बुर्का पहनने पर मुस्लिम कर्मचारी को नौकरी से निकाला

0
प्रतीकात्मक तस्वीर

वॉशिंगटन : अमेरिका में कथित भेदभाव के एक मामले में एक युवा मुस्लिम महिला को डेंटल क्लिनिक से इसलिए नौकरी से निकाल दिया गया कि वह बुर्का पहनकर आती थी। उसका नियोक्ता कार्यालय में ‘तटस्थ माहौल’ बनाए रखना चाहता था।वर्जीनिया के फेयरफेक्स काउंटी में फेयर ओक्स डेंटल केयर में डेंटल सहायक के तौर पर नौकरी में रखी गई नजफ खान ने बताया कि उसे नई नौकरी से हटा दिया गया क्योंकि वह कार्यालय में मुस्लिम बुर्का पहनती थी। नजफ ने एनबीसी वॉशिंगटन को बताया, ‘मैं वाकई दुखी थी। जिस दिन यह हुआ मैं टूट गई।’

इसे भी पढ़िए :  भारत के आईटी प्रोफ़ेशनल्स अब विदेश के बदले इन जगहों पर जा रहे हैं

उसने इंटरव्यू के दिन या शुरुआती कुछ दिनों में बुर्का नहीं पहना था। तीसरे दिन उसने हिजाब पहनने की सोची क्योंकि नजफ ने महसूस किया कि उसकी नौकरी बनी रहेगी और इसे पहनना उसकी आध्यात्मिकमा से जुड़ा है। उस दिन कार्यालय में डा चक जो ने उससे बुर्का हटाने को कहा। जो ने उससे कहा कि वह कार्यालय में एक तटस्थ माहौल बनाकर रखना चाहते हैं।

इसे भी पढ़िए :  अब अमेरिका में नहीं बचेगी भारतीयों के लिए नौकरी, डोनाल्ड ट्रंप ने लिया ये बड़ा फैसला!

नियोक्ता ने उससे कहा कि वह बुर्का हटा दे क्योंकि इस्लामी सिम्बल से मरीजों को परेशानी होगी और वह अपने कार्यालय से धर्म को अलग रखना चाहते थे। खान ने बताया कि जो ने उसे अल्टिमेटम दे दिया कि यदि उसने बुर्का पहनकर काम किया तो उसकी नौकरी चली जाएगी।
खान ने बताया, ‘जब मैंने कहा कि मैं अपने धर्म से समझौता नहीं करूंगी तो उन्होंने मुझे बाहर का रास्ता दिखा गया और मैं चली आई।’ जो ने कहा कि धर्म के सार्वजनिक प्रदर्शन की उसके कारोबार में अनुमति नहीं है क्योंकि वह इसे तटस्थ रखना चाहता है। यदि उसके कर्मचारी टोपी पहनना चाहते हैं तो स्वच्छता कारणों से यह सर्जिकल टोपी होनी चाहिए।

इसे भी पढ़िए :  विदाई भाषण में मुसलमानों पर बोले ओबामा, 'वे लोग उतने ही राष्ट्रभक्त हैं जितने कि हम हैं'

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY