अमेरिका में दो अश्वेतों को गोली मारने पर भड़की पॉप स्टार बेयोंसे

0

लॉस एंजिलिस। पुलिस द्वारा दो अश्वेत लोगों को गोली मार दिए जाने के बाद पॉप स्टार बेयोंसे ने एक बयान जारी करके अपने प्रशंसकों को इस मुद्दे पर ‘कोई रूख तय करने’ और कानूनी बदलावों के लिए अभियान चलाने के लिए प्रोत्साहित किया है।

34 वर्षीय गायिका ने मिनेसोटा और लुइसियाना में अधिकारियों द्वारा फिलांदो कास्टाइल और एल्टन स्टर्लिंग की हत्या किए जाने के बाद यह बात कही है। उन्होंने कहा कि यह मुद्दा नस्ल से भी परे का है। इसके दायरे में ‘‘हर वो व्यक्ति है, जो खुद को हाशिए पर महसूस करता है और जो स्वतंत्रता एवं मानवाधिकारों के लिए संघर्ष कर रहा है।’’ बेयोंसे ने अपने प्रशंसकों से अपील की है कि वे नेताओं से संपर्क करें और बदलावों की ‘मांग’ करें । उन्होंने एल्टन स्टर्लिंग के लिए विरोध प्रदर्शन करने वालों के लिए लुइसियाना राज्य की विधानसभा की वेबसाइट और फिलांदो कास्टाइल के लिए विरोध प्रदर्शन करने वालों के लिए मिनेसोटा विधानसभा की वेबसाइट का लिंक साझा किया।

इसे भी पढ़िए :  अमेरिका में चुनाव के दौरान अलकायदा कर सकता है आतंकी हमले, FBI ने कहा हम भी हैं तैयार

उन्होंने अपनी वेबसाइट पर एक बयान में लिखा, ‘‘हम अपने समुदाय के युवा पुरूषों और महिलाओं की हत्याओं से तंग आ चुके है और थक चुके हैं। यह हमपर निर्भर है कि अब उठकर एक रूख अपनाएं और यह मांग करें कि ‘‘हमें मारना बंद करो।’’ ‘‘हमें सहानुभूति नहीं चाहिए। हम चाहते हैं कि हर कोई हमारी जिंदगियों का सम्मान करे। हम एक समुदाय के रूप में उठकर खड़े होने वाले हैं और हर उस व्यक्ति के खिलाफ लड़ने वाले हैं जो यह मानता है कि हमारी सुरक्षा की शपथ लेने वालों द्वारा की कई हत्याएं या हिंसक कृत्यों के लिए उन्हें कोई सजा नहीं मिलनी चाहिए।’’

इसे भी पढ़िए :  फिदेल कास्त्रो की मौत पर अमेरीका का ये शहर मना रहा है जश्न

बेयोंसे ने लिखा, ‘‘जिंदगियों की यह लूटमार हमें असहाय और निराश बनाती है लेकिन हमें यह विश्वास रखना होगा कि हम अगली पीढ़ी के अधिकारों के लिए लड़ रहे हैं। हम उन अगले युवा पुरूषों और महिलाओं के लिए लड़ रहे हैं, जो अच्छाई में यकीन रखते हैं।’’ बेयोंसे ने आगे कहा, ‘‘इस बात से कुछ फर्क नहीं पड़ता कि आपकी नस्ल, लिंग या लैंगिक झुकाव क्या है? यह लड़ाई हर उस व्यक्ति के लिए है जो अलग-थलग महसूस करता है और जो स्वतंत्रता एवं मानवाधिकारों के लिए संघर्ष कर रहा है। यह याचिका सभी पुलिस अधिकारियों से नहीं है, यह हर उस इंसान से है, जो जीवन का महत्व नहीं देता। अश्वेत और अल्पसंख्यक लोगों के खिलाफ छिड़ा युद्ध खत्म होना चाहिए। डर कोई बहाना नहीं है। घृणा जीत नहीं सकती।’’ उन्होंने कहा, ‘‘एल्टन स्टर्लिंग और फिलांदो कास्टाइल के परिवारों के लिए प्रार्थना करते हुए हम अपने समुदायों के साथ हो रहे अन्याय के इस प्रकोप के खत्म होने की भी प्रार्थना करेंगे। हम सभी के पास हमारे गुस्से और निराशा को एक कदम के रूप में बदलने की शक्ति है। हमें नेताओं और अपने जिलों के विधायकों से संपर्क करने के लिए अपनी आवाज का इस्तेमाल करना चाहिए और सामाजिक एवं न्यायिक बदलावों की मांग करनी चाहिए।’’

इसे भी पढ़िए :  ट्रंप लेते हैं ऐसी दवा जो लोगों को मानसिक बीमार बना देती है! वजह जानकर चौंक जाएंगे

बाते दें कि, कास्टाइल की कार को छह जुलाई को रोके जाने के बाद उसकी प्रेमिका और बच्ची के सामने तब गोली मार दी गई थी, जब वह अपना ड्राइविंग लाइसेंस निकालने लगा था। इससे एक ही दिन पहले स्टर्लिंग को पुलिस ने एक स्टोर के बाहर गोली मार दी थी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY