रात के अंधेरे में मुंबई की सड़कों पर फिर दिखाई देगी सजी-धजी ‘विक्टोरिया’

0
विक्टोरिया

कायम रहेगी ‘आमची मुंबई’ की असल पहचान, मायानगरी की सड़कों पर फिर से दौड़ेगी विक्टोरिया। जी हां देर रात.. अंधेरे में मुंबई की सड़कों पर जब सजी-धजी विक्टोरिया दौड़ती थीं, तो इस आलीशान गाड़ी में शान का सफर करने की बात ही कुछ और थी। ये गाड़ी लोगों को शाही ठाठ का एहसास कराती थी। इसमें सफर करने वाले तो भरपूर आनंद लेते ही थे..दूर खड़े होकर देखने वालों के लिए भी ये किसी सुखद ऐहसास से कम नहीं था। मुंबई में विक्टोरिया पर प्रतिबंध लगे बमुश्किल एक साल का वक्त गुजरा है कि एक बार फिर इस विक्टोरिया को सड़कों पर उतारने की तैयारी हो रही है।

इसे भी पढ़िए :  कावेरी विवाद: किसानों के भारी विरोध के बीच तमिलनाडु को पानी देगा कर्नाटक

बॉम्बे हाई कोर्ट ने एक याचिका की सुनवाई करते हुए कहा है कि पशुओं की क्रूरता विरोधी कानूनों का पूरा ध्यान रखते हुए महाराष्ट्र सरकार चाहे तो विक्टोरिया चलती रह सकती है। कोर्ट ने आगे कहा कि सरकार चाहे तो वह इसके लिए एक नई नीति बना सकती है या मौजूदा व्यवस्था के तहत बदलाव करके इस शौक और रोजगार को जारी रख सकती है।

इसे भी पढ़िए :  मुर्गों की लड़ाई पर लगे रोक, मुंबई हाई कोर्ट की सरकार को फटकार

दरअसल मुंबई उच्च न्यायालय ने साल 2015 में बृहन्मुंबई नगर निगम को निर्देश दिया था कि वह इस पर एक साल के भीतर रोक लगाएं। न्यायालय ने राज्य सरकार को इस फैसले से प्रभावित विक्टोरिया मालिकों और कोचमैन का पुर्नवास करने का भी निर्देश दिया था। सरकार ने बाद में कहा था कि पुर्नवास की नीति तय करने के लिए उसे कुछ समय चाहिए और बाद में इस उद्देश्य से गठित कमेटी ने 221 ऐसे लोगों की पहचान की थी जो प्रतिबंध से प्रभावित हुए थे।

इसे भी पढ़िए :  वीडियो में देखिए किस तरह से ताजमहल में CISF कॉन्सटेबल ने की तानाशाही

उच्च न्यायालय ने पिछले सप्ताह उदार रुख बरतते हुए कहा कि सरकार को एक नई नीति या नियम बनाने की जरुरत है जिसमें मनोरंजन के लिहाज से इन विक्टोरिया को चलाया जाए लेकिन घोड़ों का खास ध्यान भी रखा जाए।

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY