सीरिया में चल रहे खूनी संघर्ष का प्रतीक बना यह बच्चा, वीडियो देखकर रह जाएंगे हैरान

0
सीरिया

पांच साल का उमरान दाकनिश सीरिया में जारी खूनी संघर्ष और वहां की त्रासदी का नया प्रतीक बन गया है। उसकी तस्‍वीर सोशल मीडिया में वायरल हो गई है। तस्‍वीर को हजारों बार शेयर किया गया है। पूरी दुनिया इसे देखकर सदमे में हैं। यह बच्‍चा सीरियाई शहर अलेप्‍पो के नजदीक हुए एक हवाई हमले के बाद मलबे की चपेट में आने से बुरी तरह घायल हो गया था। हवाई हमला रूस या सीरियाई सरकार के लड़ाकू विमानों में से किसने किया यह फिलहाल साफ नहीं है।

इसे भी पढ़िए :  इस वर्ष के अंत तक राहुल संभाल सकते हैं कांग्रेस की कमान

उमरान की यह तस्‍वीर अलेप्‍पो के एक डॉक्‍टर ने खींचकर मीडिया को भेजी थी। उमरान का घर विद्रोहियों के कब्‍जे वाले अलेप्‍पो के उपनगरीय इलाके में स्‍थ‍ित था। बुधवार को हुए हवाई हमले में उसका घर तबाह हो गया। अलेप्‍पो मीडिया सेंटर ने एक वीडियो जारी किया है, जिसमें राहतकर्मी एक मकान के मलबे से उमरान को बाहर निकालते नजर आते हैं। हालांकि, इस दौरान वो रोता नहीं है। इसके बाद, उमरान को एक ऐसे अस्‍पताल ले जाया गया, जो खुद हवाई हमले की चपेट में आ गया था। यहां डॉक्‍टरों ने उसके सिर में लगी चोट का इलाज किया। उसके शरीर पर लगी धूल और खून को साफ किया। बाद में उसे जाने दिया गया। डॉक्‍टरों को इस बात की जानकारी नहीं है कि बच्‍चे के माता-पिता कहां हैं? एक अन्‍य वीडियो में ओमरान सीट पर बैठा नजर आता है। वह बेहद शांत है और वह सिर से लेकर पांव तक धूल से ढका हुआ है। वह अपना बायां हाथ उठाकर सिर और आंख पर लगे खून को साफ करता है।

इसे भी पढ़िए :  पाकिस्तान में नमाज के दौरान धमाका, 16 की मौत

हा‍ल के हफ्तों में अलेप्‍पो में जारी संघर्ष तेज हो गया है। यह संघर्ष विद्रोहियों और सीरियाई प्रेसिडेंट बशर अल असद व उनके सहयोगी रूस के बीच जारी है। रेड क्रॉस की इंटरनेशनल कमेटी ने इसे आधुनिक वक्‍त का सबसे भयानक संघर्ष करार दिया है। अलेप्‍पो में हुए जानमाल के नुकसान के बाद रूसी अधिकारियों ने कहा है कि वे अमेरिकी अफसरों से बात करके इस जंग को खत्‍म करने का रास्‍ता निकालने की कोशिश कर रहे हैं।

इसे भी पढ़िए :  केजरीवाल की मोदी से गुज़ारिश, उरी हमले के शरीदों को 1 करोड़ देने की सिफारिश

नीचे देखें उमरान का वीडियो

https://twitter.com/nbbrk/status/766199980017287168

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY