लए हैं।

इसे भी पढ़िए :  'बदसूरत महिलाओं के लिए ज्यादा दहेज' वाले चैप्टर को किताब से हटाया गया

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY